होम -> टेक्नोलॉजी

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 14 अक्टूबर, 2016 04:31 PM
श्रुति दीक्षित
श्रुति दीक्षित
  @shruti.dixit.31
  • Total Shares

क्या आपके पास भी एंड्रॉयड स्मार्टफोन है? 80% लोगों का जवाब होगा हां. अगर है तो उसकी सिक्योरिटी के लिए क्या किया हुआ है? आधे लोग इस सवाल के जवाब में अटक जाएंगे और आधों का जवाब होगा एंटी वायरस डाला है और लॉक लगाया है. पर क्या आप जानते हैं कि इसके अलावा भी कुछ ऐसी ट्रिक्स हैं जिनका इस्तेमाल आप फोन की सिक्योरिटी के लिए कर सकते हैं. अगर आज के समय में फोन को कुछ हो जाए तो मिनी हार्ट अटैक आना संभव है. संभवत: फोन में कई ऐसी चीजें सेव हों जिनके ना होने पर तगड़ा नुकसान हो जाए. चलिए आज आपके फोन को थोड़ा सा और सुरक्षित बनाते हैं इन पांच ट्रिक्स की मदद से.

ये भी पढ़ें - ये हैं 10 तरह के डिस्काउंट, जानिए और इनका फायदा उठाइए...

1. डिवाइस मैनेजर एक्टिवेट करें-

अपने एंड्रॉयड स्मार्टफोन में गूगल एंड्रॉयड डिवाइस मैनेजर एक्टिवेट कर लें. इससे यदि आपका फोन कहीं गुम हो जाता है, तो आप इस फीचर की मदद से अपना फोन ट्रैक कर सकते हैं. यह फीचर गूगल मैप और जीपीएस की मदद से काम करता है. इसकी मदद से आप अपने फोन को पांच मिनट के लिए फुल वॉल्यूम पर रिंग भी कर सकते हैं और अपना पूरा डाटा डिलीट भी कर सकते हैं. इसे आप सिक्योरिटी सेटिंग में डिवाइस एडमिनिस्ट्रेटर्स सेटिंग में जाकर शुरू कर सकते हैं. Security settings> administrator

खास बात ये है कि डिवाइस मैनेजर उन स्मार्टफोन्स पर काम नहीं करेगा जिनमें मोबाइल डाटा या वाई-फाई कनेक्शन ना हो. साथ ही अगर आपका फोन बंद हो गया है तो भी इसका इस्तेमाल नहीं हो पाएगा. तो भइया अब अगर फोन साइलेंट पर है और मिल नहीं रहा तो सीधे अपने कम्प्यूटर पर जाएं और फोन की घंटी बजा दें.

android_1_101416010612.jpg
 एंड्रॉइड डिवाइस मैनेजर का स्क्रीन शॉट

2. जल्दी खत्म नहीं होगा 3G/4G डेटा-

अब इतनी महंगाई के जमाने में अगर आपके पास जियो सिम नहीं है तो खर्चे का भी तो सोचना होगा ना. फोन में मौजूद कई एप्स बैकग्राउंड में काम करते रहते हैं और हमारा डेटा धीरे-धीरे खाते रहते हैं. देखने वाली बात ये है कि इनमें से कई एप्स का लगातार इस्तेमाल भी नहीं होता है और फिर भी ये डेटा खत्म करती रहती हैं. अगर इसे रोकना है तो उसके लिए एक बहुत आसान तरीका है. इससे अगर वाई-फाई का इस्तेमाल हो रहा है तब तो बैकग्राउंड में एप्स काम करेंगे नहीं तो वो तब तक बंद रहेंगे जब तक आप उन्हें खोलते नहीं.

अपने फोन की सेटिंग्स में जाकर डेटा यूसेज पर क्लिक करें (Settings> Data Usage). यहां क्लिक करने पर आपको डेटा यूसेज का एक ग्राफ दिखेगा और साथ ही नीचे की ओर लिस्ट दी गई होगी जिसमें सभी एप्स होंगे. इनमें से जिस भी एप के नोटिफिकेशन आपको नहीं चाहिए, या आपको कभी-कभी इस्तेमाल में आता है उसपर क्लिक कर Restrict Background Data (रिस्ट्रिक्ट बैकग्राउंड डेटा) पर प्रेस करें. ये ऑप्शन एक्टिवेट होते ही एप्स सिर्फ तभी डेटा ले पाएंगे जब उनका इस्तेमाल आप कर रहे होंगे. इससे एक और फायदा होगा वो ये कि आपके फोन में जो भी एप्स हैं उनसे वायरस आने की संभावना कुछ हद तक कम हो जाएगी. मतलब एक तीर से दो निशाने.

android_2_101416010631.jpg
 ऑप्शन क्लिक करने पर आएगी ऐसी स्क्रीन

3. सिस्टम अपडेट-

फोन की सिक्योरिटी के लिए ये जरूरी है कि आपका ऑपरेटिंग सिस्टम पूरी तरह से अपडेट रहे. अगर ऐसा नहीं होगा तो कई बार फोन में मालवेयर का खतरा बढ़ जाता है. अब कैसे पता करें कि फोन अपडेट है या नहीं इसका आसान तरीका है.

ये भी पढ़ें- जानिए वॉट्सएप से होने वाले सिरदर्द को कम करने के 7 तरीके

सेटिंग्स> अबाउट फोन में जाएं और सिस्टम अपडेट पर क्लिक करें. अगर सिस्टम अप टू डेट दिखा रहा है तो चिंता की कोई जरूरत नहीं अगर वो कहता है कि इसे अपडेट किया जा सकता है तो नया वर्जन डाउनलोड कर लें.

android_3_101416010647.jpg
 सांकेतिक फोटो

4. एंड्रॉइड की स्पीड बढ़ाने के लिए-

फोन है तो कभी ये धीमा भी होगा. अब मशीन ही है, धीमी हो सकती है. अगर आप चाहते हैं कि अपने फोन की स्पीड थोड़ी बढ़ा दी जाए तो इसके लिए एक छोटी सी ट्रिक है जो 1 मिनट से भी कम समय लेगी और फोन की स्पीड बढ़ा देगी. इसके लिए आपके फोन का डेवलपर्स ऑप्शन ऑन होना चाहिए. ये ऑप्शन आम तौर पर सेटिंग्स में नहीं दिखता है. इसके लिए फोन सेटिंग्स में जाकर अबाउट डिवाइस ( About Device) पर क्लिक करें और यहां पर बिल्ड नंबर (Build number) ऑप्शन चुनें. इसपर आपको 7 बार क्लिक करना है. जी ये कोई टोटका नहीं बल्कि एक एक ऐसा ऑप्शन है जिसकी मदद से आप एंड्रॉयड के डेवलपर्स मोड में चले जाते हैं. इससे सेटिंग्स में और ज्यादा ऑप्शन दिखने लगेंगे. जैसे ही आप 7 बार क्लिक करेंगे फोन में मैसेज दिखेगा कि आप डेवलपर मोड में आ गए हैं.

android_4_101416010700.jpg
 फोन में दिखेगी कुछ ऐसी स्क्रीन

अब क्या करना है-

अब करना ये है कि सेटिंग्स> डेवलपर मोड> एनिमेशन स्केल (Animation Scale) ऑप्शन दिखाई देगा. इसमें तीन ऑप्शन होंगे विंडो एनिमेशन स्केल, ट्रांजीशन एनिमेशन स्केल और  एनिमेटर ड्यूरेशन स्केल. इन तीनों को ऑफ कर दीजिए. होगा ये कि इससे जो भी एनिमेशन फोन का समय लेते हैं या फिर एप्स लोड होने में समय लेते हैं वो कम हो जाएगा और आपका फोन थोड़ा ज्यादा तेज चलने लगेगा.

ये भी पढ़ें- आईफोन 7 खरीदने के सबसे किफायती ऑफर, जानिए उनके नियम और शर्तें भी

5. नोटिफिकेशन सिस्टम-

कई बार आप ऐसे एप्स डाउनलोड कर लेते हैं जो फालतू नोटिफिकेशन भेजते रहते हैं या फिर कोई एड या स्क्रीन सेवर दिखाते हैं. मान लीजिए आपको किसी को जल्दी में फोन लगाना है और ऐसे में कोई नोटिफिकेशन या स्क्रीन सेवर समय बर्बाद कर रहा है. भाई ऐसे में चिढ़ होना तो लाजमी है. ऐसे समय में अगर कोई नोटिफिकेशन आता है तो सिर्फ उसपर कुछ सेकंड के लिए प्रेस करें. नोटिफिकेशन आपको बता देगा की कौन सा एप उसका मालिक है. अब सेटिंग्स में जाकर, एप्लिकेशन मैनेजर या फिर एप सेटिंग्स पर क्लिक करें और उस एप पर जाकर नोटिफिकेशन ऑफ कर दें. फिर ये फालूत नोटिफिकेशन आपको परेशान नहीं करेंगे.

android_5_101416010719.jpg
 नोटिफिकेशन :सांकेतिक फोटो

एंड्रॉयड फोन का इस्तेमाल आसान तो है, लेकिन इसकी सुरक्षा भी जरूरी है. सबसे ज्यादा वायरस और डेटा चोरी की घटनाएं एंड्रॉयड फोन्स के साथ ही होती हैं. ऐसे में सिक्योरिटी का ध्यान रखना बहुत जरूरी है.

Social Media, Smartphones, Tech News

लेखक

श्रुति दीक्षित श्रुति दीक्षित @shruti.dixit.31

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय