होम -> सियासत

 |  7-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 18 सितम्बर, 2020 10:29 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) खुद को क्षत्राणी बताती हैं और कहती हैं कि वो सिर कटाना जानती हैं लेकिन सिर झुकाना नहीं. कंगना रनौत के इसी अंदाज के चलते देश के कोने कोने से लोग उनके सपोर्ट में खड़े हुए. कंगना रनौत को झांसी की रानी की तरह बहादुर लेडी के तौर पर देखा जाने लगा.

कंगना रनौत ने बड़ा ही साहसिक कदम उठाते हुए सुशांत सिंह राजपूत केस में पहल की और मामला जांच तक पहुंचा. कंगना के निडर स्वरूप को देखते हुए ही लोगों को वो एक फाइटर की तरह दिखने लगीं - लेकिन कंगना का ये फाइटर हर किसी से उलझने लगा है. पत्रकारों से साथी अदाकारों से. ऐसा लगता है जैसे कंगना को इसी में मजा आने लगा हो और वो अपना लक्ष्य भूल रही हैं. लक्ष्य भूलने का मतलब तो यही हुआ कि निशाना चूक जा रही हैं - आखिर ये निशाना चूकना नहीं तो क्या है कि उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) को सॉफ्ट पॉर्न स्टार बता कर कंगना रनौत ने सनी लियोन (Sunny Leone) का भी दिल दुखा दिया है.

कंगना के बयान से सनी लियोन दुखी हैं

सॉफ्ट पॉर्न स्टार बोल कर कंगना रनौत ने हमला तो उर्मिला मातोंडकर पर बोला था, लेकिन उसका सीधा सनी लियोन पर हुआ है. ये स्वाभाविक भी है. हो सकता है सनी लियोन ने अपने बीते वक्त को भुला दिया हो. शायद इसलिए भी क्योंकि बॉलीवुड में सनी लियोन के आने के बाद लोगों ने उनको हाथों हाथ लिया और कभी ये एहसास नहीं होने दिया कि वो बाकियों से अलग क्यों और किसी खास वजह से हैं. फिल्में हिट होना न होना अलग बात है. एक से एक स्टार के साथ ऐसा होता रहा है और सनी लियोन के साथ भी वैसा ही हुआ है.

उर्मिला मातोंडकर को सॉफ्ट पॉर्न स्टार बताने के बाद ही कंगना रनौत भी साथी बॉलीवुड कलाकारों के निशाने पर आ गयीं. स्वरा भास्कर सहित कई हस्तियों ने कंगना रनौत को उर्मिला मातोंडकर से जुड़ी बातें याद दिला कर कंगना रनौत को समझाने की भी कोशिश की - मसलन, उर्मिला मातोंडकर के फिल्मों में डेब्यू के सात साल बाद की कंगना रनौत की पैदाइश है. कंगना रनौत ने पलटवार भी अपने ही अंदाज में किया - आपका फेमनिजम तब कहां गया था जब उर्मिला ने मुझे रुदाली और प्रॉस्टिट्यूट कहा था?

साथ ही सनी लियोन का नाम लेते हुए एक वाकये का जिक्र कर अपनी बात को सही ठहराने की कोशिश की. एक और ट्वीट में कंगना लिखती हैं, 'लिबरल ब्रिगेड ने एक बार एक जाने माने लेखक की वर्चुअल लिंचिंग करके उसे खामोश कर दिया था - क्योंकि उसने कहा था कि सनी लियोन हमारी रोल मॉडल नहीं होनी चाहिए. सनी लियोन को इंडस्ट्री में कलाकार के तौर पर स्वीकार कर लिया जाता है और फेक फेमिनिस्ट्स पॉर्न स्टार से तुलना को अचानक से अपमान बताने लगते हैं.'

कंगना रनौत की ये बातें सनी लियोन को बेहद नागवार गुजरी हैं. वैसे भी उर्मिला को सॉफ्ट पॉर्न स्टार बताने के बाद खुद को ये कहते हुए सही ठहराने की कोशिश कि उसने मुझे प्रॉस्टिट्यूट कहा था - आखिर क्या जता रहा है. कंगना रनौत की सनी लियोन के बारे में क्या सोच है ये तो एक्टर ने साफ कर ही दिया है.

sunny leone, kangana ranaut, urmila matondakarकंगना रनौत कन्फ्यूज हैं या दूसरों को ऐसा करने की कोशिश कर रही हैं

सनी लियोन ने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट में अपनी बात कही है, लेकिन उसमें कंगना रनौत या किसी का नाम नहीं लिया है. सनी लियोन ने लिखा है - ये कितना अजीब है कि आप के बारे में सबसे ज्यादा वही लोग बोलते हैं जिनको आप के बारे में सबसे कम पता होता है.

भटकाव से लक्ष्य ओझल हो जाता है

कंगना रनौत के मामले में जिस तरीके से बीएमसी ने हड़बड़ी में कार्रवाई की, किसी का भी गुस्सा फूट पड़ेगा. कंगना के वकील के समय मांगने पर भी बीएमसी ने एक न सुनी. सबको ये भी मालूम था कि कंगना रनौत मुंबई पहुंच रही हैं, लेकिन जब वो रास्ते में थीं तभी उनके दफ्तर में तोड़ फोड़ कर दी गयी.

कंगना रनौत बीएमसी के एक्शन के बाद सीधे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ आक्रामक हो गयीं - और ऐसे तू-तड़ाक करने लगीं जैसे शायद ही कभी किसी ने शिवसेना नेतृत्व को चुनौती दी हो. ये तो राजनीतिक कवायद रही जिसकी वजह से शिवसेना को मजबूरी में संयम बरतना पड़ा, वरना असली रंग तो पूर्व नौसेना अधिकारी के मामले में दिखा ही दिया. बाद में शिवसेना सांसद संजय राउत ने सही भी ठहराया ही.

अगर कंगना रनौत के निशाने पर सिर्फ शिवसेना या उद्धव ठाकरे रहते तब तो बात और होती, लेकिन अब तो कंगना रनौत हर किसी से भिड़ जा रही हैं - कभी किसी साथी कलाकार से तो कभी किसी पत्रकार से. किसी को भी फेक फेमिनिस्ट, ट्रोल बताकर धमकाने लग रही हैं - लीगल नोटिस भेजने से लेकर जेल की हवा खिलाने तक. हालांकि, कंगना रनौत का दावा है कि वो लड़ाई खुद कभी नहीं शुरू करतीं.

कंगना रनौत ने एक ट्वीट में लिखा है, ‘हो सकता है मैं एक लड़ाकू इंसान के रूप में दिख रही हूं, लेकिन ये सच नहीं है... मेरा रिकॉर्ड है कि मैंने कभी भी कोई लड़ाई शुरू नहीं की. अगर कोई ये साबित कर दे तो मैं ट्विटर छोड़ दूंगी. मैंने कोई लड़ाई शुरू नहीं की, लेकिन हर लड़ाई को खत्म जरूर किया है. भगवान कृष्ण ने कहा है कि अगर तुम्हें कोई लड़ने के लिए ललकारे तो तुम्हें उन्हें बिल्कुल इनकार नहीं करना चाहिए.’

कंगना रनौत और फिल्म मेकर अनुराग कश्यप के बीच भी ट्विटर पर नोक-झोंक हो रही है - जिस पर अनुराग कश्यप ने लिखा है कि वो जानते हैं कि कंगना रनौत कितना अच्छा इम्प्रोवाइज करती हैं.

कंगना रनौत एक कामयाब एक्टर हैं और अब लगता है उनका राजनीति की तरफ झुकाव बढ़ रहा है - लेकिन लक्ष्य के साथ आगे बढ़ना ही कामयाबी का रास्ता होता है भटकाव नहीं. कंगना अपने अगले लक्ष्य से बार बार भटक रही हैं और ये बात उनको समझ में नहीं आ रही है.

इन्हें भी पढ़ें :

कंगना रनौत की टिकट वाली बात कौन से चुनाव की तैयारी है?

कंगना रनौत ने उर्मिला मातोंडकर को ‘सॉफ्ट पॉर्न स्टार’ कहकर जीती बाजी हार दी

कंगना रनौत को लेकर अक्षय कुमार को टारगेट कर रही शिवसेना को बाकियों से परहेज क्यों?

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय