होम -> समाज

 |  7-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 02 दिसम्बर, 2016 05:52 PM
बबिता पंत
बबिता पंत
  @babita.pant.73
  • Total Shares

इन दिनों आप किसी भी वेबसाइट या अखबार के लाइफस्टाइल और फैशन सेग्मेंट को देख लीजिए हर तरफ बस बॉलीवुड एक्ट्रेस करीना कपूर खान छाई हुई हैं. मैं ऐसे कई आर्टिकल पढ़ चुकी हूं जिनमें कहा जा रहा है कि करीना प्रेग्नेंसी के दौरान जिस तरह से खुद को कैरी कर रही हैं वह काबिले तारीफ है. कोई लिख रहा है कि करीना को देखकर लगता ही नहीं कि बस कुछ ही दिनों में वो बच्चे को जन्म देने वाली हैं. उनके चेहरे की फ्रेशनेस, शरीर की फिटनेस, बेबी बंप, फूड क्रेविंग, रैंप वॉक, फैशनेबल मैटरनिटी कपड़े, मैगज़ीन्स के लिए फोटो शूट, पति सैफ अली खान के साथ डेट नाइट, बहन करिश्मा और दोस्त अमृता के साथ लंच-डिनर के प्रोग्राम और इन सबसे बढ़कर उनके प्रोफेशनल कमिटमेंट्स पर बहुत कुछ लिखा जा चुका है.

kareena-kapoor-khan__120216052104.jpg
 प्रेगनेंसी में भी कर रही हैं रैंप पर वॉक

इन आर्टिकल्स में करीना की जमकर तारीफ हो रही है कि उन्होंने दूसरी अभिनेत्रियों की तरह प्रेग्नेंसी के दौरान काम करना बंद नहीं किया, बल्कि वो तो और भी ज्यादा एक्टिव हो गई हैं. यही नहीं उन्हें तो रोकना मुश्किल हो रहा है. लगभग सभी आर्टिकल्स में दूसरी महिलाओं को करीना से सीख लेने की बात कही गई है. एक आर्टिकल में मैंने पढ़ा कि दूसरी प्रेग्नेंट महिलाओं को ढीले-ढाले कपड़े पहनने और बुझी-बुझी दिखने के बजाए करीना से टिप्स लेकर खुद का मेकओवर करना चाहिए. एक जगह लिखा था कि जिस तरह से करीना अपनी प्रेग्नेंसी के आखिरी दिनों में भरपूर काम कर रही हैं उसी तरह बाकियों को भी एक्टिव रहना चाहिए.

ये भी पढ़ें- बॉलीवुड हिरोइनों के लिए इतने क्रूर कायदे क्यों !

ऐसे ऑनलाइन आर्टिकल्स के कॉमेंट् बॉक्स में जाकर लोग खूब कॉमेंट भी पोस्ट कर रहे हैं. इनमें से ज्यादातर कॉमेंट्स ऐसे हैं जिनमें करीना को लताड़ा गया है. लोगों ने लिखा है कि करीना तो फ्रेश दिखेंगी ही उन्हें कोई घर का काम थोड़ी न करना पड़ता है. उनके पास एक से बढ़कर एक डिजाइनर है तो फैशनेबल बनने में दिक्कत ही क्या है. अगर हमारे पास भी ऐसी सुविधाएं होती तो हम भी अपनी प्रेग्नेंसी के दौरान हमेशा टिप-टॉप बने रहते. कई महिलाओं ने कॉमेंट किया है कि करीना ने कोई झंडे नहीं गाड़ दिए हैं और वे भी अपनी डिलिवरी के दिन तक घर के सारे काम कर रही थीं.

cxrrhm4uaaatdpq_120216052116.jpg
 हाल ही में उन्होंने प्रेगनेंसी फोटोशूट कराया जिसकी हर तरफ तारीफ की जा रही है

दरअसल, मुझे दोनों ही बातें सही नहीं लगती हैं. मुझे उन आर्टिकल्स से भी दिक्कत है जिनमें करीना कपूर की प्रेग्नेंसी को राष्ट्रीय मुद्दा बनाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी जा रही है. मुझे ऐसे आर्टिकल्स पर मिल रही उन प्रतिक्रियाओं पर भी आपत्ति है जिनमें करीना को कोसा जा रहा है क्योंकि दो महिलाओं की प्रेग्नेंसी की तुलना करना ही पूरी तरह गलत है. आप किसी प्रेग्नेंट महिला को किसी दूसरी प्रेग्नेंट महिला का उदाहरण दे ही नहीं सकते. ये बात मेडिकल साइंस भी कहता है कि प्रेग्नेंसी के दौरान कुछ कॉमन सिम्टम्स होते हैं, लेकिन सभी महिलाओं की प्रेग्नेंसी और उसकी परेशानियां एक-दूसरे से अलग होती हैं. ऐसे में ये तुलना करना कितना सही है कि फलां इतनी एक्टिव है तो वो क्यों नहीं या फलां इसलिए एक्टिव है क्योंकि उसे मेरी तरह काम नहीं करना पड़ता.

ये भी पढ़ें- ओलंपिक ट्रायल में हार कर भी जीत गई ये खिलाड़ी

करीना की प्रेग्नेंसी जर्नी की तारीफ करने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन बाकि महिलाओं को उनसे सीख लेने की बात मुझे नहीं पचती. कई महिलाएं ऐसी होती हैं जिन्हें डॉक्टर शुरू से बेड रेस्ट की सलाह दे देते हैं. ऐसे में आप उन्हें दूसरी प्रेग्नेंट महिलाओं की तरह एक्टिव रहने के लिए नहीं कह सकते. कई महिलाओं को प्रेग्नेंसी के शुरुआती दिनों से लेकर डिलिवरी रूम में जाने तक उल्टियां होती रहती हैं. ऐसे में कई बार वे प्रेग्नेंसी के 283 दिनों तक सुस्त-सुस्त सी रहती हैं. यही नहीं प्रेग्नेंसी के दौरान आपका फुर्तिलापन आपके शरीर के डील-डौल और बेबी बंप के साइज़ पर भी निर्भर करता है. अगर कद-काठी ठीक-ठाक है और बेबी बंप बहुत बड़ा नहीं है तो आपको चलने-फिरने में ज्यादा दिक्कत नहीं होती है. आप बड़े आराम से जल्दी-जल्दी अपना काम निपटा सकते हैं. लेकिन इसके ठीक उलट अगर बंप बड़ा है तो ज़रा सा चलने में ही सांस फूलने लगती है. आमतौर हर प्रेग्नेंट महिला पहले की तरह ही अपने सारे काम कर रही होती है. हां, बस ऐसे वक्त उसे थोड़ी ज्यादा देखभाल की जरूरत होती है.  

kareena_120216052814.jpg
 मैगज़ीन्स के लिए भी फोटोशूट करवा रही हैं करीना

पूरी प्रेग्नेंसी के दौरान करीना ने जिस तरह से खुद को प्रेजेंट किया है उसके लिए वह वाकई तारीफ की हकदार हैं. यकीन मानिए यह हर कोई नहीं कर पाता. हां, भले ही उनके पास मदद करने वाले हाथों की कोई कमी नहीं. हां, यह भी सच है कि उन्हें घर की साफ-सफाई, खाना बनाने, कपड़े धोने, राशन-पानी, सब्जी-भाजी और दूसरे घरेलू कामों की चिंता करने की जरूरत नहीं. साथ ही उन्हें रोज सुबह उठकर ऑफिस जाकर काम करने की टेंशन भी नहीं है. लेकिन जिस प्रोफेशन में करीना हैं उसकी अपनी डिमांड और हेक्टिक शेड्यूल है.

प्रेग्नेंसी के दौरान अकसर सुबह के वक्त कमजोरी रहती है और बिस्तर छोड़ने का मन नहीं करता. अब जरा सोचिए कि ऐसे में अगर आपसे कोई कहे कि अरे आज तो फैशन शो में जाना है या फोटो शूट है. जल्दी उठो मेकअप करना है. ये वो मेकअप नहीं है जो आप इधर-उधर जाने के लिए करती हैं. करीना को किसी भी फोटो शूट या रैंप वॉक से पहले घंटों कुर्सी पर बैठकर मेकअप करवाना पड़ता है. चलिए मेकअप छोड़िए हम कपड़ों की बात करते हैं. प्रेग्नेंसी में मूड स्‍विंग होते रहते हैं. फैशनेबल कपड़े तो दूर की बात कभी-कभी तो उठकर तैयार होने का मन भी नहीं करता. लेकिन करीना हर वक्त प्रेजेंटेबल दिखती हैं और ऐसे में उनकी अच्छा दिखने की कोशिश को कम करके आंकना सही नहीं है.

ये भी पढ़ें- हर कामकाजी गर्भवती महिला को पता होने चाहिए ये अधिकार

प्रेग्नेंसी में फूड क्रेविंग बहुत ही कॉमन है. यही नहीं ज्यादा एनर्जी के लिए आपको ज्यादा कैलोरी की जरूरत होती है. ऐसे में महिलाएं बिना सोचे-समझे ज्यादा से ज्यादा खाने लगती हैं. क्रेविंग के नाम पर जो मन करे वो खाओ और कोई मना भी नहीं करता. करीना ने खुद कई इंटरव्यूज़ में कहा है कि वे हेल्दी चीज़ों के जरिए क्रेविंग्स मिटा रही हैं. उन्होंने बार-बार कहा है कि प्रेग्नेंसी का ये मतलब नहीं कि बस खाते जाओ. क्रेविंग्स होती हैं, लेकिन उन्हें कंट्रोल भी करना पड़ता है. यही नहीं वह फिट रहने के लिए अभी भी योग कर रही हैं. ऐसे में जो महिलाएं करीना को कॉमेंट्स में कोस रही थीं क्या वो अपने दिल पर हाथ रखकर बता सकती हैं कि उन्होंने अपनी प्रेग्नेंसी में योग करना तो दूर डॉक्टर की बताई हुई एक्सरसाइज को बिना नागा किए कितनी बार किया है.

हालांकि डॉक्टर्स भी कहते हैं कि प्रेग्नेंसी कोई बीमारी नहीं बल्कि एक अवस्था है. इसे आप अगर बीमारी समझेंगे तो आप हर वक्त बीमार ही रहेंगे, लेकिन इसे फेज़ मानेंगे तो रास्ता आसान हो जाएगा. लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि हम एक प्रेग्नेंट महिला की तुलना दूसरी प्रेग्नेंट महिला से करने लगें. अगर कोई प्रेग्नेंट महिला डिलिवरी के एक दिन पहले तक ऑफिस जाती है या घर के काम निपटाती है तो ये अच्छी बात है लेकिन हर किसी से ऐसी उम्मीद रखना सरासर गलत है. हर एक के शरीर की अपनी क्षमता है और उसकी तकलीफें भी अलग-अलग हैं. हां, यह भी सच है कि अगर आपको अपने आस-पास कोई ऐसी प्रेग्नेंट महिला दिखती है जो फिट है, एक्टिव है तो उससे टिप्स लेने में कोई हर्ज़ भी नहीं है.

Kareena Kapoor, Pregnant, Pregnancy

लेखक

बबिता पंत बबिता पंत @babita.pant.73

लेखक आजतक में एसोसिएट एडिटर हैं

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय