होम -> स्पोर्ट्स

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 05 जुलाई, 2019 02:40 PM
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujmaurya87
  • Total Shares

इस बार के वर्ल्ड कप में पाकिस्तान एक के बाद एक 3 मैच हार गया, जिसकी वजह से उसका रन रेट काफी खराब हो गया और प्वाइंट भी नहीं मिल पाए. हालांकि, पिछले कुछ मैचों से पाकिस्तान ने अपना खेल काफी हद तक सुधार लिया है, लेकिन उनका सेमीफाइनल में पहुंचना इस बात पर निर्भर करता था कि इंग्लैंड या तो भारत से हार जाए या फिर न्यूजीलैंड से. दोनों से जीतने की वजह से अब इंग्लैंड सेमीफाइनल में पहुंच गया है और पाकिस्तान के सामने कोई रास्ता नहीं बचा है. यानी वर्ल्ड कप की रेस से उसका बाहर होना तय है. बल्कि यूं कहें कि पाकिस्तान इस वर्ल्ड कप से बाहर हो चुका है.

पाकिस्तान की टीम के वर्ल्ड कप से बाहर होने की सबसे बड़ी वजह टीम का अपसी मतभेद है. जब भारत ने पाकिस्तान को हराया था, तो कप्तान सरफराज अहमद ने साफ कहा था कि वह अकेले नहीं होंगे जो पाकिस्तान वापस लौटेंगे. उनका सीधा सा मतलब ये था कि सबसे वापस अपने देश जाकर जवाब देना होगा कि क्यों हारे हैं. उन्होंने टीम में गुटबाजी कर रहे लोगों पर भी निशाना साधा था. उसके बाद से ही पाकिस्तान की टीम का प्रदर्शन बेहतर हुआ है. अब ये साफ हो गया है कि पाकिस्तान इस वर्ल्ड कप से बाहर हो गई है. इसी बीच ये भी खबर आ रही है कि पाकिस्तानी टीम ने वापस देश लौटने की अपनी टिकट ही कैंसिल कर दी है. यानी अब वह देर से वापस लौटेंगे. खबर तो ये भी है कि सब अलग-अलग आएंगे.

पाकिस्तान, क्रिकेट, विश्व कप 2019खबर आ रही है कि पाकिस्तानी टीम ने वापस देश लौटने की अपनी टिकट ही कैंसिल कर दी है, ताकि जनता के गुस्से से खुद को बचा सकें.

टुकड़ों में छुप-छुप घर लौटेगी पाकिस्तानी टीम !

वर्ल्ड कप में जैसा प्रदर्शन पाकिस्तान की टीम ने किया है, उसके बाद वह ये तो अच्छे से समझ चुके हैं कि वतन वापस जाकर उनका कैसा स्वागत होगा. यही वजह है कि पाकिस्तानी टीम द्वारा अपनी टिकट कैंसिल कराए जाने की खबर आ रही है. वैसे भी, अभी पाकिस्तान की जनता काफी गुस्से में है. ऐसे में अगर खिलाड़ी वापस आए तो उनकी खबर तो ली ही जाएगी. इसी के चलते हो सकता है कि सारे खिलाड़ी एक साथ ना आएं, बल्कि टुकड़ों में वापस लौटें. वैसे भी, ये कोई नई बात नहीं है. मैच हारने के बाद मुह छुपाने के लिए अक्सर ही पाकिस्तानी खिलाड़ी ऐसा करते रहे हैं. कभी वह दुबई रुक जाते हैं तो कभी कहीं और. जब माहौल शान्त हो जाता है तो वापस आ जाते हैं. इस वर्ल्ड कप के दौरान पाकिस्तानी खिलाड़ियों के जैसे-जैसे वीडियो और तस्वीरें वायरल हुईं, उन्होंने पाकिस्तान की आवाम का गुस्सा भड़काने का काम किया.

पाकिस्तान के जियो टीवी के एक टॉक शो मशहूर स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट सैयद याह्या हुसैनी ने इस बात की जानकारी दी है. उन्होंने कहा- 'मैं आपको एक बिल्कुल नई जानकारी दे रहा हूं. पाकिस्तान के ज्यादातर प्लेयर्स ने देश वापसी के टिकट कैंसल करा लिए हैं. अब वो पहले की तरह टुकड़ों में कुछ दिन बाद स्वदेश लौटेंगे.' यहां आपको बताते चलें कि पाकिस्तान के ही एक गेंदबाज ये बात कह चुके हैं कि जब वह विश्व कप में हारने के बाद वापस देश पहुंचे थे तो उन पर अंडे और टमाटर फेंके गए थे.

सरफराज बहकी-बहकी बातें कर रहे हैं !

जब प्रेस कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तानी टीम के कप्तान सरफराज अहमद से पूछा गया कि ऐसे हालात में जब 500- 600 रन बनाने की जरूरत है तो वह क्या करेंगे? सरफराज ने कहा कि वह कोशिश करेंगे 500 रन बनाने की और बांग्लादेश को बड़े मार्जिन से हराने की. वह ये भी बोले कि अल्लाह ने चाहा तो ऐसा हो जाएगा. हालांकि, उन्होंने ये जरूर कहा कि मौजूदा हालात में इसकी संभावनाएं कम ही हैं. खैर, जो सरफराज ने कहा वो कह दिया, लेकिन सोशल मीडिया ने उन्हें नहीं बख्शा और वह एक बार फिर से ट्रोल हो गए. 500 रन बनाने की नामुमकिन बात कर देना साफ करता है कि सरफराज अहमद इस समय डरे हुए हैं.

पाकिस्तान की टीम में भेदभाव है, गुटबाजी है और आपसी मतभेद हैं, अब ये बात दबी छुपी नहीं रही है. ये साफ हो चुका है कि टीम के चुनाव में भाई-भतीजावाद खूब होता है. यही वजह है कि अब इमरान खान ने भी पाकिस्तान के घरेलू क्रिकेट के ढांचे में बदलाव करने की मंजूरी दे दी है. टीम पर सवाल इतने उठे कि शोएब मलिक पहले ही संन्यास लेने की घोषणा कर चुके हैं और विश्व कप में बांग्लादेश के साथ होने वाला मैच उनका आखिरी मैच होगा. खैर, पाकिस्तानी टीम कितने दबाव में है और कितनी चिंता में है, ये तो सबको दिख ही रहा है. 500 रन बनाकर बांग्लादेश को बुरी तरह हराना और सेमीफाइनल में पहुंच जाना तो पाकिस्तान के लिए नामुमकिन है, लेकिन ये देखना दिलचस्प होगा कि इतने दबाव में वह इस मैच को जीत भी पाते हैं या नहीं.

ये भी पढ़ें-

कौन कहता है पाक सेमीफाइनल में नहीं जा सकता, पाकिस्तानी खुद बता रहे हैं 5 रास्ते

रायुडू का करियर तो तभी खत्‍म हो गया था जब वो भज्‍जी से भिड़े थे!

4 कारण, अब धोनी को क्रिकेट से अलविदा कह देना चाहिए

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय