होम -> समाज

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 05 अप्रिल, 2017 03:23 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

मशहूर वकील और पूर्व कानून मंत्री राम जेठमलानी और सुर्खियों का चोली-दामन का साथ है. वो कुछ भी करते हैं तो खबर बन जाती है. सोमवार (3 अप्रैल) को जेठमलानी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अरूण जेटली के खिलाफ मानहानि के मुकदमे में पैरवी के एवज में 3.42 करोड़ रुपये का बिल थमा दिया. फिर क्या था मीडिया टूट पड़ी.

अब इसके बाद आम जनता का ये सोचना लाजमी है कि आखिर हमारे यहां पर वकीलों को कितनी फीस मिलती है कि वो मुवक्किल को करोड़ों का बिल थमा रहे हैं! तो हम लाए हैं आपके लिए देश के उन वकीलों के फीस की डिटेल जो हर सुनवाई का 15 लाख या उससे ऊपर चार्ज करते हैं. संभवत: हमारे देश के ये वकील विश्व के सबसे महंगे वकीलों में हैं.

देश के सबसे महंगे वकील में 93 साल के राम जेठमालिनी का नाम आता है. अपनी एक सुनवाई के लिए वो 25 लाख और उससे ज्यादा फीस चार्ज करते हैं. उनके बाद नंबर फली एस नरीमन का आता है जो एक सुनवाई के लिए 8-15 लाख के बीच चार्ज करते हैं. एक अंग्रेजी वेबसाईट लीगली इंडिया ने 42 वकीलों का इंटरव्यू कर देश के नामी वकीलों के फीस की लिस्ट बनाई है. नीचे देखिए कौन से वकील कितनी फीस लेते हैं-

1- राम जेठमलानी

सुप्रीम कोर्ट- 25 लाख और उससे ज्यादा

ram_jethmalani_650_040417034245.jpg25 लाख और उससे है इनकी फीस

दिल्ली हाई कोर्ट- 25 लाख और उससे ज्यादा

2- फली नरीमन

सुप्रीम कोर्ट- 8-15 लाख

fali_s_nariman_650_040417034400.jpg

3- के के वेणुगोपाल

सुप्रीम कोर्ट- 5 से 7.5 लाख के बीच

kk-venugopal_650_040417034512.jpg

दिल्ली हाई कोर्ट- 7 से 15 लाख के बीच

4- गोपाल सुब्रमण्यम

सुप्रीम कोर्ट- 5.5 से 15 लाख के बीच

gopal-subramanium_65_040417035834.jpg

दिल्ली हाई कोर्ट- 11 से 16.5 लाख के बीच

5- पी चिदंबरम

सुप्रीम कोर्ट- 6-7 लाख के बीच

p-chidambaram_650_040417035844.jpg

दिल्ली हाई कोर्ट- 7-15 लाख के बीच

6- हरीश साल्वे

सुप्रीम कोर्ट- 6-15 लाख के बीच

harish-salve_650_040417035900.jpg

दिल्ली हाई कोर्ट- 6-15 लाख के बीच

7- अभिषेक मनु सिंघवी

सुप्रीम कोर्ट- 6-11 लाख के बीच

abhishek_650_040417035928.jpg

दिल्ली हाई कोर्ट- 7-15 लाख के बीच

8- सी ए सुंदरम

सुप्रीम कोर्ट- 5.5 से 16.5 लाख के बीच

9- सलमान खुर्शीद

सुप्रीम कोर्ट- 5 लाख और उससे ज्यादा

salman-khurshid_650_040417035947.jpg

दिल्ली हाई कोर्ट- 8-11 लाख के बीच

10- के टी एस तुलसी

सुप्रीम कोर्ट- 5 से 6 लाख के बीच

kts-tulsi_650_040417035957.jpg

दिल्ली हाई कोर्ट- 8 से 9 लाख के बीच

11- शांति भूषण

सुप्रीम कोर्ट- 4.5 से 6 लाख के बीच

shanti-bhushan_650_040417040009.jpg

दिल्ली हाई कोर्ट- 4.5 से 6 लाख के बीच

12- कपिल सिब्बल

सुप्रीम कोर्ट- 5 से 15 लाख के बीच

kapil-sibal_650_040417040018.jpg

दिल्ली हाई कोर्ट- 9 से 16 लाख के बीच

13- दुष्यंत दवे

सुप्रीम कोर्ट- 5.5 से 10 लाख के बीच

dushyant-dave_650_040417040030.jpg

दिल्ली हाई कोर्ट- 5.5 से 10 लाख के बीच

एक वकील के अनुसार देश के अधिकतर वरिष्ठ या नामी गिरामी वकील आम मामलों में अपने मुवक्किल से 5 से 7 लाख रूपए की फीस चार्ज करते हैं. राम जेठमलानी देश के वरिष्ठतम और सबसे महंगे वकील हैं. कई वकीलों ने बताया कि जेठमलानी एक केस के लिए 25 लाख और ज्यादा चार्ज करते हैं. जेठमलानी, अमीर मुवक्किलों के लिए अपनी फीस में कोई कोताही नहीं करते लेकिन गरीबों और जरुरतमंदों के लिए वो 'प्रो बोनो' यानि की बिना फीस लिए केस लड़ते हैं.

देश के पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम सुप्रीम कोर्ट में एक बार पेश होने के लिए 6-7 लाख रूपए के बीच चार्ज करते हैं. वहीं पूर्व राज्यसभा सदस्य फली एस नरीमन सुप्रीम कोर्ट में एक बार पेशी के लिए 11 से 15 लाख के बीच की कीमत लेते हैं. हालांकि नरीमन अब ना के बराबर केस लेते हैं. वो ऐसे ही केस में हाथ डालते हैं जिसमें कानून को चैलेंज किया गया है. साथ ही वो दिन में एक केस से ज्यादा नहीं लेते.

इसी तरह अभिषेक मनु सिंघवी सुप्रीम कोर्ट में एक दिन की पेशी के लिए 6 लाख रूपए और हरीश साल्वे की फीस 15 लाख तक होती है. हालांकि सभी वकीलों की फीस की रकम कितनी होगी इसके पीछे कई सारे फैक्टर होते हैं. जैसे केस की पेचीदा या फिर कितना इंटरेस्टिंग है. वकील से मुवक्किल का रिश्ता क्या और कैसा है जैसे कई फैक्टर फीस कितनी होगी इसे तय करने में मुख्य भूमिका निभाते हैं.

वैसे हफ्ते के दिनों से भी वकीलों की फीस पर फर्क पड़ता है. सुप्रीम कोर्ट में सोमवार और शुक्रवार को वकीलों की फीस सबसे कम होती है. क्योंकि इन दिनों में कोर्ट नए मामलों की सुनवाई करनी है या नहीं ये फैसला लेती है. मंगलवार, बुधवार और बृहस्तपतिवार को सुप्रीम कोर्ट केसों में बहस सुनती है. और सिब्बल, संघवी और साल्वे जैसे वकीलों की फीस 11 से 15 लाख के बीच होती है.

हमारे यहां एक कहावत है कि अस्पताल और अदालत के चक्कर से जितना दूर रहें उतना अच्छा. वकीलों के इस फीस का चिट्ठा देखकर समझ आ ही गया कि आखिर क्यों ये कहावत बनी.

ये भी पढ़ें-

अब क्या कहेंगे, सुप्रीम कोर्ट भी 'भगवा' और 'भक्त' हो गया ?

एमसीडी चुनाव मुख्यमंत्री केजरीवाल के लिए अग्नि परीक्षा

दिल्ली में नज़ीब के बाद बैजल जंग!

Lawyer, Fees, Case

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय