charcha me | 

होम -> समाज

 |  3-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 19 जून, 2019 03:46 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

चेन्नई में बस की छत से करीब 24 छात्र गिर गए. शुक्र है ये सभी सही सलामत हैं. इनके गिरने का वीडियो देखकर आज प्रभु देवा बड़े याद आए. उनका उर्वशी उर्वशी गाना तो सभी को याद होगा. वही जिसमें वो अपने दोस्तों के साथ बस की छत पर ताबड़-तोड़ डांस करके बस में बैठी लड़कियों के सामने हीरो बन रहे थे. एक हीरो के लिए हीरोगिरी दिखाना कितना जरूरी है ये तो हम सभी जानते हैं. वो बस या ट्रेन की छत पर चढ़कर ठुमके न लगाएं और स्टंट न दिखाएं तब तक उनका हीरो जन्म सफल नहीं होता.

लेकिन चेन्नई के इन छात्रों को कोई कैसे समझाए कि रील और रियल लाइफ में फर्क होता है. कैसे इन्हें समझाएं कि फिल्मों में बस की छत पर चढ़कर नाचने से भले ही X Factor नजर आता हो, लेकिन रियल लाइफ में बस की छत पर नाचेंगे तो इज्जत का सिर्फ कचरा ही होता है, और अगर बदकिस्मत रहे तो हाथ-पैर टूट भी सकते हैं.

bus day in chennaiबस पर चढ़कर नाचने वाले छात्र एक ही पल में अर्श से फर्श पर आ गए

गर्मियों की छुट्टियों के बाद चेन्नई में जब कॉलेज खुले तो छात्र सुपर एक्साइटेड थे. पुलिस के मुताबिक पुराने छात्रों ने फ्रेशर्स को बस डे सेलिब्रेट करने के लिए मनाया. और सभी ने मिलकर बस पर हुड़दंग करना शुरू कर दिया. छात्र बस की छत पर चढ़ गए और नाचने लगे. कोई खिड़की पर लटक रहा था तो कोई दरवाजे पर. लेकिन सभी अपने-अपने स्टाइल में हीरोगिरी दिखाकर बस डे सेलिब्रेट कर रहे थे. लेकिन अचानक बस ने ब्रेक मारे और सब के साब सड़क पर गिर गए. वो तो गनीमत रही कि इन्हें गंभीर चोटें नहीं आईं.

पुलिस ने 24 छात्रों को बस की छत पर सफर करने और हुड़दंग करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. रोयापेट्टाह में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया जिसमें कॉलेज के छात्रों ने बस की छतों पर हंगामा किया था. लेकिन पुलिस ने छात्रों और उनके पेरेंट्स को बुलाया और छात्रों को वार्निंग देकर छोड़ दिया. छात्रों ने ये सब तब किया जबकि मद्रास हाइकोर्ट ने पहले ही बस डे मनाने पर रोक लगा रखी थी. कोर्ट का मानना था कि ऐसे सेलिब्रेशन से बस यात्रियों और सड़क का इस्तेमाल करने वाले लोगों को खतरा हो सकता था.

prabhudeva on busक्या आज की जेनेरेशन को रियल लाइफ रील लाइफ का फर्क समझ नहीं आता

वैसे सिर्फ चेन्नई ही क्यों हमारे देश में तो बसों और ट्रेन की छत पर सफर करने वालों की भरमार है. कोई टिकट से बचने के लिए छत पर सफर करता है तो कोई खुद को सबसे अलग दिखाने के चक्कर में. लेकिन असल में वो सिर्फ अपनी जान पर खेल रहे होते हैं. ये देश के उस राज्य में हुआ जिसे भारत का सबसे ज्यादा साक्षर राज्य कहा जाता है. यहां सबसे ज्यादा पढ़े-लिखे लोग रहते हैं, फिर भी हरकतें अनपढ़ों जैसी कर दी. लेकिन कॉलेज के छात्रों से तो कम से कम समझदारी की उम्मीद की जा सकती है. लेकिन क्या करें आज के कॉलेज जाने वाले छात्र खुद को किसी हीरो से कम कहां समझते हैं. पर इस हरकत ने उन्हें जीरो ही साबित किया है.

आप तो प्रभुदेवा का डांस देखो और चिल करो...

ये भी पढ़ें-

TikTok पर इन महिलाओं को देखकर लगता है कि 'वो 4 लोग' अब नहीं रहे

सिलेक्टर मौलाना, कप्तान हाफिज-ए-कुरान, पाकिस्तान टीम का तो अल्लाह ही मालिक

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय