बड़ी ख़बरें-बड़ी बहस

समाज  |  5-मिनट में पढ़ें
गोवा की 'मांसाहारी' गायों को देखकर हमें दुख होगा लेकिन ट्रंप को खुशी होगी!

गोवा की 'मांसाहारी' गायों को देखकर हमें दुख होगा लेकिन ट्रंप को खुशी होगी!

गोवा के मंत्री माइकल लोबो ने कहा है कि इन गायों को रेस्टोरेंट आदि के आस-पास चिकन, मछली और अन्य तरह का बचा हुआ मीट फेंका पड़ा मिल जाता है और आसानी से भोजन मिलने के चलते इन गायों ने अपने खाने की आदतों को बदल दिया.
सियासत  |  4-मिनट में पढ़ें
महाराष्‍ट्र-हरियाणा चुनाव मतदान में रिकॉर्ड मंदी की 5 वजहें !

महाराष्‍ट्र-हरियाणा चुनाव मतदान में रिकॉर्ड मंदी की 5 वजहें !

हरियाणा में पिछले 19 सालों में सबसे कम वोटिंग हुई है. वहीं दूसरी ओर महाराष्ट्र में भी करीब 10 सालों में सबसे कम मतदान हुआ है. अब सवाल ये उठता है कि आखिर लोग अपने घरों से बाहर क्यों नहीं निकले? ये 5 वजहें हो सकती हैं जिम्मेदार.
इकोनॉमी  |  7-मिनट में पढ़ें
जान लीजिए, कौन से बैंक सबसे ज्यादा रिस्की हैं

जान लीजिए, कौन से बैंक सबसे ज्यादा रिस्की हैं

PMC Bank घोटाले और HDFC Bank की पासबुक पर लगी मुहर से कई सवाल उठते हैं, जैसे- रिजर्व बैंक और सरकार ही जब सभी बैंकों की स्थिति पर नियंत्रण करते हैं तो ये बैंक फेल क्यों होते हैं? आखिर बैंकों में अचानक इतनी समस्याएं क्यों नजर आ रही हैं?
सियासत  |  4-मिनट में पढ़ें
काबे का इतिहास भी राम मंदिर के अस्तित्व की दलील है!

काबे का इतिहास भी राम मंदिर के अस्तित्व की दलील है!

बाबरी मस्जिद- राममंदिर विवाद को एक लंबा वक़्त हो गया है. मामला कोर्ट में है और जल्द ही फैसला आ सकता है. मामले को लेकर क्या आम क्या खास मुसलमान दोनों ही वर्ग सौहार्द के नाम पर अयोध्या मसले पर नर्म पड़ने लगा है.
सियासत  |  5-मिनट में पढ़ें
नीतीश कुमार को अमित शाह का अभयदान उनकी ताकत पर मुहर है

नीतीश कुमार को अमित शाह का अभयदान उनकी ताकत पर मुहर है

2020 के विधानसभा चुनाव के वक्त अमित शाह ने जो भी रणनीति सोच रखी हो, लेकिन नीतीश कुमार को लेकर उनका बयान तात्कालिक तौर पर काफी महत्वपूर्ण है - साथ ही, जेडीयू की महात्वाकांक्षाओं पर भी ब्रेक लगाने जैसा है.
समाज  |  6-मिनट में पढ़ें
एक महिला के खूबसूरत लगने का वैज्ञानिक कारण भी जान लीजिए

एक महिला के खूबसूरत लगने का वैज्ञानिक कारण भी जान लीजिए

सुपर मॉडल Bella Hadid की जिन्हें साइंस के मुताबिक दुनिया की सबसे खूबसूरत महिला घोषित किया गया है. तो पहले इस पैमाने को जान लेते हैं जो खूबसूरती की परिभाषा तय करता है.
सियासत  |  6-मिनट में पढ़ें
बाबरी मस्जिद पर 3 मुस्लिम विचारों का बंटवारा!

बाबरी मस्जिद पर 3 मुस्लिम विचारों का बंटवारा!

अयोध्या मामले में सुनवाई पूरी हो गई और जल्द ही फैसला आने वाला है. ऐसे में अगर मुस्लिम बिरादरी के रुख का अव्लोअकं किया जाए तो साफ़ तौर पर पता चल रहा है कि इस मसले के मद्देनजर मुस्लिम समुदाय के विचारों में बंटवारा हो गया है.
समाज  |  4-मिनट में पढ़ें
ज़रूरी तो नहीं कि लड़की है इसलिए सही है, लड़का है तो गलत ही होगा

ज़रूरी तो नहीं कि लड़की है इसलिए सही है, लड़का है तो गलत ही होगा

किसी भी relationship में आज बड़ी ही आसानी के साथ लड़की पक्ष द्वारा लड़के को बदनाम कर उसकी जिंदगी बर्बाद कर दी जाती है. हमें ठहर कर सोचना चाहिए कि लड़के सिर्फ़ लड़के हैं इसलिए ग़लत हैं तो ऐसा बिलकुल भी नहीं है.
समाज  |  5-मिनट में पढ़ें
Instant noodles आपके बच्चों को बीमार नहीं, बहुत बीमार कर रहे हैं

Instant noodles आपके बच्चों को बीमार नहीं, बहुत बीमार कर रहे हैं

बच्चों को instant noodles खिलाने वाले माता-पिता ये समझते हैं कि बच्चों का पेट भरना ही सबसे जरूरी चीज है. वो प्रोटीन, कैल्शियम और फाइबर जैसे जरूरी तत्वों के बारे में सोचते भी नहीं. जिसका सीधा असर बच्चों की सेहत पर पड़ता है.
समाज  |  5-मिनट में पढ़ें
तीन तलाक के दो मामले जिसमें पतियों ने हराम और हलाल की नई परिभाषा लिख दी

तीन तलाक के दो मामले जिसमें पतियों ने हराम और हलाल की नई परिभाषा लिख दी

तीन तलाक के दो मामले बताते हैं कि मुस्लिम समाज में महिलाओं को अगर खुश रहना है तो अपने पति के मुताबिक ही चलना होगा. यहां शराब पीना और बुर्का पहनना किसी के लिए हराम है तो किसी के लिए हलाल.
समाज  |  5-मिनट में पढ़ें
नया Motor Vehicle Act नतमस्‍तक है बनारसी बुलेट और गुजराती सिर के आगे!

नया Motor Vehicle Act नतमस्‍तक है बनारसी बुलेट और गुजराती सिर के आगे!

नया Motor Vehicle Act आने के बाद जो वाराणसी में हुआ उसने ये बताया कि अब दोषियों की खैर नहीं. वहीं जो गुजरात में हुआ उसने कहा कि यदि नियम नहीं मान रहे तो इसके पीछे एक खास तरह की मजबूरी है.
सियासत  |  4-मिनट में पढ़ें
अभिजीत बनर्जी और JNU: बीजेपी से पहले कांग्रेस-लेफ्ट थी 'दुश्मन'!

अभिजीत बनर्जी और JNU: बीजेपी से पहले कांग्रेस-लेफ्ट थी 'दुश्मन'!

अभिजीत बनर्जी समेत करीब 700 छात्रों को पुलिस उठा ले गई थी. छात्रों पर बाकी आरोपों के साथ-साथ वीसी की हत्या की कोशिश के आरोप भी लगाए गए थे. इसके लिए छात्रों को 10 दिनों तक तिहाड़ जेल में भी रहना पड़ा था. जहां उनकी पिटाई भी खूब हुई थी.