होम -> सोशल मीडिया

 |  7-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 12 मार्च, 2021 08:31 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

बीते दिनों में 'हमले' के दो मामले सुर्खियों में छाए रहे हैं. पहला मामला पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर चुनाव प्रचार के दौरान हुए कथित 'हमले' का है. दूसरे मामले में बेंगलुरु की एक ब्यूटी इनफ्लुएंसर पर जोमैटो डिलीवरी बॉय ने भी कथित 'हमला' किया था. तृणमूल कांग्रेस मुखिया हमले के बाद से अस्पताल में हैं और डॉक्टरों ने 48 घंटे की कड़ी निगरानी में रखा था. शायद आज ममता बनर्जी को अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी. कहा जा रहा है कि वो व्हीलचेयर पर बैठकर चुनाव प्रचार करेंगी. खैर, बेंगलुरु मामले में भी जोमैटो डिलीवरी बॉय को पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए गिरफ्तार कर लिया था. लेकिन, अब इस मामले में एक अजीब सा मोड़ आ गया है. ठीक वैसा ही ट्विस्ट जैसा ममता के मामले में घटना के 'चश्मदीद' लोगों के बयान से आया था. हालांकि, इस मामले में 'चश्मदीद' जैसी कोई चीज नहीं है. लेकिन, जोमैटो डिलीवरी बॉय का दावा काफी सनसनीखेज है.

एक ब्यूटी इनफ्लुएंसर महिला ने इंस्टाग्राम पर जोमैटो डिलीवरी बॉय के हमले की घटना बताते हुए एक वीडियो डाला था.एक ब्यूटी इनफ्लुएंसर महिला ने इंस्टाग्राम पर जोमैटो डिलीवरी बॉय के हमले की घटना बताते हुए एक वीडियो डाला था.

मामला क्या था?

सबसे पहले तो पूरा मामला जान लेते हैं कि आखिर माजरा था क्या? दरअसल, हितेशा चंद्रानी (Hitesha Chandranee) नाम की एक ब्यूटी इनफ्लुएंसर महिला ने इंस्टाग्राम पर जोमैटो डिलीवरी बॉय के हमले की घटना बताते हुए एक वीडियो डाला था. उनकी नाक पर चोट आई थी. यह वीडियो तेजी से वायरल हुआ और उन पर हमला करने वाले आरोपी जोमैटो डिलीवरी बॉय (Zomato Delivery Boy) को बेंगलुरु (Bengaluru) में गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस ने आरोपी जोमैटो डिलीवरी बॉय कामराज के खिलाफ आईपीसी की धारा 325 और 504 के तहत मामला दर्ज किया है. कामराज को बीते बुधवार को गिरफ्तार किया गया था और उसी दिन ही जमानत पर रिहा भी कर दिया (धाराएं जमानती थी) गया था. पुलिस फिलहाल मामले की जांच करते हुए दोनों ही पक्षों से बात कर बयान एकत्रित कर रही है.

हितेशा का आरोप

हर सिक्के के दो पहलू होते हैं. इसी तरह हर घटना को भी पुलिस दो हिस्सों में बांटकर ही जांच करती है. एक होता है पीड़ित पक्ष और दूसरा आरोपी पक्ष. पहले पीड़ित पक्ष का बयान जान लेते हैं. वीडियो से ही जाहिर है कि सारा मामला फूड डिलीवरी को लेकर ही शुरू हुआ था. पीड़ित महिला हितेशा चंद्रानी ने जोमैटो से फूड ऑर्डर किया था, जो देरी से पहुंचा. हितेशा के अनुसार, ऑर्डर समय पर नहीं आने की वजह से उन्होंने जोमैटो कस्टमर सपोर्ट से संपर्क कर कहा कि या तो ऑर्डर को कॉम्प्लीमेंट्री कर दें या कैंसिल कर दें.

इसी दौरान डिलीवरी बॉय फूड पार्सल लेकर आ गया. हितेशा के अनुसार, उन्होंने डिलीवरी बॉय से ऑर्डर कैंसिल होने या कॉम्प्लीमेंट्री होने तक रुकने को कहा. जिस पर डिलीवरी बॉय गुस्से में जोर-जोर से उन पर चिल्लाने लगा. साथ ही ऑर्डर को वापस ले जाने से मना कर दिया. हितेशा के मुताबिक, वह डिलीवरी बॉय के चिल्लाने से डर गईं और दरवाजा बंद करने की कोशिश करने लगीं. लेकिन, डिलीवरी बॉय जबरन घर में घुस गया और उनके चेहरे पर घूंसा मार दिया. जिससे वह चोटिल हो गईं और डिलीवरी बॉय ऑर्डर लेकर भाग गया. इंस्टाग्राम वीडियो में हितेशा ने बताया कि वह मदद के लिए चिल्लाईं, लेकिन कोई भी नहीं आया.

डिलीवरी बॉय का दावा

घटना का दूसरा पक्ष आरोपित जोमैटो डिलीवरी बॉय कामराज है. उसने चौंकाने वाला दावा करते हुए महिला पर ही हमला करने का आरोप लगा दिया है. कामराज ने दावा किया कि गलती से महिला ने अपनी ही अंगूठी से खुद को घायल कर लिया था. डिलीवरी बॉय के अनुसार, उसने महिला से ट्रैफिक में फंसने के साथ एक अन्य ऑर्डर की डिलीवरी की वजह से हुई देरी के लिए माफी मांगी थी. कामराज का कहना है कि महिला ने उनके साथ असभ्य व्यवहार किया. डिलीवरी बॉय के अनुसार, उसने ऑर्डर कैंसिल होने के बाद फूड वापस मांगा, तो हितेशा ने मना कर दिया.

कामराज के अनुसार, उन्होंने फूड पार्सल वापस ले लिया. जिसके बाद हितेशा ने अपशब्द कहे और सैंडल फेंक कर मारी. महिला ने उन पर हमला कर दिया. इसी दौरान महिला की अंगूठी उसकी नाक पर लग गई. कामराज का दावा है, उसने पुलिस से भी कहा कि मुक्का मारने से महिला की नाक पर कट नहीं लगा है. कामराज का कहना है कि मुझसे केवल एक गलती हुई कि मैं ऑर्डर देरी से लेकर पहुंचा था.

डिलीवरी बॉय के दावे पर हितेशा का जवाब

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, जोमैटो डिलीवरी बॉय के दावों पर हितेशी चंद्रानी ने दावा किया कि डिलीवरी बॉय ने दरवाजे को जबरन धक्का दिया था. इसी वजह से उन्होंने ऑर्डर कैंसल होने के बाद पार्सल वापस नहीं किया. मैंने पहले हमला किया था, तो उसे बिल्डिंग के अन्य लोगों से मदद मांगनी चाहिए थी. मुझे मेरी अंगूठी से चोट नहीं लगी है.

जोमैटो की संतुलित और शानदार प्रतिक्रिया

सोशल मीडिया पर हितेशा का वीडियो वायरल होने पर कई तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं. इस मामले पर जोमैटो कंपनी की ओर से दी गई प्रतिक्रिया सबसे संतुलित नजर आती है. जोमैटो के फाउंडर दीपिंदर गोयल ने ट्वीट कर एक बयान जारी किया है. बयान के अनुसार, हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है, सच सामने आए. जांच जारी है और हम हितेशा और कामराज (डिलीवरी बॉय) दोनों की मदद कर रहे हैं. हम पुलिस का भी सहयोग कर रहे हैं. हम लगातार हिेतेशा के संपर्क मे हैं, उनके इलाज के खर्च को वहन कर रहे हैं और आगे की कार्यवाही में मदद कर रहे हैं.

हम कामराज के संपर्क में भी हैं. हम चाहते हैं कि दोनों ओर के पहलूओं की कहानी सामने आए. प्रोटोकॉल के चलते हमने कामराज को अस्थायी तौर पर सस्पेंड कर दिया है. लेकिन, हम उसकी कमाई पर इसका असर नहीं पड़ने दे रहे हैं. पुलिस की जांच जारी है और हम कामराज की कानूनी कार्यवाही में लगने वाले खर्च भी उठा रहे हैं. ये रिकॉर्ड के लिए है कि कामराज ने जोमैटो के लिए अब तक 5000 डिलीवरी की हैं. प्लेटफॉर्म पर उसकी 5 मे से 4.75 की रेटिंग है. वह हमारे साथ 26 महीनों से काम कर रहा है. (यह तथ्य हैं, विचार नहीं या दखलंदाजी) हम आशा करते हैं कि जल्द ही सच सामने आ जाएगा.

फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है और दोनों पक्षों के बयान ले रही है. जांच के बाद साफ हो जाएगा कि गलती किसकी है. लेकिन, यह मामला सीएम ममता बनर्जी के मामले की तरह ही होता जा रहा है. जहां अलग-अलग तरह के दावे हैं. दोनों ही पक्ष अपने-अपने दावे को सही बता रहे हैं. ममता बनर्जी ने भी खुद के साथ हुई घटना को कथित रूप से 'हमला' बताया था. हालांकि, चश्मदीदों के सामने आने पर पता चला कि एक पिलर की वजह से उन्हें चोट लगी थी. खैर, हितेशा और कामराज में कौन सच बोल रहा है, इसका पता लगाना पुलिस का काम है और उसे ही करना चाहिए. 

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय