होम -> सिनेमा

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 17 जून, 2020 01:29 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

फर्श से अर्श पर आए बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत (Sushant Singh Rajput Suicide Death) के फौरन बाद बॉलीवुड (Bollywood) और सिने जगत को लेकर एक से एक खुलासे हो रहे हैं. कहीं मौत की वजह अवसाद (Depression) को माना जा रहा है तो कहीं इसे बॉलीवुड में इनसाइडर बनाम आउटसाइडर की लड़ाई कहा जा रहा है. ये एक ऐसा समय है जब आप किसी से भी बात कर लीजिए तो जितने मुंह होंगे उतनी तरह की बातें होंगी. सुशांत की मौत पर शुरू शुरू में कुछ भी कहा गया हो अब जबकि सुशांत की मृत्यु हुए ठीक ठाक वक़्त गुजर गया हो और वो पंचतत्व में विलीन हो गए हों एक के बाद एक नए खुलासे हो रहे हैं. सुशांत की मौत के मामले में जैसी पिछली घटनाओं की क्रोनोलॉजी रही साफ हो जाता है कि भले ही मौत की वजह कुछ हो मगर इसे डिप्रेशन के धागे में पिरोना मामले की असलियत से पल्ला झाड़ना है.

Sushant Singh Rajput, Suicide, Death, Bollywood, Salman Khan, Nepotism सुशांत की मौत सिर्फ आत्महत्या नहीं है जैसे हालात हैं भारी दबाव रहा होगा उनपर

आत्महत्या के बाद मामले की पुलिसिया जांच चल रही है.वहीं बॉलीवुड में Nepotism की बात सामने आने के बाद महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने भी ये ऐलान कर दिया है कि इंडस्ट्री में जो कुछ भी चल रहा है इसकी सघन जांच हो. इस बात में कोई गुरेज नहीं है कि गृहमंत्री की इस घोषणा के बाद बॉलीवुड में ऐसे तमाम लोग होंगे जिनकी रातों की नींद और दिन का चैन उड़ गया होगा.

मामला उतना भी सीधा नहीं है जितना सीधा ये दिख रहा है . मामले की पेचीदगी क्या है गर जो इस बात को समझना हो तो हम टीवी पत्रकार राज किशोर के उस ट्वीट को देख सकते हैं जो उन्होंने अभी कुछ समय पहले अपने सोशल मीडिया एकाउंट से डाला है.

सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के मामले में पत्रकार राजकिशोर ने पूरी क्रोनोलॉजी समझाई है. बता दें कि सुशांत ने 14 जून को फांसी लगाई है. वहीं उनकी एक अन्य मित्र मनमीत ग्रेवाल भी15 मई को फांसी पर लटक चुकी हैं. इसी तरह उनकी एक और दोस्त प्रेक्षा मेहता ने भी 26 मई को जान दे दी. बात हाल की हो तो सुशांत की सेक्रेट्री रह चुकी दिशा सालियां ने भी 9 जून को आत्महत्या की थी. बड़ा सवाल ये है कि वो व्यक्ति जो खुद फांसी लगाकर अपनी जान दे चुका है उसके जानने वालों या ये कहें कि करीबियों का इस तरह मृत्यु के मार्ग को चुन लेना अवसाद नहीं है. सीधी बात है एक डेढ़ महीने के अंतराल में इतने लोग अवसाद के चलते अपनी जीवन लीला समाप्त नहीं कर सकते . ज़रूर दाल में कुछ काला या शायद पूरी दाल ही काली है.

इस बात में कोई शक नहीं है कि बॉलीवुड में अपनों की कद्र है. सलमान, संजय, वरुण, आलिया, फरहान, हृतिक, रणबीर, सोनम, श्रद्धा, टाइगर आज इंडस्ट्री में क्यों कामयाब हैं इसकी एक बड़ी वजह है इनके परिवार का लंबे समय से इंडस्ट्री से जुड़ा होना.

सुशांत या उनके साथी दोस्त क्यों नहीं इंडस्ट्री में टिक पाए क्यों उन्होंने जीने के मुकाबले मरना चुना कोई तो वजह होगी. और वो वजह है बॉलीवुड में इनसाइडर और आउटसाइडर की लड़ाई. सुशांत की बहन लाख दावे करें कि सुशांत की पैसे की कोई कमी नहीं थी लेकिन असलियत यही है कि सुशांत का कैरियर ग्राफ अब उस मुकाम पर आ गया था जहां उन्हें काम मिलना बंद हो गया था.

इस बात में कोई संदेह नहीं है कि 34 साल की उम्र में दुनिया छोड़ने वाले सुशांत या फिर उनके दोस्तों ने जो मुकाम कमाया खुद की मेहमत से कमाया. जैसा कि रिपोर्ट्स हैं हालिया दिनों में सुशांत के हाथ से कई फिल्में छीन ली गई थीं ये एक्टर कंगना रनौत के उन आरोपों की पुष्टि कर देता है जिसमें सुशांत ने कहा था कि अगर लोग उनकी फिल्में नहीं देखते हैं तो उन्हें बॉलीवुड से निकाल कर घर का रास्ता दिखा दिया जाएगा.

बॉलीवुड में कैसे इन 'बड़े लोगों' का वर्चस्व है इसके ढेरों उदाहरण हैं मगर कैसे इस वर्चस्व ने इंडस्ट्री के नवांकुरित कलाकारों के करियर के साथ खिलवाड़ किया है अगर इसे समझना हो तो 'नील नितिन मुकेश' से बेहतर कोई उदाहरण नहीं हो सकता. बात कुछ सालों पहले की है नील नितिन मुकेश अपने पिता के साथ एक अवार्ड फंक्शन में थे. इस अवार्ड फंक्शन को शाहरुख खान और सैफ अली खान होस्ट कर रहे थे. इस दौरान सैफ और शाहरुख ने अपनी फूहड़ता का परिचय देते हुए नील नितिन मुकेश का नाम लिया और उन्हें रोस्ट करने के इरादे से उनपर व्यक्तिगत टिप्पणी की.

एक अवार्ड शो के दैरान ये सब हंसी मजाक के लिए किया गया लेकिन ये बात नील नितिन मुकेश को बुरी लगी और उन्होंने जवाब देने की लिबर्टी ली. उस समय अपना पक्ष रखते हुए नील नितिन मुकेश ने तमाम बातें की और सैफ और शाहरुख को 'शट-अप' कह दिया वो दिन है और आज का दिन है नील नितिन मुकेश आज इंडस्ट्री से लगभग गायब हैं.

ये बस एक उदाहरण है. बॉलीवुड में कितनी गंदगी है इसे हम दबंग के निर्देशक अभिनव सिंह कश्यप के उस फेसबुक पोस्ट से समझ सकते हैं जो इंटरनेट पर खूब वायरल हो रहा है और जिस पर यूजर्स भी लगातार अपनी अपनी प्रतिक्रिया देकर अपना बात रख रहे हैं.

यदि इस पोस्ट पर नजर डालें तो मिलता है कि इसमें अभिनव ने सलमान खान और उनके भाइयों पर बड़े आरोप लगाए हैं और बताया है कि कैसे इन बांद्रा बॉयज के कारण न सिर्फ उनकी बल्कि कई लोगों की ज़िंदगी बर्बाद हो गयी. इस पोस्ट में जैसे अभिनय के आरोप हैं वो ये साफ़ कर देते हैं कि बॉलीवुड एक गटर है जहां गन्दगी का अंबार है. यहां वही निकल सकता है जो या तो हालात से समझौता कर ले या फिर सुशांत और उनके साथियों की तरह जान दे दे.

बहरहाल बात सुशांत और उनके दोस्तों की मौत की हुई है तो इतनी बातों के बाद इतना तो साफ हो गया है कि बॉलीवुड में एक क्लान है और सफल वही हो पाता है जो इस क्लान का हिस्सा होता है. अब चूंकि सुशांत इस क्लान का हिस्सा नहीं बन पाए इसलिए आज वो हमारे बीच नहीं हैं.

मामला अभी और क्या मोड़ लेता है फैसला वक़्त करेगा. मगर जो वर्तमान है वो बॉलीवुड के परिदृश्य में बहुत घिनौना है जिसे देखकर डर लग्न स्वाभाविक है. 

ये भी पढ़ें -

Sushant Singh Rajput suicide: कंगना रनौत की उगली हुई आग से बॉलीवुड नहीं बचेगा

Sushant Singh Rajput की खुदकुशी की खबर पचा लेने के लिए कैसे कैसे बहाने अपनाए गए !

Sushant Singh Rajput suicide: शेखर कपूर दोषी का नाम जानते हैं तो बताते क्यों नहीं?

Sushant Singh Rajput, Karan Johar, Bollywood

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय