होम -> सिनेमा

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 21 फरवरी, 2021 10:39 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

Chakra Review In Hindi: आखिरकार तमाम तरह के कयासों पर विराम लग ही गया. साउथ सुपरस्टार विशाल की मोस्ट अवेटेड फ़िल्म 'Chakra' रिलीज हो ही गयी. फ़िल्म पहले 1 मई 2020 को रिलीज थी लेकिन क्योंकि भारत कोरोना की मार झेल रहा था और लॉकडाउन के चलते सिनेमाघरों में ताला लगा था इसलिए फ़िल्म की रिलीज का प्लान प्रोड्यूसर डायरेक्टर द्वारा पोस्टपोन हुआ और अब जाकर ये फ़िल्म रिलीज की गई. फ़िल्म चक्र एक्शन एंटरटेनर फ़िल्म है जिसको विशाल के चलते वो रेस्पॉन्स मिला जिसकी उम्मीद इसे बनाते वक्त की गई थी. फ़िल्म चूंकि साउथ की ऑडियंस को ध्यान में रखकर बनी है तो दर्शकों की प्रतिक्रियाएं बता रही हैं कि फ़िल्म उन्हें ठीक लगी है. चाहे वो एक्टर विशाल और श्रद्धा श्रीनाथ की जोड़ी हो, फ़िल्म की स्टोरी लाइन हो, हाई वोल्टेज एक्शन सीन हों, रौबदार डायलॉग हों, गाने हों फ़िल्म एक दर्शक को वो सभी एलिमेंट देती है जिसकी तलाश में वो सिनेमाघरों का रुख करता है.

Chakra, Vishal, Shraddha Srinath, Review, Film Release, Actor, Actress, Film, cyber crimeदर्शकों को ठीक ठाक एंटरटेनमेंट देती है विशाल की मूवी चक्र

जैसा कि हम बता चुके हैं विशाल की वजह से फ़िल्म को दक्षिण भारतीय फैंस द्वारा हाथों हाथ लिया जा रहा है माना जा रहा है कि फ़िल्म बढ़िया बिजनेस करेगी और निर्माता निर्देशकों को फायदा पहुंचाते हुए उस कहावत को चरितार्थ करेगी जिसमें कहा गया है कि इंतजार का फल मीठा होता है.

क्या है चक्र की कहानी

फ़िल्म साइबर क्राइम पर आधारित और फ़िल्म को जैसा टेम्परामेंट दिया गया है ये कहना कहीं से गलत नहीं है कि फ़िल्म साइबर क्राइम और उससे जुड़ी चुनौतियों को एक बिल्कुल नए लेवल पर ले जाती है. फ़िल्म घूमती है पुलिस ऑफिसर चंद्रू (विशाल) और गायत्री (श्रद्धा) के इर्द गिर्द. दोनों ही एक मिशन पर हैं जिन्हें हैकर्स के उस गैंग को सलाखों के पीछे पहुंचाना है जिन्होंने अपने शातिर दिमाग का परिचय देते हुए चेन्नई में एक बड़ी और हाई प्रोफाइल चोरी को अंजाम दिया है. फ़िल्म की कहानी बस इतनी है और इसके बाद जो है वो फिक्शन या बहुत सीधे कहें तो साउथ की इंडस्ट्री वाली गप है.

जैसा कि हम बता चुके हैं फ़िल्म साउथ की ऑडियंस को ध्यान में रखकर बनाई गई है तो स्टोरी के बीच में हर वो एलिमेंट डाला गया है जो साउथ के दर्शकों के लिहाज से फ़िल्म को ग्रिपिंग बनाता है. यानी मारधाड़ से लेकर फैंटेसी और झूठ मूठ के साइंस फिक्शन तक फ़िल्म में हर वो चीज है जिसे जब एक दर्शक देखना शुरू करेगा तो यही चाहेगा कि फ़िल्म पूरी देखकर ही उठे.

कमी जिसपर बात होनी चाहिए

फ़िल्म में कॉमेडी का तड़का भी है और जैसा दक्षिण भारतीय फिल्मों का रिवाज रहा है ये व्यर्थ है. समीक्षक तक इस बात को लेकर एकमत हैं जिस थीम पर ये फ़िल्म बनाई गई है वहां कॉमेडी की कोई ज़रूरत नहीं थी. कॉमेडी के बाद जो दूसरी बड़ी कमी फ़िल्म में दिखाई देती है वो है साइबर क्राइम जैसे विषय को एक बिल्कुल ही दूसरे लेवल पर ले जाना.

फ़िल्म के प्रोड्यूसर, डायरेक्टर, एक्टर तीनों को ही इस बात को समझना चाहिए था कि हम हिंदुस्तान में हैं और जब बात तकनीक और उसके इस्तेमाल की हो तो दुनिया से ज्यादा हम ख़ुद जानते हैं कि हम कहां हैं.

फ़िल्म कई जगह सस्पेंस लिए हुए है बाकी फ़िल्म में प्यार मुहब्बत भी भरपूर है तो यदि दर्शकों को जानना है कि प्यार मुहब्बत के बीच कैसे साइबर क्राइम जैसी जटिल चीज सेलोहा लिया जाएगा तो उन्हें इस फ़िल्म को एक बार जरूर देखना चाहिए.

कैसी है फ़िल्म की स्क्रिप्ट और निर्देशन

विशाल ही इस फ़िल्म के प्रोड्यूसर हैं जबकि फ़िल्म को लिखा और निर्देशित किया है एमएस आनंदन है. फ़िल्म देखते हुए महसूस होता है कि जो एक काम निर्देशक ने अच्छा किया वो ये कि उन्होंने शुरू से लेकर आखिर तक इस बात का ख्याल रखा कि साउथ का दर्शक देखना क्या चाहता है. फ़िल्म में दर्शकों के मुताबिक ही चीजों को दिखाया गया है इसलिए हमारा दावा है वो कहीं से भी निराश न होंगे.

फ़िल्म के मद्देनजर सोशल मीडिया पर भी प्रतिक्रियाएं भी खूब आ रही हैं और तमाम लोग ऐसे हैं जिनका कहना है कि इस फ़िल्म को कम से कम एक बार तो देखा हो जा सकता है.

फ़िल्म हिट होती है या फ्लॉप इसका फैसला तो दर्शक करेंगे लेकिन इतना तो है कि इस फ़िल्म के जरिये विशाल ने बताया है कि नाम के जरिये सफलता कैसे हासिल की जाती है और कैसे एक साइबर क्राइम जैसे बोरिंग टॉपिक को इंटरेस्टिंग बनाया जाता है.

ये भी पढ़ें -

Upcoming movies & web series: फ़रवरी का ये हफ्ता सस्पेंस, ड्रामा, सेक्स, एडवेंचर के नाम

Bigg Boss 14 Winner: रुबीना-राहुल के बीच कड़ा मुकाबला, जानिए क्या कहता है ट्रेंड

YRF ने 5 बहुप्रतीक्षित फिल्मों की रिलीज डेट बताकर दर्शकों को जश्न का मौका दिया है!

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय