होम -> समाज

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 17 जुलाई, 2020 09:51 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

बात बहुत पुरानी है एकदम दादा परदादा या फिर उनके भी सीनियर्स के पहले की कहा गया व्यक्ति को इल्म (शिक्षा) हासिल करनी चाहिए और हो सके तो इसके लिए चीन तक का सफर तय करना चाहिए. अब के दौर में मामला अलग है. लोगों की प्राथमिकताएं बदल चुकी हैं अब इल्म नहीं सारी जद्दो जहद इश्क़ के लिए हैं. अब आदमी मां बाप या इल्म के लिए नहीं बल्कि इश्क़ (Love) के लिए ट्रेवल करता है और चीन (China) के पक्के दोस्त पाकिस्तान (Pakistan) की तरफ निकल सकता है लेकिन पुलिस / सीमा सुरक्षा बल वाले इस घुसपैठ को लेकर थोड़े संगदिल होते हैं पकड़ लेते हैं और तब इंसान की हालत जीशान सिद्दीकीी जैसी हो जाती है. सवाल होगा कि कौन ज़ीशान? तो बता दें कि सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने गुजरात (Gujarat) के कच्छ (Rann of Kutch) में इंडो-पाक इंटरनेशनल बॉर्डर (Indo-Pak International Border) से महाराष्ट्र के एक आशिक़ को पकड़ा है. युवक कथित तौर पर पाकिस्तान जाने की कोशिश कर रहा था. युवक का नाम मोहम्मद जीशान सिद्दीकी है. लड़का सिर्फ इसलिए पाकिस्तान जा रहा था ताकि वो अपनी पाकिस्तानी महबूबा (Girlfriend) से मुलाकात कर सके. दिलचस्प बात ये है कि बीएसएफ के हत्थे चढ़े इस लड़के ने अपनी मंजिल तक पहुंचने के लिए गूगल मैप्स (Google Maps) का सहारा लिया.

Zishan  Siddiqui, BSF, Gujarat, Pakistan, Girlfriend, Hamid Ansariमहाराष्ट्र का ज़ीशान जो अपनी प्रेमिका से मिलने पाकिस्तान जाना चाहता था और इसके गूगल मैप की मदद ली थी

मामले में जो जानकारी बीएसएफ को हाथ लगी है यदि उसपर यक़ीन करें तो लड़के की मुलाकात सोशल मीडिया पर पाकिस्तान स्थित शाह फैसल की एक लड़की से हुई जिसका नाम सामरा बताया जा रहा है. सोशल मीडिया पर हुई ये जान पहचान पहले दोस्ती और फिर प्यार में तब्दील हुई और नतीजा हमारे सामने हैं. आज नौबत मुलाकात के लिए पाकिस्तान जाने और पुलिस थाने, सवाल जवाब तक आ गयी है.

बताया जा रहा है कि लड़का और लड़की दोनों ही एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं और इनकी फेसबुक मैसेंजर और व्हाट्सएप पर कई-कई घंटों बातें होती थीं. बीएसएफ जवानों को जो जानकारी जीशान से मिली है उसके अनुसार वो किसी भी सूरत में सामरा से मिलना चाहता था और इसी लिए उसने गूगल मैप का इस्तेमाल किया और गुजरात स्थित कच्छ के रण पहुंचा जहां उसे सुरक्षा बलों द्वारा दबोच लिया गया.

इस पूरे मामले में जिस तरह जीशान को पकड़ा गया वो भी अपने आप में खासा दिलचस्प है. जीशान को बॉर्डर पार करने से तब रोका गया जब मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच ने जीशान की डिटेल्स गुजरात पुलिस से साझा की. लड़के के मां बाप को डर था कि वो इस तरह का कोई कदम उठा सकता और लड़के की गुमशुदगी के बाद ये सभी डिटेल्स उन्होंने खुद मुंबई पुलिस को डिये थीं.

जिस वक्त सुरक्षा बलों ने जीशान को पकड़ा उसके पास से पैन कार्ड, आधार कार्ड, एटीएम और मोबाइल बरामद किया. कहा ये भी जा रहा है कि इस पूरी प्रक्रिया में मोबाइल ने एक बड़ी भूमिका निभाई और लोकेशन के अनुसार ही जीशान को ट्रैक किया गया.

काश जीशान ने हामिद अंसारी से सबक लिया होता

बात 2018 की है. एक नाम हामिद अंसारी मीडिया की सुर्खियों में था. पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर मुंबई निवासी हामिद पाकिस्तान की जेल में 6 साल बिताकर हिंदुस्तान लौटे थे. हामिद को जासूसी के शक़ में गिरफ्तार किया था. सवाल होगा कि क्या सच में भारतीय सॉफ्टवेयर इंजीनियर हामिद जासूस था? तो जवाब है नहीं. उसका कसूर बस इतना था कि उसने पाकिस्तान की एक लड़की से दिलो जान से मुहब्बत की थी और अफगानिस्तान के रास्ते उससे मिलने पाकिस्तान गया था और दबोच लिया गया.

हामिद को भी मुहब्बत जीशान की तरह फेसबुक पर हुई थी और अपनी प्रेमिका से मिलने के लिए उसने अपने मां बाप से झूठ बोला और बाद में इसकी बड़ी कीमत चुकाई. एक इंटरव्यू में हामिद ने इस बात का जिक्र किया था कि करीब 6 साल का उसका पाकिस्तान प्रवास किसी जहन्नुम से कम नहीं था. उस दौरान उसे तमाम तरह की यातनाओं से गुजरना पड़ा और कई दिन ऐसे भी आए जब हफ्तों तक उसे दाना पानी तक नहीं दिया गया.

ये मामला खूब चर्चा में था साथ ही इसे सोशल मीडिया पर भी खूब ट्रेंड कराया गया था. सवाल ये है कि मुहब्बत में बावले हुए जीशान ने आखिर क्यों नहीं हामिद अंसारी से प्रेरणा ली? अगर जीशान ने हामिद का हाल जाना होता तो शायद ही कभी वो मुहब्बत के नाम पर इस तरह की गुस्ताखी करने की हिम्मत करता.

खैर इस मामले में अच्छी बात ये रही कि जीशान अपने मंसूबो में कामयाब नहीं हो पाया और यहीं का यहीं गिरफ्तार कर लिया गया. कहीं जीशान पाकिस्तान में गिरफ्तार हुआ होता तो उसकी हालत धोबी के उस कुत्ते सरीखे रहती जो न घर का होता और न घाट का रहता.

ये भी पढ़ें -

Earthquake alert - दिल्ली एनसीआर कितना है तैयार?

Congress earthquake: राजस्थान में कांग्रेस का भूकंप औेर अब झटके महाराष्ट्र और झारखंड में भी

दिल्ली में तीन बच्चों ने अपने ईगो के एक जान को मामूली बना दिया!

Pakistan, Love, Facebook

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय