होम -> टेक्नोलॉजी

 |  7-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 18 जून, 2019 08:19 PM
श्रुति दीक्षित
श्रुति दीक्षित
  @shruti.dixit.31
  • Total Shares

माइक्रोमैक्स के सह-संस्थापक राहुल शर्मा ने अब अपना हाथ ऑटोमोबाइल मार्केट में आजमाया है. राहुल शर्मा ने Revolt Intellicorp नाम बनाई अपनी कंपनी के अंतरगत पहली इलेक्ट्रिक मोटरसाइकल का अनावरण किया है. Revolt Intellicorp RV 400 भारत की पहली फुली इलेक्ट्रिक बाइक है जिसमें Artificial Inteligence का इस्तेमाल किया जा रहा है. इस बाइक की प्री-बुकिंग 25 जून से की जा सकेगी और इसके लिए सिर्फ 1000 रुपए देने होंगे. इसे कंपनी की वेबसाइट के अलावा, अमेजन से भी बुक किया जा सकता है. मानेसर में बने प्रोडक्शन प्लांट में इस गाड़ी को बनाया जाएगा. इस गाड़ी की कीमत के बारे में अभी नहीं बताया गया, लेकिन ऐसी उम्मीद की जा रही है कि सरकार की सब्सिडी के बाद भी ये गाड़ी 1 लाख रुपए की प्राइस रेंज में आ सकती है. इस गाड़ी में वो खूबियां हैं जो ये माइक्रोमैक्स वाली सफलता दोहरा दे. जब माइक्रोमैक्स ने अपने पहले स्मार्टफोन्स लॉन्च किए थे तो वो कंपनी कुछ ही समय में भारत की दूसरी सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बेचने वाली कंपनी बन गई थी. उस समय माइक्रोमैक्स ने भारतीय यूजर्स को वो दिया था जिसकी उन्हें जरूरत थी. ज्यादा फीचर्स वाले अफोर्डेबल स्मार्टफोन्स. अब Revolt Intellicorp की पहली गाड़ी से भी ऐसे ही कमाल की उम्मीद की जा सकती है.

कुछ खास बातें जो Revolt RV 400 अलग बनाती हैं...

सबसे पहली बात तो ये कि ये भारत की एकलौती फुल इलेक्ट्रिक बाइक होगी. ऐसा इसलिए क्योंकि अभी तक लॉन्च हुई बाकी इलेक्ट्रिक गाड़ियां स्कूटर सेग्मेंट की हैं. हालांकि, TORK T6X भी जल्दी लॉन्च हो सकती है, लेकिन फिलहाल Revolt RV 400 की टक्कर की कोई गाड़ी है ही नहीं. Hero Electric Optima Plus, Yo Electron ER, Avan Trend E, Ather 340, और Ather 450 जैसी सभी गाड़ियां इसी कीमत में आती हैं और उनका अलग मार्केट बेस भी है, लेकिन फिर भी मोटरसाइकल सेग्मेंट की जो कमी थी वो रिवोल्ट आरवी 400 ने पूरी कर दी.

Revolt Intellicorp RV 400, इलेक्ट्रिक गाड़ी, इलेक्ट्रिक गाड़ियांइस गाड़ी में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल किया गया है तो ये वॉयस कमांड भी ले सकेगी.

फिलहाल ये गाड़ी जुलाई में आधिकारिक रूप से लॉन्च होगी और इसकी लॉन्चिंग डेट अभी बताई नहीं गई है.

जहां तक फीचर्स की बात है तो इस गाड़ी में LED हेडलैंप के साथ पूरी तरह से डिजिटल फ्रंट पैनल दिया गया है. क्योंकि इसमें AI आधारित फीचर्स हैं इसलिए इसकी बैटरी कम खर्च होगी और ये सीधे तौर पर इसके माइलेज पर असर करेगा. इसमें ब्लूटूथ कनेक्टिविटी भी है जो सीधे स्मार्टफोन से कनेक्ट करने में मदद करेगी. Revolt RV 400 का एप आसानी से यूजर को बाइक ट्रैक करने का मौका देगा. इसी के साथ, उस एप की मदद से यूजर अलर्ट भी डाल सकता है, ऐसे में अगर बाइक एक निर्धारित इलाके से बाहर जा रही होगी तो भी स्मार्टफोन पर अलर्ट आ जाएगी.

ब्लूटूथ कनेक्टिविटी का एक और फायदा है. इससे एप के जरिए मोटरसाइकल को स्टार्ट या बंद किया जा सकता है. ये बाइक क्योंकि AI पर काम करेगी इसलिए वॉयस कमांड भी दी जा सकेंगी. इसी के साथ, बाइक का ऑटोमैटिक सिस्टम यूजर की आदतों को समझ भी पाएगा. हालांकि, अभी ये पहली बाइक है इसलिए इस सिस्टम को एकदम बेहतरीन मानना सही नहीं होगा क्योंकि हो सकता है पहली गाड़ी लॉन्च होने के बाद उसमें कई बदलाव हों, लेकिन फिर भी भारतीय मार्केट के लिए ये पहली गाड़ी है जो ऐसे आधूनिक फीचर्स देगी.

इलेक्ट्रिक गाड़ियों में आवाज़ नहीं आती और कई यूजर्स इसे पसंद नहीं करते इसलिए पेट्रोल गाड़ियों को पसंद करने वाले लोगों के लिए इस गाड़ी में 4 exhaust notes भी हैं. यूजर अपने हिसाब से साउंड सिलेक्ट कर सकता है.

माइलेज और स्पीड में भी बेहतरीन होगी Revolt RV 400-

रिवोल्ट RV 400 में ARAI सर्टिफिकेशन दिया गया है. ये गाड़ी 156 किलोमीटर का माइलेज देगी और साथ ही अधिकतम स्पीड 85 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकती है. इस गाड़ी में डिस्क ब्रेक दिए गए हैं. इसी के साथ, अन्य कई फीचर्स तब सामने आएंगे जब ये गाड़ी लॉन्च होगी. हालांकि, जितना पता है उसके हिसाब से भी ये गाड़ी बेहद बेहतरीन लग रही है.

Revolt RV 400 यूजर्स को मिलेगा वो सब जो कई गाड़ियों में नहीं मिलता...

1. ऑनलाइन बैटरी कहीं भी उपलब्ध होगी-

इसे ऐसे समझिए जैसे किसी ऑनलाइन ग्रॉसरी एप से दूध का पैकेट मंगवाना हो. अगर बैटरी का चार्ज खत्म हो जाता है और किसी को चार्जिंग स्टेशन तक नहीं जाना है तो वो सीधे ऑनलाइन बैटरी ऑर्डर कर सकता है. ये 22Kymco iFlow बैटरी होंगी और इसे आसानी से बदला जा सकता है. हालांकि, ये सिर्फ 5 किलो की बैटरी होगी. RV 400 की असली बैटरी 18 किलो की है. हालांकि, कंपनी ने अभी ये नहीं बताया है कि इस सर्विस के लिए कितना पैसा चार्ज किया जाएगा.

2. सबसे ज्यादा माइलेज-

भारत में पेट्रोल कितना महंगा होता जा रहा है ये शायद बताने की जरूरत नहीं है. ऐसे में 156 किलोमीटर का माइलेज काबिल-ए-तारीफ है. इसकी स्पीड 85 किलोमीटर की ही है. Ather 450 जो इसी रेंज में आएगी उसकी स्पीड 55-75 किलोमीटर प्रति घंटे की है.

कंपनी का दावा है कि इसकी बैटरी 4 घंटे के अंदर चार्ज हो सकती है.

3. अमेजन से कर सकते हैं बुक..

जैसा कि पहले बताया गया है इसे आसानी से अमेजन से बुक किया जा सकता है. इस गाड़ी को लेकर किसी भी तरह की कोई समस्या बुकिंग को लेकर नहीं आएगी. ऑनलाइन बुकिंग के साथ साथ ये गाड़ी अंतरराष्ट्रीय बाजार में बिकने वाली Super Soco TS गाड़ी जैसी ही है. इसे बनाने के लिए चीनी कंपनी से मदद भी ली गई थी, इसलिए ऐसा कहा जा सकता है कि ये भी उतनी ही भरोसेमंद हो सकती है.

Revolt Intellicorp RV 400, इलेक्ट्रिक गाड़ी, इलेक्ट्रिक गाड़ियांRevolt Intellicorp RV 400 माइलेज के नाम पर यूजर्स को बेहतरीन बैकअप देती है.

Revolt RV 400 में कुछ कमियां भी हैं..

सबसे पहली कमी जो इस गाड़ी में है वो है 85 किलोमीटर की स्पीड. बाइक को पसंद करने वाले लोग उसकी पावर को भी पसंद करते हैं. ये गाड़ी सिर्फ 85 किलोमीटर की स्पीड देती है जो कई लोगों को निराश कर सकती है. इसी रेंज में कई स्कूटर सेग्मेंट की गाड़ियां भी इससे ज्यादा स्पीड देती हैं.

दूसरी कमी ये कि कम स्पीड के साथ इसकी कीमत बहुत ज्यादा होगी. 1 लाख की गाड़ी अगर कोई खरीद रहा है तो वो स्पोर्ट्स बाइक भी खरीद सकता है जिसमें ज्यादा रोमांच मिल सकता है. इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर के साथ सबसे बड़ी समस्या भारतीय मार्केट में ये है कि उनके लिए कीमत ज्यादा चुकानी पड़ती है. अब यहां कार वाला मामला तो है नहीं कि लोगों को कंफर्ट भी दिख जाए और बचत भी. यहां गाड़ियों की डिजाइन से लेकर माइलेज और स्पीड तक सब कुछ देखा जा सकता है. 150 किलोमीटर का माइलेज अच्छा है और ये पूरा दिन आराम से निकाल सकता है, लेकिन अगर स्पीड की बात की जाए तो वो कम है. अब यहीं सोचिए कि अगर दिल्ली जैसे शहर में इस गाड़ी को लेकर कोई ऑफिस जाने के बारे में सोचे तो 1 चार्ज में पूरा दिन चल तो सकता है, लेकिन अगर यहीं कोई सोचे कि इस गाड़ी को यमुना एक्सप्रेस वे पर दौड़ा दिया जाए तो वहां इसकी चाल धीमी ही लगेगी. उसके अलावा, लुक के हिसाब से भी ये गाड़ी थोड़ी अलग है.

वैसे अगर ये दो कमियां किसी यूजर को समस्या नहीं लगती हैं तो ये गाड़ी बेहद काम की है और इसे अनोखी गाड़ी कहा जा सकता है. हालांकि, अभी भी कीमत का फैक्टर थोड़ा पेचीदा लग रहा है. पर ये गाड़ी कई नई गाड़ियों के लिए भारतीय मार्केट में दरवाज़े खोल सकती है. कुल मिलाकर राहुल शर्मा ने एक बार फिर वही कमाल किया है जो उन्होंने पहले माइक्रेमैक्स के साथ किया था.

ये भी पढ़ें-

1 लाख से ऊपर का इलेक्ट्रिक स्कूटर क्यों मेरे काम का नहीं है..

इलेक्ट्रिक गाड़ियों पर सरकार के 1.4 लाख आखिर कितने कारगर हैं?

लेखक

श्रुति दीक्षित श्रुति दीक्षित @shruti.dixit.31

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय