होम -> समाज

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 14 अक्टूबर, 2020 09:44 PM
  • Total Shares

योग गुरू बाबा रामदेव (Yoga Guru Baba Ramdev) हमेशा कुछ नया करने की कोशिश में लगे ही रहते हैं. यही नया करने की कोशिश में कभी कभी वह अपना ही मज़ाक बना बैठते हैं. अब हाल में ही जिसके लिए उनका मज़ाक बन रहा है वह क्रिया भी अलग ही है. वह हाल ही में योग प्रशिक्षण दे रहे थे इसी दौरान संत गुरू शरणानंद के लिए सजी हुई हथिनी पर उनकी निगाह पड़ गई. बाबा ने न आंव देखा न तांव चढ़ गए हथिनी पर और हथिनी पर बैठकर ही योग कराना शुरू कर दिया. इसी योग के दौरान हथिनी ने अपने कानों के साथ शरीर को तेज़ी से हिलाया डुलाया तो हथिनी पर सवार बाबा रामदेव का संतुलन ही बिगड़ गया और वह गिर पड़े. बाबा रामदेव को किसी भी तरह की चोंट नहीं आई वह फौरन ही उठ खड़े हुए है और जोशीले अंदाज़ में लोगों को बताया की वह पूरी तरह से फिट हैं. ये घटना मात्र एक हादसे के रूप में हुई लेकिन सोशल मीडिया पर बाबा की खिल्लियां उड़ाई जाने लगी. बड़ी तेज़ी के साथ बाबा के गिरने का यह वीडियो वायरल हो गया.

Ramdev, Yoga, Elephant, Video, Viral Video, Twitter, Facebookहाथी पर बैठकर योग करते योग गुरु बाबा रामदेव

वीडियो डालने और उसे शेयर करने वालों को ये तो दिख गया की बाबाजी गिर पड़े लेकिन बाबा कितनी तेज़ी के साथ फिर उठ खड़े हुए इसपे शायद किसी की भी नज़र नहीं गई. एक 54 वर्षीय व्यक्ति हथिनी जैसे ऊंचाई वाले जानवर के ऊपर से नीचे गिरता है और बिल्कुल फिट रहता है चर्चा उनके इस मजबूती पर होनी चाहिए थी लेकिन चर्चा उनके गिरने की हो रही है. बाबा रामदेव योग गुरू कहलाए जाते हैं और योग के क्षेत्र में उनका योगदान भी बहुत बड़ा है.

बाबा से लोगों को ये वीडियो देख कर ही सीख लेने की ज़रूरत है कि योग जीवन में कितना कारगर है. वह 50 साल की उम्र में भी लोगों को नवजवान रखता है. वरना बाबा रामदेव की जगह कोई अन्य 54-55 साल का व्यक्ति ऐसे गिरता तो घायल तो ज़रूर हो जाता. बाबा रामदेव की ये ताकत ही उनकी पहचान है.बाबा रामदेव की ही कोशिश से भारत ने अंतराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का फैसला किया और साल 2015 से ही अंतराष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन किया जाने लगा.

इसमें मुख्य भूमिका भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रही, वह खुद भी योग करते हैं और बाबा रामदेव के काम को हमेशा सराहते हैं. वर्ष 2015 से ही 21 जून को अंतराष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन किया जा रहा है. पहले ही वर्ष यानी 2015 में ही दिल्ली स्थित राजपथ पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बड़ी भीड़ के बीच योग किया था जो कि विश्व रिकार्ड के रूप में अबतक दर्ज है.

यह रिकार्ड सबसे अधिक भीड़ (तकरीबन 36 हज़ार) के साथ योग करने का और 84 अलग अलग देशों के लोगों के साथ योग करने का था. वर्ष 2015 में ही करीब 190 से अधिक देशों में योग कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. दुनिया के सभी देश भारत को विश्व योग गुरू के रूप में जानते हैं. योग के फायदे तो जगज़ाहिर हैं लेकिन उसके असल ब्रांड अंबेसडर की बात की जाए तो वह गुरू रामदेव ही हैं जो हमेशा योग का प्रशिक्षण देते हुए ही नज़र आते हैं.

बाबा रामदेव के गिरने का वीडियो फैलाने वालों को उनकी ताकत का ज़िक्र कर उनसे सीख लेने की ज़रूरत है और अपने आपको भी ऐसे ही फुर्तीला बनाने का प्रयास करना चाहिए. यह वीडियो योग के विज्ञापन के रूप में देखा जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें -

लालू परिवार के प्रति नीतीश कुमार और चिराग पासवान के 'सॉफ्ट कॉर्नर' में भेद क्यों कर ही है बीजेपी?

5 कारण, कांग्रेस से 'खुशबू' खींचकर कैसे 'कमल' को तमिलनाडु में बल मिला है

ममता बनर्जी की बंगाल पुलिस का हाथ एक सिख की पगड़ी तक पहुंचना साधारण बात नहींं

#बाबा रामदेव, #योग, #हाथी, Baba Ramdev, Ramdev Yoga Elephant Video, Baba Ramdev Fall Video

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय