होम -> स्पोर्ट्स

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 02 जुलाई, 2019 08:41 PM
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujkumarmaurya87
  • Total Shares

जब रविवार को India vs England मैच में भारत हारा तो बहुत सारे लोगों ने ये कहा कि भारत जानबूझ कर हारा है. पाकिस्तान की ओर से कहा गया कि भारत इसलिए हारा, ताकि पाकिस्तान का सेमीफाइनल्स में जाना मुश्किल हो जाए. आरोप लगाया गया कि भारत तो पाकिस्तान से डरता है, इसलिए हार गया. भला उन्हें कौन समझाए कि भारत जानबूझ कर नहीं हारता. भारत की फितरत में है जीतने के लिए खेलना, ना कि पाकिस्तान की तरह हारने के लिए. लेकिन ये भी कड़वा सच है कि भारत रविवार को इंग्लैंड से हार गया. तो फिर वजह क्या थी, जो भारत हार गया? India vs England के मैच में इसकी असल वजह पर शक हुआ था और India vs Bangladesh के मैच में वो शक यकीन में बदल गया.

वो वजह जिसके चलते हम हार रहे हैं, वो हैं धोनी. जब सचिन ने धोनी के प्रदर्शन पर सवाल उठाया तो धोनी के फैन्स ने सचिन की खूब आलोचना की थी, लेकिन अब धीरे-धीरे सचिन की बात सच होती नजर आ रही है. न तो धोनी इंग्लैंड के खिलाफ चल पाए, ना ही बांग्लादेश के खिलाफ उनके बल्ले ने कोई कमाल दिखाया. बांग्लादेश के खिलाफ तो उनसे बहुत उम्मीदें की जा रही थीं, क्योंकि इंग्लैंड से हारने के बाद फिर से उनके प्रदर्शन पर उंगलियां उठने लगी थीं. हालांकि, धोनी ने एक बार फिर निराश किया और सस्ते में चलते बने. इन सबसे एक बात तो साफ हो गई कि हम इंग्लैंड से जानबूझ कर नहीं हारे थे, बल्कि अब धोनी में वो बात नहीं रही. उनके बल्ले से रन नहीं निकल रहे हैं. अब उनके संन्यास लेने का वक्त आ गया है.

भारत vs बांग्लादेश, महेंद्र सिंह धोनी, विश्व कप 2019, क्रिकेटजिस वजह से भारत रविवार को इंग्लैंड से हारा था, उसी वजह से बांग्लादेश के सामने अधिक रन नहीं बना सका.

एक नजर धोनी के वर्ल्‍डकप पर

India vs South Africa: 46 गेंदों में 34 रन, 1 स्टंप

India vs Australia: 14 गेंदों में 27 रन, 1 कैच

India vs Pakistan: 2 गेंदों में 1 रन

India vs Afghanistan: 52 गेंदों में 28 रन, 1 स्टंप

India vs West Indies: 61 गेंदों में 56 रन, 1 स्टंप

India vs England: 31 गेंदों में 42 रन

India vs Bangladesh: 33 गेंदों में 35 रन

इस वर्ल्ड कप में अब तक भारत के 7 मैचों में धोनी की बल्लेबाजी पर सिर्फ सवाल ही उठे हैं. धोनी मिडिल ऑर्डर में आते हैं और उनके कंधों पर टीम का स्कोर आगे ले जाने की जिम्मेदारी रहती है. वैसे भी, धोनी हमेशा से इसी बात के लिए जाने जाते हैं कि वह मुसीबत की घड़ी में अपनी टीम को बाहर निकाल लेते हैं. लेकिन इस बार वर्ल्ड कप में उनका प्रदर्शन लगातार खराब ही रहा है. उनके बल्ले से रन निकल ही नहीं रहे हैं. भारत को इस बार अगर वर्ल्ड कप जीतना है तो उसके लिए धोनी का अच्छा प्रदर्शन करना बहुत जरूरी है.

महेंद्र सिंह धोनी के प्रदर्शन पर जब सचिन ने सवाल उठाए थे, तो सोशल मीडिया पर उन्हें खूब ट्रोल किया गया. यहां लोगों के ये बात समझनी होगी कि अब धोनी में वाकई वो दम नहीं रहा. इस समय धोनी 38 साल के करीब हो चुके हैं. लगभग इतनी ही उम्र 2011 के वर्ल्ड कप में सचिन की थी. उस समय सचिन अपने पीक पर थे. अब धोनी भी अपने पीक पर हैं. उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम को वो सब दे दिया है, जो वो दे सकते थे. एक-दो नहीं, बल्कि अनेकों मौकों पर भारतीय टीम को जीत दिलाई है. यहां तक कि वर्ल्ड कप और टी20 वर्ल्ड जिताया. लेकिन अब हर मैच में धोनी का प्रदर्शन सवालों के घेरे में रह रहा है. अब धोनी को ये समझने की जरूरत है कि उन्हें भी सचिन की तरह क्रिकेट को अलविदा कह देना चाहिए.

ये भी पढ़ें-

भारत की हार में पाकिस्तान को साजिश नज़र आ रही है

इधर India vs England मैच हो रहा था, उधर सोशल मीडिया पर नारेबाजी शुरू हो गई !

India vs England: भारत की जीत की दुआ के साथ हमें लगातार कोस रहा है पाकिस्तान!

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय