होम -> सियासत

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 24 दिसम्बर, 2020 11:09 PM
मृगांक शेखर
मृगांक शेखर
  @msTalkiesHindi
  • Total Shares

झारखंड (Jharkhand) के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) लालू यादव की सजा के दौरान सुविधा मुहैया कराने को लेकर बीजेपी के निशाने पर तो हैं ही, रेप के एक पुराने मामले ने नये सिरे से मुसीबत खड़ी कर दी है. हालांकि, हेमंत सोरेन आरोपों के खिलाफ अदालत पहुंच गये हैं और राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ मानहानि का दावा भी दाखिल कर चुके हैं. फिर भी रेप को लेकर जारी गंदी राजनीति थमने वाली हो, ऐसा बिलकुल नहीं लगता.

2013 के एक केस को लेकर नये सिरे से जांच पड़ताल की मांग होने लगी है - और बीजेपी (BJP) नेता बाबूलाल मरांडी नैतिक आधार पर इस्तीफा मांग रहे हैं. झारखंड के गोड्डा से बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे पहले से ही हेमंत सोरेन के खिलाफ मुहिम चला रहे थे.

अभी तक तो बीजेपी नेता झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से रेप के आरोप को लेकर नैतिकता के आधार पर इस्तीफा मांग रहे थे, लेकिन अब एक अन्य युवती का वीडियो आया है जिसमें वो बीजेपी नेताओं पर ही गंभीर आरोप लगा रही है.

झारखंड में सत्ताधारी JMM ने रेप के आरोप को हेमंत सोरेन की सरकार गिराने की साजिश करार दिया है - हेमंत सोरेन के बचाव में झारखंड मुक्ति मोर्चा की ये दलील कितनी दमदार है?

झारखंड में 'डर्टी पॉलिटिक्स'

ठीक एक साल पहले झारखंड में विधानसभा के चुनाव हो रहे थे. दिसंबर, 2019 में झारखंड के मेहराना में अपनी चुनावी रैली में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध के मामले को ऐसे पेश किया कि दिल्ली तक बवाल मच गया - रेप इन इंडिया. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की अगुवाई में संसद में महिला सांसदों ने खूब हंगामा किया और राहुल गांधी से माफी मांगने की डिमांड रखी.

रैली में निशाने पर मोदी सरकार ही रही और बोलते बोलते राहुल गांधी बोल गये, ‘देश में नरेंद्र मोदी ने कहा था मेक इन इंडिया... अब जहां भी देखो वहा मेक इन इंडिया नहीं बल्कि रेप इन इंडिया है... अखबार खोलो तो झारखंड में महिला से बलात्कार, यूपी में नरेंद्र मोदी के विधायक ने महिला का रेप किया... हर प्रदेश में हर रोज रेप इन इंडिया’.

केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी का रिएक्शन रहा, 'राहुल खुलेआम कह रहे हैं कि रेप इन इंडिया - तो क्या वो दुनिया को भारत में आकर बलात्कार करने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं?'

राहुल गांधी ने रैली में तो कांग्रेस ने अधीर रंजन चौधरी ने सदन में ही रेप इन इंडिया बोला था, लेकिन बाद बवाल होने पर माफी मांग ली थी. साल भर बाद तो झारखंड में रेप के आरोपों को लेकर राजनीति और भी तेज हो चली है.

hemant sorenहेमंत सोरेन के साथ विवाद कोई पहली बार नहीं हो रहा है. उनकी पूरी पारिवारिक राजनीति ही विवादों के इर्द गिर्द घूमती रही है,

अभी तक बीजेपी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी और सांसद निशिकांत दुबे रेप के आरोप को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का इस्तीफा मांग रहे थे, लेकिन एक नया वीडियो सामने आने के बाद बीजेपी नेता भी निशाने पर आ गये हैं. वीडियो में एक युवती कह रही है, 'अगर मेरे साथ कुछ भी हो जाए तो इसके जिम्मेदार जहूर आलम, सुनील तिवारी, बाबूलाल मरांडी और निशिकांत दुबे होंगे.'

निशिकांत दुबे के इलाके गोड्डा से ही कांग्रेस विधायक दीपिका पांडेय सिंह ने बीजेपी के बेटी बचाओ नारे पर ताना मारा है - लेकिन वीडियोवाले उसी ट्वीट को रीट्वीट करते हुए निशिकांत दुबे ने मुंबई की 2013 की घटना का ध्यान दिलाते हुए पूछा है कि जब झारखंड और महाराष्ट्र में कांग्रेस सत्ता में थी तो किसने ब्लैकमेल कर केस करवाया था?

जेएमएम के महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने हेमंत सोरेन के खिलाफ आरोप का काउंटर करते हुए मामले को राजनीतिक ट्विस्ट दे दिया है - और इसे बीजेपी की डर्टी पॉलिटिक्स बता रहे हैं. सुप्रियो भट्टाचार्य कह रहे हैं कि चुनी हुई सरकार को गिराना बीजेपी का स्वभाव रहा है. महाराष्ट्र और राजस्थान में तो वे लोग सफल नहीं हुए और हम झारखंड में भी उनको सफल नहीं होने देंगे.

झारखंड हाई कोर्ट में इस सिलसिल में एक PIL दाखिल कर कहा गया है कि सरकार को अस्थिर करने के लिए साजिश हो रही है. याचिका में कहा गया है कि 2013 के एक पुराने मामले को उछालकर सरकार की छवि खराब करने और उसे गिराने की मुहिम चलायी जा रही है - साथ ही, पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की गयी है.

क्या है मामला

JMM महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के खिलाफ हो रही राजनीति में राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा को भी साजिश का हिस्सा बताया है. सुप्रियो भट्टाचार्य का सवाल है - 'अगर वो किसी भी तरह की राजनीति में नहीं है, तो महाराष्ट्र पुलिस और डीजीपी से रिपोर्ट मांगे बिना आरोपों पर क्यों ट्वीट किया गया?

दरअसल, राष्ट्रीय महिला आयोग ने कुछ दिन पहले ही एक मॉडल के साथ रेप के 2013 के मामले को लेकर महाराष्ट्र के डीजीपी को पत्र लिखा है. रेप के मामले में झारखंड के मुख्यमंत्री का नाम जोड़ा जा रहा है - और मीडिया में आई रिपोर्टों में इस केस में हेमंत सोरेन के साथ सुरेश नागरे को भी आरोपी बनाया गया है.

खबरों के मुताबिक महिला आयोग ने एक वायरल पत्र पर संज्ञान लेते हुए ये कदम उठाया है. बताते हैं पत्र में पीड़ित मॉडल ने 2013 से लेकर अब तक उसके साथ ही घटनाओं की जानकारी दी है. पत्र में दावा किया गया है कि मॉडल को कुछ लोगों से मिलवाने के बहाने एक होटल में बुलाया गया और वहां उसके साथ बलात्कार किया गया.

बालूलाल मरांडी ने पूरे मामले की तहकीकात का दावा करते हुए मीडिया को कई तरह की जानकारी दी है. बाबूलाल मरांडी के मुताबिक, ये घटना 5 सितंबर, 2013 की है - और 21 अक्टूबर को मॉडल ने मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट की अदालत में आरोपों को लेकर अर्जी दी थी.

हालांकि, बाबूलाल मरांडी बताते हैं, सुनवाई से ठीक पहले 30 अक्टूबर, 2013 को मॉडल ये कहते हुए अर्जी वापस लेने के लिए एक और अर्जी दी. नयी अर्जी में मॉडल ने कहा कि चूंकि उसकी शादी हो रही है और आगे से केस को लेकर भाग दौड़ करने में वो सक्षम नहीं होगी, इसलिए केस की पैरवी नहीं करना चाहती.

बाबूलाल मरांडी के मुताबिक, 8 अगस्त, 2020 को मॉडल का गुजरात के रास्ते में एक्सीडेंट हो गया. फिर उसे लगने लगा कि कुछ लोग उसका पीछा कर रहे हैं. फिर 8 दिसंबर, 2020 को मॉडल ने मुंबई के बांद्रा थाने में अर्जी देकर सारी बातें बताते हुए अपने लिए सुरक्षा की मांग की है.

इन्हें भी पढ़ें :

Jharkhand results: सोरेन परिवार की राजनीति और उसका विवादों से नाता

Jharkhand Election Result: नई झारखंड सरकार और हेमंत सोरेन की चुनौतियां

झारखंड में BJP को 5 साल इंतजार के अलावा कोई उपाय नहीं बचा है

#हेमंत सोरेन, #झारखंड, #बाबूलाल मरांडी, Hemant Soren Rape Allegation, Jharkhand BJP, Dirty Politics

लेखक

मृगांक शेखर मृगांक शेखर @mstalkieshindi

जीने के लिए खुशी - और जीने देने के लिए पत्रकारिता बेमिसाल लगे, सो - अपना लिया - एक रोटी तो दूसरा रोजी बन गया. तभी से शब्दों को महसूस कर सकूं और सही मायने में तरतीबवार रख पाऊं - बस, इतनी सी कोशिश रहती है.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय