charcha me| 

समाज

 |  4-मिनट में पढ़ें  |   06-01-2019
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujmaurya87
  • Total Shares

जब कभी हम किसी शेल्टर होम में मासूम बच्चियों के साथ रेप होने की खबर देखते हैं, तो हैरान हो जाते हैं कि कोई मासूम बच्चियों के साथ ऐसा कैसे कर सकता है. लेकिन अमेरिका के एरिजोना में जो घटना हुई है, वह तो रूह कंपा देने वाली है. यहां एक ऐसी महिला ने बच्चे को जन्म दिया है जो पिछले 14 सालों से vegetative state में है. करीब 14 साल पहले डूबने की वजह से महिला की ऐसी हालत हो गई थी. हालांकि, अभी तक महिला की पहचान उजागर नहीं की गई है. आपको बता दें कि ये अवस्था काफी हद तक कोमा से मिलती-जुलती है. नर्सिंग होम को तो पता भी नहीं था कि महिला गर्भवती है, जब उसने बच्चे को जन्म दिया तब जाकर नर्सिंग होम को इस बात का पता चला.

एरिजोना फैमिली की खबर के मुताबिक महिला के साथ यौन शोषण होने के शक में जांच शुरू कर दी गई है, लेकिन 9 महीने पुराने रिकॉर्ड ढूंढ़ने और उन्हें खंगालने में दिक्कत हो रही है. इस घटना के बाद अब सवाल ये उठ रहा है कि आखिर किसी को पता कैसे नहीं चला? सवाल ये भी है कि ऐसी हालत में महिला के साथ किसने संबंध बनाए? कोई रिश्तेदार, स्टाफ का कोई सदस्य या किसी विजिटर ने महिला के साथ ऐसी घिनौनी हरकत की है. जो भी हो, कोमा जैसी हालत में पड़ी महिला का रेप करने वाला कोई हैवान ही हो सकता है.

रेप, महिला, कोमा, डिलीवरीएक ऐसी महिला ने बच्चे को जन्म दिया है जो पिछले 14 सालों से vegetative state में है.

कराहने की आवाज सुनकर हुई हैरानी

नर्सिंग होम में काम करने वाले स्टाफ को इसका पता तब चला जब महिला लेबर पेन की वजह से कराहने लगी. जब पास जाकर देखा तो पता चला कि महिला ने बच्चे (लड़के) को जन्म दिया है, जो फिलहाल स्वस्थ है. ये घटना फीनिक्स एरिजोना में स्थित Hacienda HealthCare में हुई है, जो नर्सिंग की सुविधाएं मुहैया कराता है. इस घटना की जांच के साथ-साथ इस बात की भी जांच की जा रही है कि वहां कोई और भी पीड़ित तो नहीं है, जिसके साथ ऐसी कोई घटना हुई हो. महिला के साथ हैवानियत करने वाले का पता लगाने के लिए डीएनए प्रोफाइलिंग की जा रही है. ये भी सुनिश्चित किया जा रहा है कि अगर महिला के कक्ष में कोई पुरुष जाए तो उसके साथ स्टाफ की कोई महिला जरूर हो. अब देखना ये होगा कि अपराधी पकड़ में आता है या नहीं.

क्या होता है vegetative state?

इस स्थिति की कोमा से तुलना तो की जा सकती है, लेकिन यह कोमा से थोड़ा अलग होता है. इस अवस्था में व्यक्ति जागता और सोता है, लेकिन उसे इस बात का जरा सा भी आभास नहीं होता कि उसके आसपास क्या हो रहा है. इस अवस्था में कभी-कभी मरीज आंखें भी खोल लेता है, कुछ आवाज भी निकाल सकता है और शरीर में हल्की हलचल भी दिखाई दे सकती है. लेकिन इन सबके बावजूद जिस तरह कोमा में पड़ा मरीज न कुछ सुन सकता है ना समझ सकता है, vegetative state में पड़े मरीज की हालत भी वैसी ही होती है. उसे कुछ समझ नहीं आता, कुछ सुनाई नहीं देता.

पहले भी आ चुकी हैं शिकायतें

ऐसा नहीं है कि Hacienda HealthCare नर्सिंग को लेकर पहली बार कोई शिकायत सामने आई है. एरिजोना फैमिली के मुताबिक 2013 में एक स्टाफ की महिला ने शिकायत की थी कि एक साथी कर्मचारी ने वहां रहने वाले मरीजों के बारे में सेक्शुअल कमेंट किए. मास्टरबेशन करने की खबरें भी चर्चा बनी थीं, जिसके बाद दोषी कर्मचारियों को निकाल दिया गया था. 2017 में बहुत सारी शिकायतें आईं. अभी तक तो ये नर्सिंग जैसे-तैसे सभी शिकायतों से निपटता रहा, लेकिन इस बार जो मामला सामने आया है, उसके बाद नर्सिंग एक बड़ी मुसीबत में फंस गया है.

कोमा जैसी हालत में पड़ी मरीज से रेप की ये घटना जितना हैरान कर रही है, उतने ही सवाल भी खड़े हो रहे हैं. सबसे बड़ा सवाल तो यही है कि आखिर महिला के गर्भवती होने का किसी को पता कैसे नहीं चला? नर्सिंग होम के बाकी स्टाफ को भले ही कुछ न पता हो, लेकिन जो शख्स (नर्स या कंपाउंडर) उस महिला की देखभाल कर रहा था, उसे भी ये कैसे पता नहीं चला? कहीं ऐसा तो नहीं कि इसमें वह शख्स भी अपराधी से मिला हुआ हो? सवाल ये भी है कि वो अपराधी है कौन और उसकी मानसिक हालत कैसी है जो उसने कोमा जैसी हालत में पड़ी महिला से रेप किया? इस मामले में सवाल कई हैं, लेकिन किसी के जवाब नहीं मिल रहे हैं. खैर, जांच जारी है और ये देखना दिलचस्प होगा कि आने वाले दिनों में इस घटना में क्या मोड़ आता है.

ये भी पढ़ें-

गांजे के 'आनंद' का बखान भी, और चेतावनी भी!

'एक बेटे की खातिर 7 डिलीवरी और दो अबॉर्शन सहने वाली मां की मौत', क्‍या वाकई हम 2019 में हैं?

'मुस्‍तफा विवाद' में नाना पाटेकर के बाद फंसा नरभक्षी बाघ

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय