बड़ी ख़बरें-बड़ी बहस

सिनेमा  |   बड़ा आर्टिकल
Amjad Khan: शोले के 'गब्बर सिंह' के 5 कमसुने किस्से

Amjad Khan: शोले के 'गब्बर सिंह' के 5 कमसुने किस्से

'कितने आदमी थे...' यह डायलॉग सुनते ही जेहन में 'शोले' के गब्बर सिंह की यादें ताजा हो जाती हैं, जिसे अमजद खान ने निभाया था. इसी एक लाइन की वजह से अमजद खान रातोंरात सुपरस्टार बन गए थे. 'शोले' से पहले अमजद खान को बहुत कम ही लोग जानते थे, लेकिन इस फिल्म ने उनको दुनियाभर में मशहूर कर दिया.
स्पोर्ट्स  |  6-मिनट में पढ़ें
Palestine के समर्थन में Algeria के खिलाड़ी ने Tokyo Olympic में जो किया वो शर्मनाक है!

Palestine के समर्थन में Algeria के खिलाड़ी ने Tokyo Olympic में जो किया वो शर्मनाक है!

उम्मीद थी कि इजराइल फिलिस्तीन विवाद सरहदों से निकलकर खेल के मैदान में आएगा मगर इसकी शुरुआत टोक्यो ओलंपिक से होगी और ये अल्जीरिया द्वारा होगी ये उम्मीद नहीं थी. मुल्कों को याद रखना चाहिए विवाद अपनी जगह हैं, खेल अपनी जगह.
सियासत  |  5-मिनट में पढ़ें
मुकेश सहनी बिहार में सरकार गिराए बिना यूपी में VIP नही बन पाएंगे!

मुकेश सहनी बिहार में सरकार गिराए बिना यूपी में VIP नही बन पाएंगे!

बिहार में एनडीए (NDA) के सहयोगी और नीतीश कुमार सरकार में मंत्री मुकेश सहनी वाराणसी से बेरंग वापसी पर भाजपा (BJP) से इस कदर नाराज हुए कि बिहार विधानसभा में हुई एनडीए की बैठक का भी बहिष्कार कर दिया. वहीं, मुकेश सहनी की योगी आदित्यनाथ से नाराजगी का आलम ये है कि उन्होंने यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में 165 सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है.
सिनेमा  |  3-मिनट में पढ़ें
Shershah movie: दुनिया देखेगी कारगिल के हीरो विक्रम बत्रा की कहानी

Shershah movie: दुनिया देखेगी कारगिल के हीरो विक्रम बत्रा की कहानी

विक्रम बत्रा के नेतृत्व में सेना ने कारगिल के पांच सबसे अहम पॉइंट फतह किए थे. इनमें कई पॉइंट तो 70 से 80 डिग्री की खड़ी चढ़ाई पर थे और ऊपर बैठे पाकिस्तानी हमारे जवानों की हर मूवमेंट देख रहे थे.
समाज  |  एक अलग नज़रिया  |   बड़ा आर्टिकल
एक खत उन लड़कियों के नाम जो प्यार में 'उनके' सामने खुद को भूला बैठी हैं…

एक खत उन लड़कियों के नाम जो प्यार में 'उनके' सामने खुद को भूला बैठी हैं…

तुम तो प्यार में हो फिर इतनी उदासीन कैसे...अच्छा तो सारा ध्यान पार्टनर पर है. वह तो तुम्हें बहुत चाहता है. क्या वो चाहत एहसास से जाकर शब्दों तक सीमित हो गई है. क्या वह व्यस्त रहता है या तुम उसके सभी महत्वपूर्ण कामों के बाद आती हो. अच्छा तो वह अपनी जिंदगी जी रहा है फिर तुम इतनी फ्री कैसे रहती हो...
इकोनॉमी  |   बड़ा आर्टिकल
1991 आर्थिक नीति के 30 साल: हमारे पास मां है, बंगला है, गाड़ी है, बैंक बैलेंस है!

1991 आर्थिक नीति के 30 साल: हमारे पास मां है, बंगला है, गाड़ी है, बैंक बैलेंस है!

आज देश इकनॉमिक रिफॉर्म जिसे नई आर्थिक नीति भी कहा जाता है उसके तीसरी वर्षगांठ पर खड़ा है.1991 की नई आर्थिक नीति के बाद देश ने क्या खोया क्या पाया इसे लेकर लंबी बहस चल रही है. भारत ने कितनी आर्थिक तरक़्क़ी की और कितनी होनी चाहिए थी इसे नापने का पैमाना भारत के आर्थशास्त्रियों और राजनीतिशास्त्रियों का अलग अलग है.
सिनेमा  |  5-मिनट में पढ़ें
Shershaah movie: रोमांच और रोमांस के बीच कैप्टन बत्रा की देशभक्त की कहानी!

Shershaah movie: रोमांच और रोमांस के बीच कैप्टन बत्रा की देशभक्त की कहानी!

फिल्म 'शेरशाह' (Shershaah) का ट्रेलर (Shershaah Trailer) कारगिल विजय दिवस (Kargil Vijay Diwas) के मौके पर लॉन्च कर दिया गया. सिद्धार्थ मल्होत्रा (Sidharth Malhotra) और कियारा आडवाणी की यह फिल्म कारगिल वॉर में शहीद हुए कैप्टन विक्रम बत्रा (Captain Vikram Batra) के जीवन पर आधारित है.
सिनेमा  |  3-मिनट में पढ़ें
Dial 100 movie: थ्रिलर मूवी और मनोज बाजपेयी का सुपरकॉप अंदाज, स्ट्रीमिंग से पहले जरूरी बातें

Dial 100 movie: थ्रिलर मूवी और मनोज बाजपेयी का सुपरकॉप अंदाज, स्ट्रीमिंग से पहले जरूरी बातें

19 साल बाद एक बार फिर रेंसिल की कहानी और निर्देशन में मनोज बाजपेयी आ रहे हैं. डायल 100 का प्लाट फिलहाल तो थ्रिलर के हिसाब से बढ़िया दिख रहा है. मुंबई का बैकड्रॉप है और मंझे कलाकारों के अभिनय से फिल्म सजी है.
सियासत  |   बड़ा आर्टिकल
राम मंदिर निर्माण के दौरान योगी आदित्यनाथ को अयोध्या से चुनाव क्यों लड़ना चाहिये?

राम मंदिर निर्माण के दौरान योगी आदित्यनाथ को अयोध्या से चुनाव क्यों लड़ना चाहिये?

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) को ऐसे दौर में अयोध्या (Ayodhya Assembly Seat) से चुनाव लड़ने की जरूरत क्यों है- जब पहले से ही राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir Construction) का काम प्रगति पर है - क्या मोदी के क्लीन चिट के बाद भी बीजेपी किसी बात का डर है?
समाज  |  एक अलग नज़रिया  |  2-मिनट में पढ़ें
प्यार की ये कौन सी दुनिया है, जहां लड़की के घर के सामने प्रेमी की चिता जले!

प्यार की ये कौन सी दुनिया है, जहां लड़की के घर के सामने प्रेमी की चिता जले!

ये इश्क नहीं आसां इतना समझ लीजे, इक आग का दरिया है और डूब के जाना है…आग का दरिया तो फिर भी प्रेमी पार कर सकते हैं लेकिन तब क्या जब किसी प्रेमी को पहले जान से मार दिया जाए और फिर प्रेमिका के घर के सामने उसकी चिता को जलाकर अंतिम संस्कार कर दिया जाए.
सिनेमा  |  4-मिनट में पढ़ें
क्या Bigg Boss 15 होस्ट करके आफत मोल ले रहे हैं करण जौहर?

क्या Bigg Boss 15 होस्ट करके आफत मोल ले रहे हैं करण जौहर?

करण जौहर ट्विटर ट्रोल्स के फेवरेट हैं. वे जौहर को लानत-मलानत भेजने का बस बहाना ही खोजते फिरते हैं. Bigg Boss 15 तो करण जौहर के लिए ऐसे बहानों की खदान बन जाएगा. बवाल किस कदर होंगे सोशल मीडिया पर शो से जुड़ी चर्चाओं में अभी से नजर आने लगा है.
स्पोर्ट्स  |  4-मिनट में पढ़ें
Mirabai Chanu की उपलब्धियों पर जश्न से पहले उन जैसों के लिए क्यों न ज़मीन तैयार की जाए!

Mirabai Chanu की उपलब्धियों पर जश्न से पहले उन जैसों के लिए क्यों न ज़मीन तैयार की जाए!

आखिरकार मीराबाई चानू की बदौलत भारत को वेटलिफ्टिंग में अपना पहला पदक मिल ही गया. सवाल ये है कि हममें से आखिर कितने भारतीय पहले मीराबाई चानू को जानते थे ? क्या हमें उनकी शख़्सियत, क्षमता और संघर्ष का अंदाज़ा था ?