होम -> सोशल मीडिया

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 09 नवम्बर, 2018 05:17 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

अभी हाल ही में एक भालू और उसके बच्चे का वीडियो वायरल हुआ. वीडियो में दिखा कि भालू की मां बर्फ के पहाड़ को चढ़ जाती है जबकि उसका बच्चा फिसलन होने की वजह से बार-बार असफल होता है, फिर भी हार नहीं मानता. और आखिर में अपनी मां का साथ पा ही लेता है. लोगों ने इसे इंस्पायरिंग कहा, कुछ ने इसे क्यूट कहा, कुछ हंसे और इसे खूब शेयर किया. सोशल मीडिया पर जब कुछ वायरल होता है, तो उसे देखने और समझने का सबका अपना नजरिया होता है. लेकिन अकसर जो दिखाई देता है, वही सच नहीं होता है. इस भालू के वीडियो के पीछे की सच्‍चाई भी कुछ ऐसी ही है. जिसे सबसे ViralHog नाम के यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया गया था. और फिर उसे सोशल मीडिया पर जमकर शेयर किया गया.

लेकिन इस वीडियो के पीछे की सच्चाई जब सामने आई तो लोगों को अहसास हुआ कि वो कितने गलत थे. जिस वीडियो को वो प्रेरणास्पद मानकर सराह रहे थे असल में उसमें मानवीय क्रूरता और डर भी शामिल था, जिसे लोग उस वक्त समझ नहीं पाए.

वीडियो में क्रूरता छिप गई

वीडियो वायरल होने के बाद जब जीव-वैज्ञानिकों ने इसे गौर से देखा तो उन्होंने जो कहानी सुनाई वो हैरान करने वाली थी. उनका कहना था कि वीडियो को ड्रोन से शूट किया गया था. और इस वीडियो में एक लापरवाह ड्रोन चलाने वाले का काम साफ दिखाई दे रहा था. भालुओं को रिकॉर्ड करते हुए उसने भालुओं को न सिर्फ खतरे में डाला बल्कि भालू के बच्चे की जान तो लगभग चली ही गई थी.

ईकोलॉजिस्ट सोफी गिलबर्ट का कहना है कि 'मेरे लिए ये सब देखना बहुत मुश्किल था. ड्रोन ऑपरेट करने वाले में समझ की बहुत कमी थी कि उसके इस काम से भालुओं पर क्या असर हो रहा था.'

bear भालू का मां के डर को यहां देखा जा सकता है

जान बचाने के लिए भाग रहे थे भालू

वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि मां की निगाह हर वक्त उनकी तरफ आ रहे ड्रोन पर ही थी. और ड्रोन को देखकर ही शायद वो सुरक्षित स्थान पर जाना चाहते थे. मां तो पहाड़ी चढ़ गई लेकिन बच्चे को काफी मुश्किल हो रही थी. वो मां तक पहुंचने ही वाला था कि ड्रोन इस पल को करीब से कैद करने के लिए उनके काफी नजदीक पहुंच गया. मां ने ड्रोन को आता देख अपने एक हाथ से बच्चे को समेट लेने की कोशिश भी की, लेकिन इस जद्दोजहद में बच्चा नीचे गिर गया. वैज्ञानिकों का कहना है कि भालू को वो ड्रोन बाज़ की तरह नजर आ रहा था. एक बाज़ की छाया को बर्फ पर देखा भी जा सकता था. जो भालू के बच्चे को शिकार बनाना चाहता था.

साफ है कि ड्रोन की वजह से भालू बेहद डर गए थे और अपनी जान बचाने के लिए वहां से भाग रहे थे. और ऐसे में भालू के बच्चे का बार-बार गिरना और संभलना, उसकी हिम्मत को तो दिखा ही रहा था, लेकिन वो सिर्फ इसलिए थी कि उसकी जान बच सके. जरा सोचिए जिस पल का हम सब आनंद ले रहे थे, वो पल उन भालुओं पर कितने मुश्किल बीते होंगे.

प्रोफेशनल फोटोग्राफर्स आजकल जंगली जानवरों की तस्‍वीरें लेने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल करने लगे हैं. इससे आसमान से अच्छे नजारे कैद होते हैं. लेकिन इस कोशिश में जानवरों के भीतर एक भय का वातावरण बना रहे हैं. ड्रोन चलाने वालों को सिर्फ ड्रोन की जानकारी नहीं, बल्कि जानवरों को समझने की भी ट्रेनिंग लेनी चाहिए. वो तो अच्छी किस्मत थी उस नन्हे भालू की कि वो इतनी ऊंचाई से गिरा और संभल गया, ये भी हो सकता था कि उसे संभलने का मौका नहीं मिलता और ये वीडियो एक भयानक वीडियो बन सकता था.

ये भी पढ़ें-

कौन कहेगा कि इंसानों के भेस में ये जानवर नहीं हैं !

दीवार पर जाले देख मुंह बनाने वालों, एक शहर को जाला लग गया है

17 दिन से मृत बच्चे को लिए घूम रही एक 'मां'

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय