होम -> टेक्नोलॉजी

 |  3-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 23 जुलाई, 2019 12:57 PM
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujmaurya87
  • Total Shares

मुंबई के बांद्रा में एक मल्टीस्टोरी बिल्डिंग में आग लग गई. ये आग एमटीएनएल की बिल्डिंग में लगी थी, जिसमें 100 से अधिक लोग फंसे हुए थे, लेकिन सभी को सही सलामत बाहर निकाल लिया गया. इस 9 मंजिला इमारत में आग लगने के बाद धुएं का गुबार पैदा हो गया, जो किसी को भी डराने के लिए काफी था. यहां तक कि फायर ब्रिगेड वाले लोग भी ऐसे गुबार को देखकर हैरान हो सकते हैं. लेकिन अब मुंबई फायर ब्रिगेड के पास एक ऐसा सिपाही है, जिस पर न धुएं के गुबार का असर होता है, ना ही आग की आंच उसे रोक पाती है. ये है रोबोफायर, जिसका हाल ही में शिवसेना के आदित्य ठाकरे ने उद्घाटन किया था.

माना जा रहा है कि ये आग शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी थी, जिसे बुझाने के लिए रोबोफायर के अलावा दमकल की 14 गाड़ियां भी मौके पर पहुंची थीं. अभी तक कहीं भी आग बुझाने के लिए कई बार फायर फाइटर्स को अपनी खुद की जान जोखिम में डालनी पड़ती थी. ऐसे भी कई मौके आए हैं जब फायर फाइटर्स घायल भी हो गए. रोबोफायर ने फायर फाइटर्स की जान का जोखिम काफी हद तक कम कर दिया है. उनकी जगह ये रोबोफायर जोखिम वाली जगहों पर आग बुझाता है.

रोबोफायर, मुंबई, आगये रोबो 700 डिग्री सेल्सियस तक की गर्मी में भी काम कर सकता है.

रोबो फायर की खूबियां ही हैं उसकी ताकत

- मुंबई फायर ब्रिगेड को मिले इस रोबोफायर की कीमत 1 करोड़ रुपए है, जिसका वजह 400-500 किलो है.

- ये रोबो 700 डिग्री सेल्सियस तक की गर्मी में भी काम कर सकता है. यानी अगर घर में भीषण आग लगी हो, तो भी ये रोबो उसमें घुसकर आग बुझा सकता है. उन मौकों पर ये रोबो काफी काम का साबित हो सकता है, जब कोई आग की लपटों में घिरा हुआ हो.

- ये रोबोट घर में घुसकर आग बुझा सकते हैं. यानी जब घर में घुसने में फायर फाइटर्स को दिक्कत हो रही हो तो ये रोबो बिना किसी डर के घर में घुस सकते हैं.

Robofireआग बुझाने के लिए इंसानों के सामने जो चुनौती है, उसे रोबोफायर ने काफी हद तक दूर किया है.

- अक्सर धुएं में कुछ दिखाई नहीं देता है, जिससे भी दुर्घटनाएं हो जाती हैं. इस रोबो में थर्मल कैमरा लगा हुआ है, जो धुएं में भी साफ तस्वीरें ले सकता है. ऐसे में धुएं में देखना भी फायर फाइटर्स के लिए आसान हो जाएगा. इतना ही नहीं इस कैमरे से ये भी पता चल सकता है कि आग किसी इमारत के किस हिस्से में लगी है.

- ऐसा नहीं है कि ये रोबो सिर्फ आग के पास जाकर ही आग बुझा सकता है. ये रोबो 55 मीटर तक पानी फेंक सकता है और करीब 300 मीटर दूर से रिमोट से कंट्रोल किया जा सकता है.

फायर फाइटर्स का काम लोगों की जान बचाना तो होता ही है, साथ ही उन्हें अपनी जान भी जोखिम में डालने से खुद को बचाना होता है. बावजूद इसके कई बार ये देखा गया है कि दूसरों की जान बचाते-बचाते फायर फाइटर्स की खुद की जान खतरे में पड़ जाती है. ऐसे में रोबोफायर फायर फाइटर्स के लिए किसी वरदान से कम नहीं है. मुंबई में लगी आग में भले ही इस रोबोफायर को अपनी पूरी काबीलियत दिखाने का मौका ना मिला हो, लेकिन ये रोबोफायर मुश्किल से मुश्किल परिस्थिति से आसानी से निपट सकता है.

ये भी पढ़ें-

Chandrayaan 2 मिशन का अब तक सफर उसकी कामयाबी की गारंटी है

चंद्रयान-2 लॉन्च होते ही पाकिस्तान के दिल की धड़कनें बढ़ गईं

इमरान खान क्या वाशिंगटन में विश्वास मत हासिल करने गए थे?

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय