charcha me| 

होम -> समाज

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 03 अप्रिल, 2019 05:43 PM
पारुल चंद्रा
पारुल चंद्रा
  @parulchandraa
  • Total Shares

इन दिनों एक पाकिस्तानी महिला का वीडियो वायरल है जिसमें वो लोगों से मदद की गुहार लगा रही है. ये महिला है आसमा अज़ीज़ जो लाहौर की रहने वाली है. वीडियो में आसमा ने बताया है कि उसके पति और उसके दोस्तों ने उसे मारा-पीटा और सिर के सारे बाल सिर्फ इसलिए उतार दिए क्योंकि उसने पति के दोस्तों के सामने नाचने से इनकार कर दिया था. अब वो अपने लिए इंसाफ की मांग कर रही है.

आसमा का कहना है कि उसका पति फैज़ल उसे अपने दोस्तों के सामने नाचने के लिए मजबूर किया करता था. लेकिन इस बार भी उसके दो दोस्त घर आए और उसने मुझे शराब पीने और उनके सामने नाचने को कहा. जब आसमा ने मना कर दिया तो पति ने उसके पैर बांध दिए और उसे प्रताड़ित करने लगा. नौकरों के ही सामने पति ने आसमा के कपड़े उतारे और नौकरों ने आसमा को पकड़ा और पति ने उसके सिर के बाल काट दिए. इसे पाइप से बांधकर और पंखे से लटकाने की कोशिश कर रहा था.

pakistani womanघरेलू हिंसा की शिकार हुई महिलाओं की पुलिस भी नहीं सुनती

जब उसने भागने की कोशिश की तो पति ने इसे फिर मारा-पीटा. अगले दिन जैसे-तैसे वो वहां से बचकर निकली. आसमा शिकायत करने के लिए सीधे थाने पहुंची. लेकिन आसमा जैसों के तकलीफें और बढ़ाने के लिए पाकिस्तान की पुलिस भी कम नहीं है. पुलिस वालों ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की क्योंकि उन्हें रिपोर्ट लिखने के लिए पैसे चाहिए थे. आसमा को इलाज की जरूरत थी लेकिन इलाज करवाने के लिए भी पुलिस वालों ने 5000 रुपए मांगे. जब पुलिस ने कुछ न किया तो सोशल मीडिया के जरिए आसमा ने अपनी आवाज लोगों तक पहुंचाई और लोगों से अपने लिए मदद की उम्मीद की.

4 साल पहले आसमा और फैज़ल की शादी हुई ती लेकिन शादी के 6 महीने बाद ही पति का व्यवहार बदलने लगा था. आसमा तीन बच्चों की मां है. शराब पीने के बाद पति उसे मारा-पीटा करता था और अपने बेशर्म दोस्तों को घर पर पार्टी के लिए बुला लेता था.

pakistani womanआसमा की वीडिया वायरल हुआ तब कार्रवाई की गईआसमा का वीडियो वायरल होने के बाद पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री शिरीन माजरी ने ट्विटर पर कहा कि आसमा के पति और नौकर को गिरफ्तार करने के आदेश दे दिए गए हैं. मामले की जांच चल रही है और तब तक आसमा पुलिस प्रोटेक्शन में है. आसमा की मैडिकल रिपोर्ट पुष्टी करती है कि उसे बहुत बुरी तरह मारा-पीटा गया था.

pakistani woman

इस मामले में एमनेस्टी इंटरनेशनल का कहना है कि 'खुशी है कि आसमा के केस में तुरंत एक्शन लिया गया, लेकिन घरेलू हिंसा के दर्ज मामलों में खतरनाक तरह से वृद्धि हुई है. एक-एक केस के हिसाब से कार्रवाई नहीं की जा सकती. महिलाओं की सुरक्षा के लिए सिस्टम में बदलाव जरूरी है'

पाकिस्तान से आया ये मामला भले ही घरेलू हिंसा का हो, लेकिन वहां महिलाओं रहने वाली महिलाओं के प्रति अपनी सोच साफ दिखाता है. साथ ही कई बातों पर सवाल खड़े करता है. एक तरफ पाकिस्तान में एक वीडियो वायरल होता है जिसमें शादी में कुछ महिलाएं ताली बजाती हुई गीत गा रही थीं और 2 लड़के नाच रहे थे तो इस्‍लामी कट्टरपंथियों को ये नाच गाना धर्म के खिलाफ लगा और उन्होंने वीडियो में दिखाई देने वाले सभी लोगों को मौत के घाट उतार दिया. वजह सिर्फ एक कि नाच गाना इस्लाम के खिलाफ है और महिलाओं के लिए तो ये कत्ल करने लायक गुनाह है. लेकिन इस्लाम को मानने वाला समाज खुद अपने घर की महिलाओं को अपने दोस्तों के सामने नाचने के लिए कहता है. जब ये अपनी मर्जी से महिलाओं को नाचने के लिए और शराब पीने के लिए कहते हैं तब इन्हें कोई कानून याद नहीं रहता. लेकिन अगर कोई महिला इनकी मर्जी के बगैर ताली भी बजाए तो वो कभ न माफ करने वाला गुनाह हो जाता है.

और अफसोस की बात तो ये है कि पाकिस्तान की पुलिस न तो उन कट्टरपंथियों के खिलाफ एक्शन लेती है और न इन लोगों के जो अपने घरों में महिलाओं के साथ ये सुलूक करते हैं. असल मामला है महिला विरोधी सोच का जिसके चलते इस तरह की ज्यादती पाकिस्तान में आम है.

ये भी पढ़ें-

पाकिस्तान में रीना-रवीना के साथ अंजली की कहानी दोहरा दी गई है

पाकिस्तान में दो हिन्दू लड़कियों के धर्म परिवर्तन पर सुषमा स्वराज की सर्जिकल स्ट्राइक

जबरन धर्मांतरण के मामले पर पाकिस्तान की कलई खोल रहा है ये वीडियो

 

लेखक

पारुल चंद्रा पारुल चंद्रा @parulchandraa

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय