बड़ी ख़बरें-बड़ी बहस

सियासत  |  7-मिनट में पढ़ें
Lockdown 5.0 की शुरुआत धार्मिक स्थलों को खोलकर, ममता बनर्जी का ये कैसा संकेत?

Lockdown 5.0 की शुरुआत धार्मिक स्थलों को खोलकर, ममता बनर्जी का ये कैसा संकेत?

मुख्यमंत्रियों के साथ अमित शाह (Amit Shah) की मीटिंग के बाद ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने पश्चिम बंगाल में धार्मिक स्थलों (Religious Places) को खोलने का फैसला किया है - ये केंद्र के साथ टकराव का कोई नया तरीका है या Lockdown 5.0 को लेकर कोई इशारा?
सिनेमा  |  5-मिनट में पढ़ें
Sonu Sood के मोबाइल स्क्रीन का ये वीडियो हमारे सिस्टम को लगा तमाचा है!

Sonu Sood के मोबाइल स्क्रीन का ये वीडियो हमारे सिस्टम को लगा तमाचा है!

(Sonu Sood )सोनू सूद लगातार प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers)की मदद कर रहे हैं. ऐसे में अपने मोबाइल (Mobile ) का जो वीडियो (Video )उन्होंने ट्विटर पर डाला है उसे देखकर अंदाजा लग जाता है कि अपने स्तर पर सोनू जो कुछ भी कर रहे हैं वो कोई मामूली बात नहीं है.
समाज  |  4-मिनट में पढ़ें
मोबाइल और बच्चे एक दूसरे के दोस्त नहीं, दुश्मन हैं!

मोबाइल और बच्चे एक दूसरे के दोस्त नहीं, दुश्मन हैं!

वो मां बाप जो अपने बच्चों को संभालने के लिए मोबाइल (Mobile ) देते हैं वो जाने अनजाने उनका जीवन तबाह कर रहे हैं. साथ ही ये मां बाप अपने बच्चे को अपराधी भी खुद ही बना रहे हैं.
समाज  |  5-मिनट में पढ़ें
कोरोना के बाद टिड्डियों ने भी पीएम मोदी को आंखें दिखा ही दीं!

कोरोना के बाद टिड्डियों ने भी पीएम मोदी को आंखें दिखा ही दीं!

कोरोना वायरस (Coronavirus) और लॉक डाउन (Lockdown) से देश पहले ही नहीं उभर पाया था अब इसके बाद जिस तरह टिड्डियों ने हमला (Locusts Attack) किया है देश और अर्थव्यवस्था की कमर पूरी तरह टूट गयी है.
सोशल मीडिया  |  4-मिनट में पढ़ें
Sonu Sood और प्रवासी मजदूरों की जद्दोजहद के बीच एक आशिक का मीठा तड़का

Sonu Sood और प्रवासी मजदूरों की जद्दोजहद के बीच एक आशिक का मीठा तड़का

प्रवासी मजदूरों (Migrants Workers) को लेकर किसी सुपर हीरो की तरह सामने आए सोने सूद (Sonu Sood) ने एक यूजर को जो जवाब दिया है वो किसी को भी लोटपोट कर सकता है. अपने रिप्लाई से सोनू ने बात दिया है कि न केवल वो एक अच्छे इंसान हैं बल्कि उनका सेंस ऑफ ह्यूमर भी कमाल का है.
समाज  |  4-मिनट में पढ़ें
WHO ने बता दिया है, भविष्य में कोरोना 'दोगुना लगान' वसूलेगा!

WHO ने बता दिया है, भविष्य में कोरोना 'दोगुना लगान' वसूलेगा!

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने जल्द ही कोरोना के दूसरे चरण (Corona Second Phase) के आने की बात कही है. ये इसलिए भी डरावना है क्योंकि फ़िलहाल दुनिया के तमाम मुल्क बीमारी के पहले चरण की चुनौतियों का सामना नहीं कर पाए हैं.
सिनेमा  |  6-मिनट में पढ़ें
कोरोना का करण जौहर के दरवाजे पर दस्तक देना पूरे बॉलीवुड के लिए डरावना है!

कोरोना का करण जौहर के दरवाजे पर दस्तक देना पूरे बॉलीवुड के लिए डरावना है!

कोरोना वायरस (Coronavirus ) का बॉलीवुड (Bollywood ) पहुंचना और करण जौहर (Karan Johar) के दरवाजे पर दस्तक देना इसलिए भी खतरनाक है क्योंकि अब तक बॉलीवुड इससे बचा था और अब जबकि ये यहां भी पहुंच चुका है कई चीजें हैं जो भविष्य में प्रभावित हो सकती हैं.
समाज  |  4-मिनट में पढ़ें
गरीबों मजदूरों की मदद के नाम पर खिलवाड़ ने आम आदमी और नेता का फर्क दिखला दिया

गरीबों मजदूरों की मदद के नाम पर खिलवाड़ ने आम आदमी और नेता का फर्क दिखला दिया

कोरोना वायरस (Coronavirus ) के चलते लॉक डाउन (Lockdown) के इस दौर में तमाम तस्वीरें ऐसी हैं जिनमें हम गरीबों और मजदूरों (Migrant Workers ) को पैदल चलते हुए देख रहे हैं. सवाल ये है कि इनकी मदद करते हुए कोई नेता हमें क्यों नहीं दिखाई दिए?
सियासत  |  4-मिनट में पढ़ें
Mayawati की सियासत उत्तर प्रदेश से निकलकर ट्विटर पर पहुंच गई है!

Mayawati की सियासत उत्तर प्रदेश से निकलकर ट्विटर पर पहुंच गई है!

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजनीति (Politics) में इन दिनों योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi ) छाए हुए हैं, मुख्य विपक्षी चेहरा सपा (SP) और बसपा (BSP) सुर्खियों से गायब हैं जिसका असर चुनाव में भी देखने को ज़रूर मिलेगा.
सिनेमा  |  4-मिनट में पढ़ें
Betaal Review: शाहरुख़ ख़ान करें दर्शकों की ज़िंदगी के वो 180 मिनट्स वापिस

Betaal Review: शाहरुख़ ख़ान करें दर्शकों की ज़िंदगी के वो 180 मिनट्स वापिस

शाहरुख खान (Shahrukh Khan) की बेताल (Betaal) का शुमार उन वेब सीरीज़ में है जिसने लॉक डाउन (Lockdown) के इस दौर में एक दर्शक को इतना पकाया है कि उसके सिर में दर्द हो गया है.
ह्यूमर  |  3-मिनट में पढ़ें
Lockdown crime: आम, इंसान, इंसानियत, ईमान, और बेइमान

Lockdown crime: आम, इंसान, इंसानियत, ईमान, और बेइमान

लॉक डाउन (Lockdown) है तो सब कुछ बंद है ऐसे में सबसे ज्यादा परेशान वो आम आदमी (Common Man) है जिसे आम (Mango) का शौक था. कोरोना वायरस (Coronavirus) का डर कुछ ऐसा है कि वो आम लेने के लिए बाजार या मंडी जाने की हिम्मत ही नहीं जुटा पा रहा.
समाज  |  6-मिनट में पढ़ें
Corona vs Eid: अब तक इबादत का झगड़ा था, अब शॉपिंग पर बहस!

Corona vs Eid: अब तक इबादत का झगड़ा था, अब शॉपिंग पर बहस!

एक ऐसे वक़्त में जब सरकार कोरोना (Coronavirus ) को लेकर सख्त है और लॉकडाउन (Lockdown ) और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing ) की बात कर रही है मुसलमानों का एक वर्ग वो भी है जो नियमों को दरकिनार कर ईद (Eid ) की खरीदारी के लिए बाजार में है.