होम -> समाज

 |  7-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 20 जनवरी, 2018 12:02 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

पापा सैफ अली खान की अंगुली पकड़े स्टाइल में चलते तैमूर... 

मम्मी करीना कपूर की गोद में अंगूठा चूस मंद-मंद मुस्कुराते तैमूर...

करीना की गोद से उनकी बेस्ट फ्रेंड पिंकी आंटी की गोद में जाते तैमूर...

काम वाली सक्खू बाई की चुटिया खींचते तैमूर...

मुंह से निकली लार से गुब्बारा बनाते तैमूर...

सोते हुए पापा सैफ अली खान की नाक में अंगुली डाल उसे घुमाते, उनके मुंह पर थप्पड़ लगाते तैमूर...

एअरपोर्ट से बाहर आते तैमूर...

मम्मी पापा को किस देते तैमूर...

पापा सैफ अली खान ने कहा बहुत शरारती हो गए हैं तैमूर...

करीना कपूर और सैफ अली खान के अलावा सबकी आंखों के तारे हैं तैमूर...

विदेश में घूमते तैमूर... तैमूर ये-तैमूर वो, तैमूर ऐसे-तैमूर वैसे...     

तैमूर अली खान, सैफ अली खान, मीडिया, करीना कपूर  जिस तरह एक बच्चे का बाजारीकरण किया जा रहा है वो गहरी चिंता का विषय है

सैफ अली खान और करीना कपूर के बेटे तैमूर की स्माइल, उनकी क्यूटनेस और उनकी नीली आंखें मेन स्ट्रीम मीडिया से होते हुए सोशल मीडिया तक नशा फैला रही हैं. नन्हें तैमूर से जुड़ी खबर हो या फिर उनकी कोई नई तस्वीर, कुछ भी आए वो वायरल हो जाता है.

जिस उम्र में हमारे आपके बच्चों के मुंह पर मक्खियां भिनभिनाती हैं, आंखों पर काजल फैला रहता है, जिस्म में गर्मी के कारणवश घमौरियां निकली रहती हैं, शरीर से सरसों के तेल की महक आती है और गाल से लेकर हाथ पैरों और कमर तक मच्छरों ने काट-काट के उसे लाल कर दिया होता है. उस उम्र में सैफ और करीना के बेटे तैमूर सेलेब्रिटी स्टेटस हासिल किये हुए हैं. कहा जा सकता है कि जो हालात हैं, उनके मद्देनजर वो दिन दूर नहीं जब सबसे तेज चलने और आगे निकलने की होड़ में हमारा मीडिया तैमूर की सूसू-पॉटी तक को दिखा देगा और उसे वायरल खबर बताएगा.

इस मुद्दे पर ध्यान दीजिये, मिलेगा कि मां करीना कपूर और पिता सैफ अली खान के अलावा, हमारी मीडिया तक ने तैमूर को हव्वा बना दिया है और ऐसा बहुत कुछ कर दिया है जो गहरी चिंता का विषय है. तैमूर का हिंदुस्तान की जमीन पर पैदा होना और हमारी मीडिया द्वारा उनसे जुड़ी खबर के पल-पल के अपडेट देना वैसा ही है.जैसा मंगल से किसी एलियन का आना और हमारे घर के नजदीक किसी चाय की टिपरी पर बैठकर चाय में डुबा के मठरी खाना. और हमारी मीडिया का ओबी लगा लगाकर उसे दिखाना. साथ ही ये बताना कि ये एलियन कितना खतरनाक है. कैसे ये एक हाथ से 1000 पुश-अप मार सकता है और सिर्फ पैर के बल पर पूरा बदन उसपर टिका सकता है.

बात बहुत साफ है. बच्चे तो बच्चे होते हैं और हर बच्चा अपने में क्यूट है और अपने मां-बाप की आंखों का तारा और दादा-दादी का राजदुलारा है. मैं औरों का नहीं जानता. मगर हां, मुझे तो तैमूर समेत इंसानों के बच्चों के अलावा चूहे, छिपकली, मुर्गी, बकरी,गाय कुत्ते और बिल्ली तक के बच्चे अच्छे लगते हैं. मैं डिस्कवरी या एनिमल प्लानेट पर जिराफ, विल्डर बीस्ट, जेब्रा, मेंढक और ब्लैक माम्बा तक के बच्चों को देखकर उसी तरह हैरत में पड़ जाता हूं जो हैरत मुझे बगल वाले गुप्ता जी के 6 महीने के बेटे गुड्डू को देखकर होती है. मुझे 6 महीने का गुड्डू भी क्यूट लगता है और जिराफ, विल्डर बीस्ट, जेब्रा, मेंढक और ब्लैक माम्बा के बच्चे भी क्यूट लगते हैं. मैं बच्चों की सुन्दरता में फर्क नहीं कर पाता. न ही मैं बच्चों को इस आधार पर बांट पाता हूं कि किस बच्चे की स्माइल ज्यादा क्यूट है किसकी कम क्यूट है. मुझे लगता है कि दुनिया में चाहे बच्चा हम इंडियंस का हो या सुदूर उत्तर अमेरिका के किसी रेड इंडियन का. नीग्रो के बच्चों से लेकर मंगोलिया, जापान और चीन तक, सभी बच्चे मुझे क्यूट और उनकी स्माइल मन मोह लेने वाली लगती है.

एक्टर सैफ अली खान और करीना कपूर का बेटा तैमूर भी मेरी नजरों में एक आम बेटा है. एक ऐसा बेटा जो वही कर रहा है जो मेरे और आपके घरों के बेटे करते हैं जैसे पानी खोल कर उसमें खेलना, मुंह में अंगूठा डाल कर उसे चूसना, स्माइल लिए हुए खुश होना, जरा-जरा सी बात पर गुस्सा हो जाना, भूख लगने पर दूध की जिद करना, बुखार आने पर सुस्त पड़ना. अब इन सब बातों को तैमूर में देखिये. तैमूर वही कर रहे हैं जो हमारे घरों के बच्चे और हम और आप करके बड़े हुए हैं.

व्यक्तिगत रूप से मुझे तैमूर को देखकर दुःख होता है और साथ ही गुस्सा आता है उसके मां-बाप पर. ऐसा इसलिए क्योंकि इस तरह की लाइम लाइट देकर हम सबसे ज्यादा नुक्सान बच्चे का कर रहे हैं. चलिए ठीक है आज तैमूर छोटा है तो उसे मीडिया के कैमरे मिल रहे हैं मगर कल का सोचिये जब वो बड़ा होगा. क्या तब उसे ये सब मिल पाएगा? सीधा जवाब है नहीं. इसकी वजह शायद आप भी जानते हों तब कोई नया सेलेब्रिटी बच्चा मीडिया के सामने होगा और जनता भी एक ही बच्चे की तारीफों के हिस्से बार-बार सुन बोर हो जाएगी.

इसके अलावा अगर बात बच्चे की हो तो निश्चित तौर पर अब तक मिल रही मीडिया लाइमलाइट के बाद उपजे खालीपन से बच्चा गहरे अवसाद में चला जाएगा और तब स्थिति वाकई बहुत गंभीर होगी मां करीना कपूर पिता सैफ अली खान और बच्चे तैमूर के लिए. हालांकि उम्मीद कम है मगर ऐसा मेरा विश्वास है कि वो दिन दूर नहीं जब सैफ करीना या और कोई सेलेब्रिटी इस बात को समझेगा और अपने परिवार को अपने निजी रिश्तों को इस तड़क भड़क, इस चका चौंध से दूर रखेगा.

तैमूर अली खान, सैफ अली खान, मीडिया, करीना कपूर  निश्चित तौर पर हम एक बच्चे की मासूमियत के साथ घिनौना मजाक कर रहे हैं

खैर, मैं जानता हूं फिल्हाल मेरी कही बात का कोई फायदा नहीं है. ये सारी बातें अंधेरे में तीर मारने जैसी हैं. कल फिर वही मैं सुनूंगा कि

सूसू कर उसपर उछलते तैमूर...

पीली टोपी लगाए नीली आंखों वाले तैमूर... मम्मी पापा से भी कहीं आगे, जबरदस्त फैन फॉलोइंग रखते हैं तैमूर...

वो तैमूर जिनकी एक स्माइल की दीवानी हैं हजारों लड़कियां....

देखिये कैसे मैरून ड्रेस में किसी शहजादे से इठला रहे हैं तैमूर...

वो तैमूर जिनकी क्यूटनेस के दीवाने हैं देश-विदेश के करोड़ों लोग...

लोकेशन पर पापा को काम नहीं करने देते हैं तैमूर...

शूटिंग से वापस आने के बाद 15 मिनट मम्मी करीना को घूरते और भाव खाते हैं तैमूर... तैमूर ये-तैमूर वो, तैमूर ऐसे-तैमूर वैसे   

ये भी पढ़ें -

अगर ‘तैमूर’ से नफरत है तो असली तैमूर यहां है..

मैं महसूस करता हूं 'गंगा-जमुनी तहज़ीब' वाले नाम की ताकत

एक हैं हिटलर त्रिपाठी... आखिर नाम में क्या रखा है?

Taimur, Saif Ali Khan, Kareena Kapoor

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय