charcha me| 

सियासत

 |  4-मिनट में पढ़ें  |   06-12-2018
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujmaurya87
  • Total Shares

राजस्थान चुनाव में अलवर की रैली में नवजोत सिंह सिद्धू के भाषण के दौरान सभा में 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगाया गया. सिद्धू खामोश खड़े मुस्कुराते रहे. उन्होंने न तो ऐसा करने वाले को रोका और ना ही बाद में इस पर विरोध जताया. अब ऐसे में विरोधी कहां चूकने वाले थे. सोशल मीडिया पर इसकी क्लिप वायरल होने लगी. कांग्रेस इस मामले में बचाव में उतरी, लेकिन एक झूठ के साथ. 

सिद्धू की इस सभा में कांग्रेस को सिर्फ 'जो बोले सो निहाल, सत् श्री अकाल' सुनाई दे रहा है. बाजवा को गले लगाने से लेकर अलवर की सभा में 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे लगने तक कांग्रेस सिद्धू का बचाव करने में लगी हुई है. 

आप एक बार खुद देखिए क्लिप और नारा सुनने की कोशिश कीजिए. यही क्लिप सोशल मीडिया पर खूब शेयर हुई.

इस वीडियो को झूठा साबित करने के लिए रणदीप सुरजेवाला ने भी एक वीडियो ट्विटर पर शेयर किया. और साथ में गंदी ट्रिक्स के लिए कुछ चैनलों को भक्त चैनल कह डाला.

लेकिन सुरजेवाला जिस वीडियो के हवाले से सच का दम भर रहे थे, वो ही घपले वाला निकला. उन्होंने जानबूझ कर सिद्धू के भाषण का वो हिस्सा शेयर करने के लिए चुना, जिसमें सभा में मौजूद लोग 'जो बोले सो निहाल, सत् श्री अकाल' के नारे लगा रहे हैं. जबकि पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा उस से ठीक पहले लगाया गया, जिसे सुरजेवाला ने नजरअंदाज कर दिया. कांग्रेस के समर्थक गौरव पंधी ने सुरजेवाला की बात को ही और मजबूती देने के लिए दोनों वीडियो एक साथ शेयर किए और इस तरह कांग्रेस का झूठ उन्होंने खुद ही उजागर कर दिया.

कांग्रेस ने शायद वीडियो में सुनाई दे रही आवाजों को सही से सुना नहीं. या यूं कहें कि शायद वो सुनना ही नहीं चाहते, क्योंकि हर हाल में सिद्धू को बचाना है. यही वजह है कि तुलना करने के लिए जो वीडियो कांग्रेस ने जारी किया है, वह ठीक उस समय के बाद का है, जब 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगा था. इस बात की पुष्टि करने के लिए आप उस कार्यक्रम के पूरे वीडियो को एक साथ देख सकते हैं, जिससे आपको सही से अंदाजा हो जाएगा. वीडियो में 6.18 मिनट पर आपको 'पाकिस्तान जिंदाबाद' की आवाज सुनाई दे जाएगी. कांग्रेस का वीडियो इसके तुरंत बाद से शुरू होता है. तुलना एक टाइमफ्रेम के वीडियो की होती है, ना कि अलग-अलग टाइमफ्रेम की.

इस वीडियो के सामने आने के बाद राजस्थान चुनाव आयोग के सीईओ आनंद कुमार ने कलेक्टर से रिपोर्ट तलब की थी. यानी जांच भी शुरू हो गई. ये भी कहा जा रहा था कि नारे की आवाज स्टेज के पीछे से आई थी. जांच के बाद रिपोर्ट दिल्ली भी भेजे जाने की बात कही गई थी. खैर, अभी मामला कहां पहुंचा है, ये तो चुनाव आयोग ही जानता है. इसी सभा के दौरान सिद्धू ने पीएम मोदी पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, जिसके बाद सिद्धू का विरोध और तेज हो गया था. खैर, जब-जब सिद्धू पर पाकिस्तान की बात करते हुए हमला बोला जाता है, तो पूरी कांग्रेस पार्टी उनके बचाव में उतर ही आती है और आखिरकार कांग्रेस को मुंह की खानी पड़ती है.

उधर पाकिस्तानी मीडिया में भी सिद्धू के इस वीडियो को लेकर चर्चा हुई. बताया गया कि कैसे सिद्धू की सभा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे और सिद्धू खड़े मुस्कुराते रहे. पाकिस्तानी चैनल अपनी टिप्पणी में कहते हैं कि ये वीडियो वायरल होने के बाद भारतीय चैनल प्रोपेगेंडा में लग गए हैं और राजस्थान पुलिस इस वीडियो की जांच कर रही है.

ये भी पढ़ें-

राजस्थान की जनता कह रही है- हुजूर आते-आते बहुत देर कर दी

संन्यास ले चुके गौतम गंभीर भाजपा में होंगे शामिल, ये बातें तो इसी ओर इशारा कर रही हैं!

मोदी की 'चौकीदारी' पर सवाल उठाते राहुल को मिशेल खामोश कर पाएगा क्या?

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय