charcha me| 

होम -> समाज

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 05 अगस्त, 2022 07:27 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

इंस्टाग्राम पर चंद लाइक्स. फेसबुक पर  कुछ कमेंट. सोशल मीडिया का दौर ही ऐसा है कि इंसान फोटो खींच रहा है, खिंचवा रहा है. इस प्रक्रिया में दिलचस्प ये कि ये सब कभी मन से हो रहा है तो कभी इसे बेमन से अंजाम दिया जा रहा है. व्यक्ति के इस शौक के संभावित खतरों पर यूं तो तमाम बातें हो सकती हैं लेकिन जो सबसे बड़ा खतरा है वो मौत है. जी हां फोटो खींचने और खिंचवाने का शौक व्यक्ति के प्राणों की आहुति तक ले सकता है. और ये मजाक हरगिज नहीं है. गर जो इस बात को समझना हो तो हम दक्षिण के मशहूर हिल स्टेशन कोडैकानल का रुख कर सकते हैं.  जहां एक 28 वर्षीय व्यक्ति फोटो लेने की कोशिश के दौरान फिसल कर झरने में गिर गया. घटना दिल को दहला कर रख देने वाली है. मामले में दिलचस्प ये कि जो 47 सेकंड का वीडियो इंटरनेट पर वायरल हुआ उसे किसी और ने नहीं, बल्कि उसी के दोस्त ने अपने मोबाइल कैमरा पर रिकॉर्ड किया है.

Waterfall, Death, Tamilnadu, Youth, picture, Selfie, Facebook, Instagram, Policeतमिलनाड़ु से जो झरने में फिसलने के दृश्य आए हैं वो दिल को दहला कर रख देने वाले हैं

झरने के पास घटी इस घटना के बारे में जिस जिस को जानकारी हुई हर आदमी हैरत में है.युवक की तलाश में जुटे दमकल कर्मियों को भी लापता व्यक्ति का कोई सुराग नहीं मिला है इसलिए मान लिया गया है कि झरने में गिरने के बाद युवक की मौत हो गयी है और उसकी बॉडी बहकर कहीं दूर चली गयी है. मामले के मद्देनजर जो जानकारी आई है उसके अनुसार मृतक युवक की पहचान अजय पांडियन के रूप में हुई है. अजय तमिल नाडु के ही एक प्राइवेट एस्टेट में काम करता था जो अपने मित्र कल्याणसुंदरम के साथ झरने पर घूमने और फोटो क्लिक कराने के उद्देश्य से आया था. 

जैसा कि हम ऊपर ही इस बात को स्पष्ट कर चुके हैं कि घटना का वीडियो अजय के दोस्त ने बनाया था. तो यदि उस वीडियो को देखें और उसका अवलोकन करें. तो मिलता है कि फोटो क्लिक कराने झरने पर आया अजय चट्टानों से नीचे उतारते हुए दिखाई दे रहा है. फिर वो दोस्त से फोटो लेने की बात करता है और स्टाइल में कुछ पोज भी देता है. अजय का दोस्त कल्याणसुंदरम उसकी कई तस्वीरें लेता है इसी बीच उसका पैर स्लिप हो जाता है और वो नीचे गिर जाता है.

युवक की तलाश में झरने पर पहुंची पुलिस भी बेबस और लाचार नजर आ रही है. ऐसा इसलिए भी क्यों कि बारिश और खराब दृश्यता के कारण बचाव अभियान पुलिस के लिए भी मुमकिन नहीं हुआ. ऐसा बिलकुल भी नहीं है कि झरने पर पहली बार ऐसा कुछ हुआ है, कोडैकानल के पुलवेली गांव में स्थित इस झरने को लेकर कहा यही जा रहा है कि हाल फिलहाल में ये झरना 5 अन्य लोगों की मौत का कारण बना है. ऐसे में एक बड़ा सवाल ये भी है कि जब झरना लोगों के जान गंवाने की वजह बन ही चुका था तो आखिर वहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम क्यों नहीं किये गए ? जकया झरने पर मौत का सिलसिला आने वाले वक़्त में भी यूं ही जारी रहेगा? 

गौरतलब है कि जिस जगह ये झरना है वहां पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है, जिसके कारण चट्टान में फिसलन है.साथ ही धारा का प्रवाह भी बहुत तेज है.  

बहरहाल विषय चंद तस्वीरों के लिए खतरनाक जगहों पर अतरंगे पोज देना और अपनी जान गंवाना है. इसलिए हम इतना जरूर कहेंगे कि फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे प्लेटफॉर्म्स पर चंद लाइक्स या कमेंट्स के लिए जोखिम को मोल लेने का कोई फायदा नहीं है. जान है तो ही जहान है और साथ ही लाइक कमेंट्स भी. बाकी आदमी को चाहिए कि भले ही उसे फैंटम बनना हो तो बने लेकिन इस बात का भी ख्याल रखे कि  वो सावधानी बारात रहा है या नहीं. यूं भी कहा यही गया है कि सावधानी ही बचाव है.  

ये भी पढ़ें -

फरमानी नाज के शिव भजन गाने पर सबको 'नाज़' है, बस कट्टरपंथी और मौलाना नाराज हैं

घूरने वाले जवान पर बौखलाने वाली विद्या बालन को रणवीर की नंगी तस्वीरों पर आंखें सेकनी है!

साम्यवाद की बकलोली कर कांवड़ियों को घेरने वाले समझ लें, कांवड़ उठाने के लिए भरपूर गूदा चाहिए!

#झरना, #मौत, #तमिलनाडु, Waterfall, Death, Tamilnadu

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय