बड़ी ख़बरें-बड़ी बहस

सियासत  |  4-मिनट में पढ़ें
गालिब को लेकर पीएम मोदी ने भी वही गलती की, जो सब करते हैं !

गालिब को लेकर पीएम मोदी ने भी वही गलती की, जो सब करते हैं !

उर्दू के शेर और शायरी में सबसे अधिक ग़ालिब का ही जिक्र होता है. बल्कि वो तो इतने अधिक मशहूर हैं कि लोग उनका नाम ऐसी भी उर्दू शेर और शायरी से जोड़ देते हैं, जो उन्होंने कभी लिखी ही नहीं.
समाज  |   बड़ा आर्टिकल
सिंदूर लगाए वंदे मातरम कहने वाली नुसरत जहां को देख ट्रोल के सिर घूम गए

सिंदूर लगाए वंदे मातरम कहने वाली नुसरत जहां को देख ट्रोल के सिर घूम गए

शादी के बाद पहली बार अपने शपथ ग्रहण के लिए सिंदूर लगाकर संसद आई नुसरत जहां के साथ जो हरकत ट्रोल्स ने की है वो साफ बताती है कि कुछ लोगों को धर्म के चश्‍मे से ही सबकुछ दिखता है.
समाज  |  4-मिनट में पढ़ें
मुजफ्फरपुर में हुई मौतों का असली गुनहगार मिल गया है!

मुजफ्फरपुर में हुई मौतों का असली गुनहगार मिल गया है!

सैकड़ों बच्चों की मौत के मातम में डूबा मुजफ्फरपुर इन मौतों के असली गुनहगार को जानकर सिर धुन लेगा, लेकिन सबसे बड़ी विडंबना यही है कि शायद ही वो उसे ज्यादा दिनों तक याद रख पाए.
सियासत  |  3-मिनट में पढ़ें
अब यूपी में 'ध्रुवीकरण' होगा मायावती का नया पैंतरा!

अब यूपी में 'ध्रुवीकरण' होगा मायावती का नया पैंतरा!

लोकसभा चुनावों में करारी शिकस्त के बाद मायावती और अखिलेश यादव ने अपनी राहें अलग कर ली हैं. गठबंधन तोड़ते हुए मायावती ने कहा है कि अब वो अकेले ही चुनाव लड़ेंगी. ऐसे में माना यही जा रहा है कि यूपी में अगर वो दलितों के अलावा मुसलमानों को साध लेटी हैं तो इससे आने वाले वक़्त में उन्हें बड़ा फायदा मिल सकता है.
स्पोर्ट्स  |  5-मिनट में पढ़ें
टीम इंडिया के लिए दुआ कर पाकिस्तानी बॉलर हसन अली ने पश्चाताप कर लिया है!

टीम इंडिया के लिए दुआ कर पाकिस्तानी बॉलर हसन अली ने पश्चाताप कर लिया है!

पिछले साल वाघा बॉर्डर पर इंडिया को मुंह चिढ़ाने वाले पाकिस्तानी गेंदबाज हसन अली का इस साल, इंडिया वर्ल्ड कप लाए इसकी बधाई एक भारतीय को देना और दुआ करना ही तो सही मायने में अच्छे दिन है.
समाज  |  6-मिनट में पढ़ें
मुजफ्फरपुर के चंद्रहट्टी से सबक लेते तो 'चमकी' से 150 बच्‍चे बचा सकते थे

मुजफ्फरपुर के चंद्रहट्टी से सबक लेते तो 'चमकी' से 150 बच्‍चे बचा सकते थे

मुजफ्फरपुर के पास एक गांव चंद्रहट्टी में जिस तरह से चमकी बुखार से लड़ाई लड़ी गई है वो तारीफ के काबिल है. गांव वालों से सरकार का इंतजार नहीं किया और अपनी मेहनत से ही Acute Encephalitis Syndrome (AES) को हरा दिया.
स्पोर्ट्स  |  6-मिनट में पढ़ें
Sarfaraz Ahmed की fat shaming में दो बातें सही, दो गलत

Sarfaraz Ahmed की fat shaming में दो बातें सही, दो गलत

सरफराज अहमद के साथ जिस तरह एक पाकिस्तानी क्रिकेट फैन ने हरकत की है वो साबित करता है कि कुछ लोग बिना शर्म के कुछ भी कर सकते हैं.
सियासत  |  7-मिनट में पढ़ें
यूपी को अब 'सपा-बसपा मुक्त' बनाने की तैयारी में भाजपा

यूपी को अब 'सपा-बसपा मुक्त' बनाने की तैयारी में भाजपा

23 को आम चुनाव के नतीजे आये थे और ठीक एक महीने बाद लखनऊ में बीजेपी और बीएसपी की चुनावी बैठकें होने जा रही हैं - यूपी उपचुनावों को लेकर. तैयारियों में भी बीजेपी आगे हैं और बाकी सभी हार की समीक्षा से थोड़ा आगे.
सियासत  |  4-मिनट में पढ़ें
बंगाल का बवाल क्या 2021 चुनाव के बाद ही थमेगा?

बंगाल का बवाल क्या 2021 चुनाव के बाद ही थमेगा?

पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के पहले से चली आ रही हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही हैं. और चुनाव परिणाम के बाद भी ये सिलसिला जारी है. चुनाव परिणाम के बाद से अब तक करीब 20 लोग इसका शिकार हो चुके हैं जिसमें दोनों दलों- टीएमसी और बीजेपी के कार्यकर्ता शामिल हैं.
सियासत  |  7-मिनट में पढ़ें
नीतीश की खामोशी बिहार की मौजूदा राजनीति पर आधिकारिक बयान है

नीतीश की खामोशी बिहार की मौजूदा राजनीति पर आधिकारिक बयान है

मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से बच्चों की मौत पर नीतीश कुमार खामोश हैं, लेकिन उनकी चुप्पी में काफी गुस्सा भरा हुआ है. नीतीश की चुप्पी और बच्चों की मौत के सवाल पर उनके रिएक्शन में बिहार की राजनीतिक हालात के संकेत मिल रहे हैं.
सियासत  |  4-मिनट में पढ़ें
गुस्सा नहीं सहानुभूति दिखाइए, चमकी बुखार से बच्चे नहीं सरकार पीड़ित है !

गुस्सा नहीं सहानुभूति दिखाइए, चमकी बुखार से बच्चे नहीं सरकार पीड़ित है !

करीब एक दशक से चमकी बुखार से मौत का तांडव जारी है. लेकिन सरकार इसकी वजह जानने में विफल रही है. सरकार यह भी बता पाने में विफल है कि यह रोग क्या है. इसका इलाज क्या हो सकता है. इसकी दवा क्या है.
सियासत  |  4-मिनट में पढ़ें
अमेरिका और ईरान के रिश्ते में बढ़ती खटाई: भारत की स्थिति आगे कुआं पीछे खाई

अमेरिका और ईरान के रिश्ते में बढ़ती खटाई: भारत की स्थिति आगे कुआं पीछे खाई

अमेरिका और ईरान के रिश्तों की खटास अगर आगे बढ़ती है और बात युद्ध तक पहुंचती है तो भारत के सामने बहुत गहरा संकट खड़ा हो जाएगा!