होम -> स्पोर्ट्स

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 10 जून, 2019 08:33 PM
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujmaurya87
  • Total Shares

कहते हैं 'बद अच्छा बदनाम बुरा'. यानी बदनामी ना हो तो बुरा आदमी भी भला है. ऑस्ट्रेलिया के कुछ क्रिकेटर्स पर बॉल टेंपरिंग करने की वजह से बदनामी का ऐसा दाग लगा है, जो धुलने का नाम ही नहीं ले रहा. 9 जून को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए मैच में भी कुछ ऐसा हुआ, जिसके बाद एक बार फिर से ऑस्ट्रेलिया पर बॉल टेंपरिंग का शक होने लगा है. दिलचस्प बात ये है कि बॉल टेंपरिंग में दोषी पाए जाने पर करीब साल भर के बैन के बाद स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर पहली बार मैदान में उतरे थे. अपनी एक बड़ी भूल की वजह से बॉल टेंपरिंग का दाग लिए ये खिलाड़ी मैदान में तो आए, लेकिन इस बार एक दूसरे खिलाड़ी पर बॉल टेंपरिंग का आरोप लग गया है.

यहां बात हो रही है ऑस्ट्रेलिया का लेग स्पिनर एडम जम्पा की. मैच के दौरान कैमरों ने कुछ तस्वीरें लीं, जिनमें एडम जम्पा अपनी जेब में हाथ डालकर कुछ करते दिख रहे हैं. यहां तक कि उनके हाथों में भी कुछ दिखाई दिया है. जैसे ही ये तस्वीरें सोशल मीडिया तक पहुंचीं, क्रिकेट के फैन्स ने उस पर अपनी प्रतिक्रियाएं देना शुरू कर दिया. सबसे कड़ी आपत्ति ये कहते हुए दर्ज कराई जा रही है कि एडम जम्पा ने भारत से हुए मैच के दौरान बॉल टेंपरिंग की थी.

तो क्या ये सच है?

बॉल टेंपरिंग के इस दावे में कितना सच है, इसकी पूरी तरह से पुष्टि तो नहीं हुई है, लेकिन कुछ संभावनाएं हैं, जो बॉल टेंपरिंग की घटना का नकार रही हैं. पहला तर्क तो ये है कि साल भर के बैन के बाद तो ऑस्ट्रेलिया के कुछ खिलाड़ी वापस टीम में आ सके हैं, ऐसे में वह दोबारा इस तरह की गलती नहीं करेंगे. वहीं दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया के कप्तान एरोन फिन्च का कहना है कि जम्पा बॉल टेंपरिंग नहीं कर रहे थे, बल्कि उनके हाथ में हैंड वॉर्मर था, जो वह हर मैच में अपने साथ रखते हैं. हालांकि, उन्होंने भी ये जरूर कहा कि उन्होंने तस्वीरें नहीं देखी हैं, लेकिन उन्हें यकीन है कि वह बॉल टेंपरिंग नहीं कर रहे थे. ऐसे में एक सवाल ये जरूर उठता है कि क्या हैंड वॉर्मर की इजाजत है? लेकिन ये भी सोचने वाली बात है कि अगर इजाजत नहीं होती तो फिन्च इस बात का खुलासा प्रेस कॉन्फ्रेंस में तो बिल्कुल नहीं करते.

विश्व कप 2019, सोशल मीडिया, एडम जम्पा, बॉल टेंपरिंगजैसे ही ये तस्वीरें सोशल मीडिया तक पहुंचीं, क्रिकेट के फैन्स ने उस पर अपनी प्रतिक्रियाएं देना शुरू कर दिया.

यूं तो अधिकतर लोग यही मान रहे हैं कि जम्पा ने बॉल टेंपरिंग ही की है, लेकिन इसकी पुष्टि नहीं हुई है. ना तो इसे लेकर कोई जांच की बात की गई है, ना ही किसी अंपायर ने मैच के दौरान कोई आपत्ति जताई थी. हां, दर्शकों ने जरूर स्मिथ वॉर्नर को चीटर (धोखेबाज) कहा था. जैसे ही स्मिथ मैदान पर आए तो भारतीय फैन्स उन्हें चीटर-चीटर कहकर चिढ़ाने लगे. हालांकि, विराट कोहली ने इस पर आपत्ति जताई और दर्शकों की ओर से स्मिथ से माफी मांगी. उन्होंने कहा कि जो गलती हुई थी, उसकी सजा उन्हें मिल चुकी है, अब उन्हें भी एक मौका मिलना चाहिए.

लेकिन सोशल मीडिया का क्या?

विराट कोहली ने स्मिथ वॉर्नर को चीटर कहने पर आपत्ति जताई तो हो सकता है कि दर्शक उनकी बात को समझ गए हों, लेकिन सोशल मीडिया का क्या? सोशल मीडिया पर तो लोग तरह-तरह की बातें कर रहे हैं. चलिए देखते हैं लोग क्या कह रहे हैं?

एक यूजर ने कुछ तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा कि क्या जम्पा बॉल टेंपरिंग कर रहे हैं? वहीं एक दूसरे यूजर ने भी यही सवाल एक वीडियो शेयर करते हुए पूछा.

हालांकि, कुछ ऐसे भी यूजर हैं जो इसे फेक न्यूज कह रहे हैं. एक यूजर ने लिखा- मैं क्रिकेट लवर हूं. कृपया कोई भी फेक न्यूज फैलाने से पहले उसे अच्छे से चेक कर लिया करें. ये इसलिए किया क्योंकि वहां का मौसम बहुत ठंडा है.

एक यूजर ने वेस्ट इंडीज के मैच की बात करते हुए लिखा कि इसका मतलब है कि आज तो पूरी वेस्टइंडीज ही बॉल टेंपरिंग कर रही है. सबसे हाथ उनकी जेब में हैं.

जम्पा के हाथ में हैंड वॉर्मर था या कुछ और? वह बॉल टेंपरिंग कर भी रहे थे या नहीं? आशंका तो बेहद कम है, लेकिन अभी तक जम्पा की ओर से या आईसीसी की ओर से कुछ नहीं कहा गया है. खैर, मौजूदा हालात ये मुमकिन नहीं लगता कि जिस दलदल में ऑस्ट्रेलिया की टीम एक बार फंस चुकी है, वह दोबारा उस ओर जाएगी भी. अब ये देखना दिलचस्प होगा कि आईसीसी की ओर से इस पर आधिकारिक रूप से क्या बयान आता है.

ये भी पढ़ें-

World Cup 2019 : गब्बर की सेंचुरी ने बता दिया वर्ल्ड कप तो टीम इंडिया ही लाएगी

World cup 2019: भारत से मुकाबले से पहले पाक के पैर कांपने लगे

दुनिया के 5 दिग्गज क्रिकेटरों ने वर्ल्डकप विजेता का अनुमान लगाया है

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय