charcha me| 

होम -> स्पोर्ट्स

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 27 अगस्त, 2022 10:06 PM
देवेश त्रिपाठी
देवेश त्रिपाठी
  @devesh.r.tripathi
  • Total Shares

एशिया कप 2022 का आगाज 27 अगस्त से हो चुका है. पहला मैच श्रीलंका और अफगानिस्तान के बीच होना है. और, अगले मैच में 28 अगस्त को चिर प्रतिद्वंदी भारत और पाकिस्तान की क्रिकेट टीमें मैदान पर आमने-सामने होंगी. वहीं, इस टूर्नामेंट में टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली की ब्रेक से वापसी होगी. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान विराट कोहली लगातार तीन साल से अपनी खराब फॉर्म के चलते आलोचनाओं का शिकार हो रहे हैं. और, एशिया कप 2022 में विराट की वापसी से उम्मीद जताई जा रही है कि पाकिस्तान के खिलाफ मैच में कोहली अपनी फॉर्म में भी वापसी कर लेंगे. क्योंकि, एशिया कप में विराट कोहली का प्रदर्शन शानदार रहा है. 2012 के एशिया कप में विराट कोहली ने अपने बल्लेबाजी से पाकिस्तानी गेंदबाजों के पसीने छुड़ा दिए थे. तो, संभव है कि इस बार भी एशिया कप में विराट कोहली का करिश्मा दिख जाए.

पाकिस्तानी क्रिकेट टीम ने दिखाया था दम

18 मार्च 2012 को हुए एशिया कप में भारत बनाम पाकिस्तान का 5वां वनडे मैच शेरे बंगला नेशनल स्टेडियम में खेला गया था. बांग्लादेश की जमीन पर हुए इस मैच में पाकिस्तान को दर्शकों की भीड़ ने वैसे ही चियर किया था. जैसे बांग्लादेश की टीम के लिए चियर किया जाता है. पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी. नासिर जमशेद और मोहम्मद हफीज की सलामी जोड़ी बल्लेबाजी के लिए मैदान पर आई. और, कुछ ही देर में मोहम्मद हफीज और नासिर जमशेद की जोड़ी ने चौकों की जो बरसात की, तो गेंद भी बाउंड्री को छूने को बेताब नजर आने लगी.

इस सलामी जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 224 रनों की साझेदारी की थी. हफीज और नासिर के आगे टीम इंडिया ने 8 गेंदबाज उतार दिए थे. लेकिन, आखिर में रविचंद्रन अश्विन को सफलता मिली. और, नासिर जमशेद 112 रन बनाकर आउट हुए. इसके बाद तीसरी ही गेंद पर मोहम्मद हफीज भी 105 रन बनाकर पैवेलियन लौट गए. यूनिस खान के अर्धशतक और अन्य खिलाड़ियों की छिट-पुट बल्लेबाजी के साथ पाकिस्तान ने 50 ओवर में 329 रनों का टारगेट खड़ा कर दिया.

'गंभीर' हालात में सामने आई कोहली की 'विराट' पारी

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत बहुत अच्छी नहीं रही. सलामी बल्लेबाज के तौर पर गौतम गंभीर और सचिन तेंडुलकर क्रीज पर आए. लेकिन, पाकिस्तान के लिए बल्ले से कमाल दिखाने वाले मोहम्मद हफीज की दूसरी ही गेंद पर गौतम बिना खाता खोले शून्य पर आउट होकर टीम इंडिया को गंभीर स्थिति में छोड़कर पैवेलियन लौट गए. उसके बाद बल्लेबाजी करने उतरे विराट कोहली. सचिन तेंडुलकर और विराट कोहली के बीच 133 रनों की साझेदारी हुई. जिसके बाद सचिन तेंडुलकर 48 गेंदों में 52 रन बनाकर आउट हो गए. तब तक विराट कोहली भी अर्धशतक जमा चुके थे.

इसके बाद मैदान पर आए रोहित शर्मा बस विराट कोहली का साथ ही देते रहे. कोहली ने मैदान पर टिके रहते हुए खेला और शतक पूरा किया. और, इसके बाद कोहली ने 22 चौके और 1 छक्का जड़ते हुए 148 गेंदों पर 183 रन की पारी ठोंक डाली. टीम इंडिया को जीत के मुहाने पर लाकर विराट कोहली का विकेट 318 रन पर गिर गया. कोहली से पहले रोहित शर्मा भी 83 गेंदों पर 68 रन बनाकर आउट हो चुके थे. लेकिन, टीम इंडिया ने ये मैच 2.1 ओवर रहते ही 6 विकेट से जीत लिया. और, विराट कोहली को उनकी मैच विनर शतकीय पारी के लिए 'मैन ऑफ द मैच' भी मिला था.

मैदान पर वापसी से पहले कोहली ने कही दिल की बात

विराट कोहली ने स्टार स्पोर्ट्स को दिए एक इंटरव्यू में अपनी मेंटल हेल्थ को लेकर कई बातें कही हैं. विराट ने कहा कि '10 साल में पहली बार ऐसा हुआ कि मैंने पूरे एक महीने तक बल्ले को नहीं छुआ. मुझे एहसास हुआ कि मैं अपनी झूठी एनर्जी दिखाने की कोशिश कर रहा था. मैं खुद को आश्वस्त कर रहा था कि नहीं, तुममें जोश और जज्बा बरकरार है. लेकिन, शरीर रुकने के लिए कह रहा था. दिमाग मुझसे एक ब्रेक लेने और थोड़ा पीछे हटने के लिए कह रहा था. मुझे यह बात स्वीकार करने में कोई शर्म नहीं है कि मैं मानसिक तौर पर कमजोर महसूस कर रहा था. यह महसूस करना बहुत सामान्य बात है लेकिन हम इसके बारे में बात नहीं करते. क्योंकि, हम यह नहीं चाहते कि लोग हमें इस नजरिए से देखें. लेकिन यकीन रखिए, मजबूत होने का दिखावा करना कमजोर होने को स्वीकार करने से कहीं ज्यादा बुरा है.' 

बीते दिनों विराट कोहली ने वेस्टइंडीज और जिम्बाब्वे के खिलाफ टीम इंडिया की सीरीज से आराम लिया था. तो, माना जा रहा है कि इस ब्रेक के बाद उनकी फॉर्म में वापसी होना तय है. विराट कोहली के इंटरव्यू में कही गई बातों के आधार पर भी अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह मानसिक तौर पर पूरी तरह से मजबूत नजर आ रहे हैं. वैसे, अगर पाकिस्तान के खिलाफ विराट कोहली का बल्ला चल जाता है. तो, यकीनी तौर पर कहा जा सकता है कि उनका बल्ला टी20 वर्ल्ड कप में भी आग उगलेगा. खैर, भारत बनाम पाकिस्तान के मैच में पता चल जाएगा कि विराट कोहली ब्रेक के दौरान मानसिक तौर पर कितने मजबूत हुए हैं?

लेखक

देवेश त्रिपाठी देवेश त्रिपाठी @devesh.r.tripathi

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं. राजनीतिक और समसामयिक मुद्दों पर लिखने का शौक है.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय