होम -> समाज

 |  3-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 01 दिसम्बर, 2019 12:06 PM
नवेद शिकोह
नवेद शिकोह
  @naved.shikoh
  • Total Shares

Dr. Priyanka Reddy की हृदयविदारक हत्या के साथ संवेदनाओं की मौत और इंसानियत के बलात्कार की भी खबर आई है. डॉ. प्रियंका के साथ जो हुआ, उसपर दुख व्यक्त करने वाले समाज के एक हिस्से ने और भी दुखी कर दिया है. ये हत्या इंसानियत को शर्मसार करने वाली है. हम सब का दिल दहलाने वाली है. ये घटना डराने वाली है. आदमी के अंदर छिपे जंगली दरिंदों और हैवानों की तस्दीक़ करने वाली है. लेकिन इन सच्चाईयों के एहसास कहीं नजर नहीं आ रहे हैं. सोशल मीडिया पर इस घटना पर पेश होने वाले रिएक्शन्स और भी डरावने हैं. प्रतिक्रिया देने वालों के एक सिरे पर हैं वे लोग जो मोदी से नफरत करते हैं, और दूसरे सिरे पर हैं मुसलमानों के खिलाफ एजेंडा चलाने वाले.

Dr. Priyanka Reddy rape and murder case पर हमारी प्रतिक्रियाएं बता रही हैं कि हमारे अंदर इस ज़ुल्म को अंजाम देने वाले जैसा ही हैवान है. हमारे अहसास शून्य हो गये हैं. बेटी और बहन जैसी इस महिला के साथ जो ज़ुल्म हुआ उसपर संवेदनाओं के छल पर गौर कीजिए. कलेजा फाड़ देने वाली इस खौफनाक हत्या पर दो खेमों में बंटा समाज अपना-अपना एजेंडा चलाने लगा. जो सरकार से एकतरफा नफरत करते हैं. जिन्हें मोदी सरकार उसमें बैठे लोग यानी भाजपा फूटे आंख नहीं भाती उनकी वो संवेदनाओं की आड़ में सरकार को घेर रहे हैं. विरोधियो को सरकार के नारे- 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' पर तंज करने का बहाना मिल गया. मामला भले तेलंगाना का है लेकिन सोशल मीडिया पर कुछ लोग कानून व्यवस्था को लेकर सरकार पर मोदी सरकार पर ही हमलावर होने लगे.

dr priyanka reddy murderप्रियंका रेड्डी की हत्या पर दो खेमों में बंटा समाज अपना-अपना एजेंडा चलाने लगा

हम अपने अंदर और अपने समाज के भीतर पनप रही हैवानियत पर गौर नहीं कर रहे. डाक्टर प्रियंका की दर्दनाक हत्या को धर्म और जाति के चशमे से देखा जा रहा है. हिन्दू-मुस्लिम और बड़ी जाति और छोटी जाति की बातें हो रही हैं. फिकरे कसे जा रहे हैं- 'प्रियंका फलां जाति की होती तो फलां जाति का समाज मोमबत्तियां लेकर निकल पड़ा होता.'

एक तबका इस हत्या को हिन्दू-मुस्लिम के रंग से रंगने में जुट गया. इस संगीन जुर्म का प्रमुख आरोपी मोहम्मद पाशा चिंकी मुस्लिम है, ऐसे में इस अपराध को हो हिन्दू-मुस्लिम बना दिया गया. लोग सोशल मीडिया में लिख रहे हैं- ओवेसी के इलाके में एक खास मजहब के लोगों ने ही ये जुल्म ढाया होगा. पंचर बनाने वालों की जमात के सिवा और किसका इतना पत्थर दिल होगा!

रोंगटे खड़े करने वाली इस हत्या पर सोशल मीडिया पर हो रही चर्चाएं हत्या से कम डरावनी नहीं हैं. ना जाने किस नफरत के जहर ने हमें इतना संवेदनहीन कर दिया है कि हम अंदर ही अंदर डरावने से राक्षस बने जा रहे है, प्रियंका के कातिलों की तरह.

ये भी पढ़ें-

खबरदार, डॉ. प्रियंका रेड्डी को निर्भया बिल्‍कुल मत कहना

डॉ. प्रियंका रेड्डी बनना तुम्हारा भाग्य नहीं बेटियों, अब उठो...

लीजिए, डॉ. प्रियंका रेड्डी को भी गलत साबित कर ही दिया!

Dr. Priyanka Reddy, Hyderabad Nirbhaya, Rape, Women Safety, Telangana Govt, Beti Bachao Beti Padhao

Priyanka Reddy Veterinary Doctor, Priyanka Reddy Case Social Media Reactions , Hyderabad News

लेखक

नवेद शिकोह नवेद शिकोह @naved.shikoh

लेखक पत्रकार हैं

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय