होम -> सिनेमा

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 23 नवम्बर, 2019 06:49 PM
पारुल चंद्रा
पारुल चंद्रा
  @parulchandraa
  • Total Shares

कंगना रनौत(Kangana Ranaut) ने मणिकर्णिका फिल्म में झांसी की रानी का किरदार निभाया, तो वो झांसी की रानी लगीं भी. लेकिन जब कंगना रनौत की फिल्म थालाइवी(Thalaivi) यानी जयललिता की बायोपिक(Jailalitha biopic) एनाउंस हुई तो मेरे साथ-साथ कई लोगों के मन में एक सवाल जरूर उठा कि आखिर कंगना रनौत जयललिता के रोल में किस तरह से फिट बैठेंगी. लोगों ने तो यहां तक कहा कि कंगना इस रोल के लिए परफेक्ट चॉइस नहीं हैं. सवाल उठना लाजिमी इसलिए भी था क्योंकि बायोपिक का पहला आधार ही यही है कि किरदार निभाने वाला किरदार की तरह दिखाई दे. और कंगना और जयललिता की शारीरिक बनावट में बहुत बड़ा अंतर है. कंगना जयललिता की युवावस्था के रोल के लिए तो परफेक्ट हो सकती हैं लेकिन वृद्धावस्था के लिए नहीं, क्योंकि तब जयललिता का शरीर पहले जैसा छरहरा नहीं था.

लेकिन आज जैसे ही थलाइवी का फर्स्ट लुक (Thalaivi First look) बाहर आया, एक बार को यकीन ही नहीं हुआ कि जयललिता का किरदार कंगना रनौत ने निभाया है. तस्वीर को देखकर आप ये तो कहेंगे कि ये जयललिता है, लेकिन ये नहीं कह पाएंगे कि ये Kangana Ranaut है. कंगना रनौत को जयललिता के रूप में देखने के बाद उन सवालों को जवाब भी मिल गए जो कंगना पर उठए गए थे.

kangana ranaut in thailaviजयललिता बनी कंगना रनौत को पहचानना मुश्किल है

इतने से मन नहीं भरा था कि एक टीजर भी लॉन्च किया गया जिसमें जयललिता के जीवन के दो पड़ाव दिखाए गए हैं. शुरुआत होती है फिल्म के एक डांस सीन से जो राजनीति के मंच पर लोगों का अभिवादन करने पर खत्म होता है.

हालांकि ये तो कंगना की टीम ने पहले ही बता दिया था कि कंगना प्रोस्थेटिक्स की मदद से जयललिता का लुक लेंगी. जिसके लिए उन्होंने लॉस एंजिल्स में लुक टेस्ट करवाया था. तब उनकी कुछ तस्वीरें भी शेयर की गई थीं जिनमें कंगना प्रोस्थेटिक ग्लू से पूरी तरह ढंकी हुई दिखाई दे रही थीं. लेकिन कंगना द्वारा की गई ये मेहनत ये रंग लाएगी ये किसी ने नहीं सोचा था.

kangana ranaut jayalalitha biopicकंगना ने इस लुक के लिए काफी मेहनत की है

मेकअप और प्रोस्थेटिक्स का इस्तेमाल करके कंगना को जो लुक दिया गया है वो जयललिता के काफी करीब दिखाई देता है. हालांकि इस लुक को अगर ध्यान से देखें तो इसे एकदम स्टिल रखा गया है. हरे रंग के कपड़ों में खड़ीं जयललिता के चेहरे पर कोई भी भाव नहीं है, न ही चेहरे पर कोई जुर्री या चेहरे की लकीरें दिख रही हैं. इसलिए ये वाला लुक प्लास्टिक ज्यादा लग रहा है. लेकिन मानना पड़ेगा कि इसके लिए मेकअप वालों ने बहुत मेहनत की है.

kangana ranaut jayalalitha biopicकंगना का चेहरा भरा तो दिख रहा है लेकिन चेहरे की झुर्रियां नजर नहीं आतीं

लेकिन थालाइवी की असली परीक्षा तो अब शुरू होगी

पहला लुक तो सामने आ गया है जिससे ये तो साफ हो गया कि हां कंगना रनौत भी जयललिता जैसी लग सकती हैं. लेकिन सिर्फ लगना ही सबकुछ होता तो The accidental prime minister भी हिट हो गई होती. अनुपम खेर भी एकदम मनमोहन सिंह ही लग रहे थे. लेकिन एक बायोपिक में जितना जरूरी किरदार का चुनाव होता है उतनी ही जरूरी होती है कहानी और निर्देशन. बायोपिक की कहानी भले ही पकी पकाई हो लेकिन अगर ढंग से न बुनी गई हो तो फिल्म फ्लॉप हो जाती है.

लुक चैलेंज तो कंगना रनौत पास कर चुकी हैं. मेकअप और prosthetics ने उन्हें पूरी तरह से जयललिता बना दिया है. लेकिन उनकी असली चुनौती ये होगी कि कंगना जयललिता को अपने अंदर भी उतार लें. क्योंकि लोगों ने जयललिता के जीवन के हर पड़ाव को करीब से देखा है. वो जब हीरोइन थीं तब भी और वो जब राजनीति में रहीं, तब भी. इसलिए जरा सी भी चूक कंगना रनौत की मेहनत पर भारी पड़ सकती है.

kangana ranaut jayalalitha biopicकंगना जयललिता के लुक में तो पास हो गई हैं

मेकअप और कंगना की आदाकारी भी तब तक फिल्म को सफल नहीं बना सकती जब तक कि कहानी और निर्देशन दमदार न हो. थालाइवी फिल्म की कहानी बाहुबली के कहानीकार के वी विजयेन्द्र प्रसाद और राहुल अरोड़ा ने लिखी है, और फिल्म के निर्देशक हैं ए एल विजय. थालाइवी जितना बड़ा चैलेंज कंगना के लिए हैं उससे ज्यादा बड़ा चैलेंज निर्देशक के लिए होगी. अब फिल्म की कहानी एगर जबरदस्त और दर्शकों को बांधकर रखने वाली होगी तो मेकअप की छोटी-मोटी कमियों और नकलीपन पर किसी का ध्यान ही नहीं जाएगा. फिल्म जून 2020 को रिलीज होगी, और अभी काफी वक्त है इस फिल्म पर मेहनत करने के लिए.

ये भी पढ़ें-

जयललिता बनने के लिए कंगना का चैलेंज सुपर-30 वाले हृतिक रोशन जैसा

Ranu Mondal का मेकअप कई चेहरों के नकाब उतार रहा है

Suhana Khan ने अपनी short film के जरिए आलोचकों के मुंह बंद कर दिए

Thalaivi, Kangna Ranaut, J Jayalalithaa

लेखक

पारुल चंद्रा पारुल चंद्रा @parulchandraa

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय