charcha me| 

होम -> स्पोर्ट्स

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 23 जून, 2022 09:25 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

साल 2022 का FIFA World Cup खास है. वजह है इसका क़तर के रूप में एक ऐसे देश में होना जो अपने कठोर नियमों के लिए अक्सर ही आलोचकों के निशाने पर रहा है. मामला क्योंकि फुटबॉल है और उसमें भी वर्ल्ड कप. इसलिए चाहे वो मौजमस्ती से लेकर धमाल हो या फिर सेक्स। इन सबका फुटबॉल वर्ल्ड कप से चोली दामन का साथ है. टूर्नामेंट शुरू ही होने वाले हैं, मगर फैंस उदास हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि फुटबॉल लवर्स को उदासी की वजह क़तर की सरकार ने अपने एक फैसले के जरिये दी है. सरकार ने जो फरमान जारी किया है उसके मुताबिक वर्ल्ड कप के दौरान यदि सिंगल्स ने मिंगल होने की कोशिश की और यदि वो पकडे गए तो उन्हें अगले 7 सालों तक जेल की सलाखों के पीछे रहना पड़ेगा. ऐन वक़्त पर क़तर की हुकूमत को ये फैसला क्यों लेना पड़ा? इसपर बात होगी, लेकिन उससे पहले हमारे लिए ये जान लेना बहुत जरूरी है कि सेक्स आज भी क़तर में किसी हव्वे की तरह है. जिसे लेकर कठोर नियम हैं. क़तर में पति पत्नी तो सेक्स कर सकते हैं लेकिन मुश्किल उनके लिए है, जो सहमति से सेक्स करते हैं. ये यहां गैर कानूनी है और इसके लिए सख्त सजा का प्रावधान है.

Qatar, FIFA, World Cup, Football, Sex, Prostitute, Prostitution, Lesbian, Talibanवर्ल्ड कप के दौरान सेक्स को लेकर जो फैसला क़तर ने किया है उसने फुटबॉल फैंस के सामने संकट के बादल खड़े कर दिए हैं

अब चूंकि फुटबॉल लवर्स की एक बड़ी आबादी ऐसी है जो युवा है और इनमें भी सिंगल्स की बहुतायत है. तो यदि कतर आने वाले सिंगल्स अगर किसी के साथ सेक्स करते हुए पकड़े जाते हैं तो उन्हें पुलिस द्वारा शर्तिया गिरफ्तार किया जाएगा. वहीं वो लोग जो होमोसेक्शुअल रिलेशनशिप में हैं. उनकी भी खैर नहीं है. सरकार के नियम उनके लिए भी समान हैं. उनपर भी सख्त एक्शन लिया जाएगा. 

ज्ञात हो कई फुटबॉल लवर्स वर्ल्ड कप देखने के लिए कतर आ रहे हैं. ऐसे में पहले ही ये चेतावनी दी जा चुकी है कि इस साल के फुटबाल वर्ल्ड कप में वन-नाइट स्टैंड पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा. यदि कोई सरकार द्वारा बनाने गए नियमों के विपरीत जाता है तो उसे 7 साल की सजा हो सकती है. 

खबर की पुष्टि अंग्रेजी वेबसाइट डेली स्टार ने की है. क़तर पुलिस के हवाले से डेली स्टार ने बताया है कि अगर आप (फुटबॉल फैंस) पति-पत्नी के रूप में आ रहे हैं, तब तो ठीक है. लेकिन यदि आप सिंगल हैं और गलती से भी किसी से मिंगल हुए तो आपकी खैर नहीं है. बताते चलें कि इतिहास में ये पहली बार हुआ है कि फुटबॉल वर्ल्ड कप में सेक्स के साथ-साथ शोर शराबे की पार्टीज को पूर्णतः प्रतिबंधित किया गया है.

क्योंकि एक मुस्लिम देश होने के कारण क़तर ने गैर शादीशुदाओं के बीच सेक्स पर नकेल कस दी है. इसलिए सरकार ने होटल्स को भी ये चेतावनी दी है कि यदि अलग अलग सरनेम के स्त्री या पुरुष या फिर दो पुरुष कमरा मांग रहे हैं तो उन्हें किसी भी हाल में कमरा न दिया जाए.

क्या वेस्ट का मेन स्ट्रीम मीडिया और क्या सोशल मीडिया क्योंकि इस फ़रमान के मद्देनजर हर जगह क़तर की आलोचना हो रही है. इसपर फीफा 2022 वर्ल्ड कप के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने अपना पक्ष रखा है और कहा है कि हमारे लिए हर फैंस की सुरक्षा सबसे अहम है. खुले में रोमांस हमारी संस्कृति का हिस्सा नहीं है. अगर कोई यहां आ रहा है तो देश के नियमों का पालन करना ही होगा.

फुटबॉल वर्ल्ड कप का होस्ट होने बावजूद क़तर किस तरह तानाशाही पर उतरा है इसका अंदाजा उसके उस रवैये से भी लगाया जा सकता है जो उसने LGBTQ कम्युनिटी के लिए अपनाया है. क़तर की हुकूमत खेलों में इंद्रधनुष रंग वाले झंडे पर प्रतिबंध लगाने पर भी विचार कर रहे हैं. LGBTQ कम्युनिटी के प्रति अपने इस स्टैंड पर बहुत ही खुले शब्दों में क़तर ने कहा है कि अगर आप LGBTQ के बारे में अपना विचार प्रदर्शित करना चाहते हैं तो फिर इसे ऐसे समाज में प्रदर्शित करें जहां इसे स्वीकार किया जाए. 

बहरहाल अब जबकि एक मुस्लिम राष्ट्र के रूप में क़तर ने ये फैसला ले लिया तो देखा जाए तो ये ठीक भी है. कतर में महिला-पुरुष का अनुपात दुनिया में सबसे विषम है. 1000 महिलाओं के मुकाबले 3150 पुरुष रहते हैं वहां. ये अनुपात इसलिए इतना बिगड़ा हुआ है की कई देशों से अपना परिवार पीछे छोड़कर पुरुष नौकरी करने के लिए कतर आते हैं. ऐसे में कतर में अकेले रह रहे किसी शख्स का सेक्स की तलाश में भटकना स्वाभाविक है, जो वहां की सरकार को खटकने लगा है.

इन तमाम बातों के अलावा अभी भी कतर का ये फैसला तमाम लोगों को तालिबानी लगेगा. आलोचना होगी क़तर को कट्टरपंथ का पोषक कहा जाएगा इसलिए वो तमाम लोग जो क़तर के इस फैसले के विरोध में हैं और चाहते हैं कि क़तर अपने नियमों को बदले उन्हें ज्यादा चिंता इसलिए भी नहीं करनी चाहिए क्योंकि अगर व्यक्ति को सेक्स की करना है तो फिर वो फुटबॉल की आड़ लेकर क़तर क्यों जाए? बेहतर तो यही रहेगा कि सीधे वो बैंकॉक निकल ले.   

ये भी पढ़ें -

T20 World Cup 2022 से पहले क्या ऋषभ पंत के लिए बड़ा खतरा बन सकते हैं दिनेश कार्तिक?

Mithali Raj ने क्रिकेट से संन्यास ले लिया, लेकिन पुरुष कप्तान जैसा ट्रीटमेंट कभी नहीं मिला!

सचिन तेंदुलकर की IPL प्लेयिंग 11 ने विराट कोहली-रोहित शर्मा जैसों को आईना दिखा दिया!   

#कतर, #फीफा, #वर्ल्ड कप, Qatar, FIFA World Cup, Football

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय