होम -> समाज

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 25 सितम्बर, 2018 04:18 PM
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujkumarmaurya87
  • Total Shares

जब बारिश की नन्ही-नन्ही बूदें चेहरे पर गिरती हैं तो बेशक अच्छा लगता है. लेकिन कब तक? बारिश में अक्सर एक वक्त ऐसा आ जाता है जब ये नन्ही बूदें मिलकर एक भयावह बाढ़ का रूप ले लेती हैं. ये वही पानी की बूंदें हैं, जो टिप-टिप कर के आपको सुकून देती हैं, लेकिन जब ये विकराल रूप लेती हैं तो कई जिंदगियां लील जाती हैं. मानसून ने जाते-जाते उत्तर भारत के कई हिस्सों में ऐसी ही तबाही मचाई है, जिसमें अब तक करीब 25 लोगों की मौत हो चुकी है और बहुत से लोग लापता हो गए हैं. सोशल मीडिया के इस दौर में बारिश से मची तबाही के कई ऐसे वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं, जिन्हें देखने के बाद आपकी रूह कांप जाएगी.

बारिश, बाढ़, वायरल वीडियोये नदी अपने साथ बस और ट्रक जैसी भी चीजें बहा कर ले गई.

हिमाचल प्रदेश के मनाली में बीस नदी के पास खड़ी बस देखते ही देखते पानी में बह गई. जिस समय यह हादसा हुआ, उस समय बस खाली थी. लेकिन जिस तरह से बस तेज पानी में बही है, वह बेहद डरावना है.

बीस नदी का सितम सिर्फ बस तक सीमित नहीं रहा. एक भारी-भरकम ट्रक भी बीस नदी में बहता हुआ दिखाई दिया. जिसने भी इसका वीडियो देखा वह हैरान रह गया.

जो नदी अपने साथ बस और ट्रक जैसी चीजें बहा कर ले गई, वह कितनी खतरनाक है, इसका अंदाजा नदी का ये वीडियो देखकर भी लगाया जा सकता है. हर तरफ पानी ही पानी और उसकी रफ्तार डराने वाली.

हिमाचल प्रदेश के कई हिस्सों में भारी बारिश की वजह से बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं. कुल्लू जिले के डोभी-फोजल क्षेत्र में भी बाढ़ आ गई है, जहां से 19 लोगों को एयरलिफ्ट करना पड़ा.

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में बारिश ने ऐसी तबाही मचाई है कि करीब 25 लोग लापता हो गए हैं. पानी की रफ्तार के सामने कुछ भी नहीं बच रहा है. नदियों के किनारे बने घर और दुकानें तक बाढ़ की भेंट चढ़ गई हैं.

हिमाचल प्रदेश के ही नरकंडा के पास शिमला-रामपुर हाईवे भी बारिश की वजह से बंद हो गया. दरअसल, सड़क पर पड़ा का ढेर सारा मलबा गिरने की वजह से ऐसा हुआ. गनीमत है कि मलबा गिरने से पहले ही लोग सचेत हो गए थे और रुक गए थे, वरना कोई बड़ा हादसा हो सकता था.

छत्तीसगढ़ के महेंद्रगढ़ में कोरिया जिले में एक कार बाढ़ के पानी में बह गई. हालांकि, कार में कोई नहीं था देखिए वीडियो-

उत्तराखंड के चंपावत में भी यही हाल है. वहां गंडक नदी में आई बाढ़ में एक कार बह गई. हालांकि, किसी भी व्यक्ति को इसकी वजह से कोई नुकसान नहीं हुआ है.

अमरावती के पास चंडीगढ़-शिमला हाईवे का एक बड़ा हिस्सा देखते ही देखते कौशल्या नदी में बह गया.

राजस्थान के अजमेर में भारी बारिश की वजह से अंडरपास में पानी भर गया था, जिसमें एक स्कूल बस जा फंसी. बस में करीब 35 बच्चे थे, जिन्हें बाद में क्रेन की मदद से बचाया गया.

भारी बारिश के दिल्ली को हुआ एक फायदा

जहां एक ओर भारी बारिश ने हर जगह तबाही मचाई हुई है, वहीं दूसरी ओर दिल्ली को इसकी वजह से एक फायदा हो गया है. दिल्ली में प्रदूषण का स्तर काफी कम हो गया है. भारी बारिश के चलते दिल्ली की हवा पुणे, मुंबई और बेंगलुरु से भी साफ हो गई है. दिल्ली में बारिश के मामले में पिछले करीब 7 सालों का रिकॉर्ड टूट गया है. अभी तक दिल्ली में सिर्फ सितंबर में 233.3 मिमी. बारिश हो चुकी है, जबकि मुंबई में सिर्फ 62.9 मिमी. बारिश हुई है. दिल्ली ने बारिश और प्रदूषण दोनों के मामलों में इस बार मुंबई को पछाड़ दिया है.

बारिश की ये वीडियोज देख कर आप ये तो समझ ही गए होंगे कि बारिश ने कितना सितम ढा रखा है. हो सकता है ये इस मानसून की आखिरी बारिश हो, लेकिन जाते-जाते भी इसने लोगों की नाक में दम कर दिया है. पंजाब, जम्मू-कश्मीर और हरियाणा में भी बारिश की वजह से कई लोगों की मौत हो चुकी है. दिल्ली में भी यमुना का स्तर खतरे के निशान से ऊपर जा चुका है. मौसम विभाग के अनुसार अभी आने वाले दिनों में भी बारिश होगी. बारिश अगर जल्द ही बंद नहीं हुई, तो दिल्ली में भी यमुना नदी की वजह से बाढ़ के हालात पैदा हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें-

क्या मुआवजे के लिए मरने वाले के बेटा होना ही जरूरी है?

ह्यूमन पप्स बनकर जीने वाले लोग आखिर किस समाज का हिस्‍सा हैं?

स्ट्रॉबेरी जैसे फलों के अंदर आखिर कौन रख रहा है सिलाई वाली सुई?

Heavy Rain, Flood, Himachal Pradesh

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय