होम -> इकोनॉमी

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 15 अक्टूबर, 2019 07:03 PM
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujmaurya87
  • Total Shares

IRCTC का IPO आज लॉन्च हो चुका है. IRCTC Share Price करीब 320 रुपए रखा गया था, लेकिन उसकी लिस्टिंग 644 रुपए पर हुई, जो अब बढ़कर 700 के भी पार पहुंच चुका है. रेलवे ने जितना सोचा था, लोगों की तरफ से उसका दोगुना रेस्पॉन्स मिला है. यहां आपको बता दें कि सरकार ने IRCTC की करीब 12.6 फीसदी हिस्सेदारी 2.01 करोड़ शेयरों के जरिए निजी हाथों में सौंप दी है, जबकि अभी भी 87.4 फीसदी हिस्सेदारी सरकार के पास है. रेलवे में IRCTC एक मोनोपोली है, ये तो सभी जानते हैं, लेकिन जब कभी IRCTC की बात होती है तो एक सवाल कुछ लोगों के जेहन में जरूर उठता है कि IRCTC है क्या? वो अनायास ही पूछ लेते हैं What is IRCTC? वैसे तो इसके बारे में सभी जानते हैं, लेकिन सही से इसकी जानकारी नहीं है. यानी लोग ये नहीं समझते कि रेलवे और IRCTC में फर्क क्या है? कोई फर्क है भी या नहीं? इस बारे में भी जानना जरूरी है.

IRCTC, शेयर, रेलवे, आईपीओ0000000000

क्या है IRCTC?

आपने ये सवाल कई लोगों से सुना होगा, लेकिन जब बात इसका जवाब देने की आती है तो बहुत से लोग रेलवे कह देते हैं. कुछ तो ये भी समझते हैं कि यही मिनिस्ट्री है. आपको बता दें कि IRCTC रेलवे का ही एक सहयोगी उपक्रम है, जो कैटरिंग, टूरिज्म और ऑनलाइन टिकटिंग देखता है. अब तो IRCTC ने ट्रेन भी चला दी है. दिल्ली-लखनऊ के बीच तेजस एक्सप्रेस चली है, जो देश की पहली निजी ट्रेन है. इस ट्रेन का रख-रखाव और मैनेजमेंट रेलवे नहीं देखता, बल्कि उसकी सब्सिडियरी कंपनी IRCTC देखती है.

अगर सिर्फ पिछले साल यानी 2018-19 को देखें तो रेलवे की कुल कमाई का लगभग 1 फीसदी IRCTC से आता है. भले ही कमाई के आंकड़े में IRCTC बहुत छोटी लग रही है, लेकिन रेलवे का दिल यही है. तभी तो इसकी टैगलाइन है- 'देश की लाइफलाइन.' आपको बता दें कि पिछले साल रेलवे ने करीब 2,01,090 करोड़ की कमाई की थी, जबकि इसमें लगभग 1960 करोड़ IRCTC से आए थे. IRCTC कितनी तेजी से बढ़ रहा है, इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि पिछले साल IRCTC का मुनाफा उससे पिछले साल की तुलना में करीब 21 फीसदी बढ़कर लगभग 272 करोड़ पर पहुंच गया था.

टॉप-5 IPO के बारे में जानते हैं?

IRCTC का शेयर जैसे ही शेयर बाजार में लिस्ट हुआ, वैसे ही उसके शेयर में तगड़ा उछाल आया और इसका शेयर बढ़ते-बढ़ते पहले दिन 733 रुपए के स्तर तक जा पहुंचा. यानी इसके शेयर ने पहले ही दिन करीब 2.3 फीसदी उछाल दर्ज की. IRCTC के शेयर की वजह से पूरे शेयर बाजार में तगड़ी बढ़त देखने को मिली. हर ओर इसकी चर्चा शुरू हो गई. सोशल मीडिया पर कोई इसकी तारीफें करता दिखा, तो बहुत से लोग इसके मीम बनाकर इसकी लोकप्रियता की बात करते दिख. लेकिन क्या IRCTC का IPO अब तक का सबसे लोकप्रिय IPO है, या फिर किसी और कंपनी ने भी इससे बड़ा रिकॉर्ड बनाया है. चलिए देखते हैं.

Reliance Power: 2008

2008 में 15 जनवरी से 18 जनवरी के बीच रिलायंस पावर का आईपीओ करीब 72 गुना अधिक सब्स्क्राइब हुआ था. रिलायंस का आईपीओ 11,563 करोड़ रुपए का था. यानी आईआरसीटी के आईपीओ ने सब्स्क्रिप्शन के मामले में रिलायंस पावर को भी पीछे छोड़ दिया है. वैसे भी, उसका आईपीओ 4 दिनों में 70 गुना हुआ था, जबकि IRCTC का आईपीओ एक ही दिन में 112 गुना अधिक सब्स्क्राइब हुआ है. अगर सिर्फ पहले दिन की बात करें, तो इसका शेयर करीब 10 गुना अधिक सब्सक्राइब हुआ था. हालांकि, ये भी ध्यान रखने की जरूरत है कि रिलायंस पावर का आईपीओ 11,563 करोड़ का था, जबकि IRCTC का आईपीओ सिर्फ 650 करोड़ का है. दिलचस्प ये है कि शेयर का इश्यू प्राइस 430-450 रुपए था, जिसमें दिन खत्म होते-होते ही 17.22 फीसदी की गिरावट भी आई थी और शेयर 372 पर जा पहुंचा था. हालांकि, बावजूद इन सबके रिलायंस का शेयर उस दिन का 15वां सबसे महंगा स्टॉक था.

DLF: 2007

2007 में जब डीएलएफ का आईपीओ बाजार में आया था तो उसके लिए 3.5 फीसदी अधिक बोलियां लगी थीं. इसका आईपीओ 9187.50 करोड़ रुपए का था. इसका सब्सक्रिप्शन 11 जून से 14 जून 2007 के दौरान हुआ था. इसके कुछ ही महीनों बाद प्रमोटर केपी सिंह मुकेश अंबानी के बाद देश के दूसरे सबसे अमीर इंसान बन गए थे.

Cairn India: 2006

इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर है केयर्न इंडिया का शेयर, जो 11 दिसंबर से 15 दिसंबर 2006 के बीच आया था. इसकी कुल वैल्यू 8,616 करोड़ रुपए थी. इसके लिए 1.14 गुना अधिक बोलियां लगी थीं. हालांकि, इसकी बाजार में एंट्री काफी फीकी रही थी. इस शेयर का इश्यू प्राइस 160 रुपए था, लेकिन पहले दिन इसका स्टॉक 12 फीसदी डिस्काउंट पर लिस्ट हुआ था और शाम तक 14 फीसदी गिरावट के साथ 137.50 रुपए पर बंद हुआ.

ICICI Prudential Life Insurance: 2016

19 सितंबर से 21 सितंबर 2016 तक ICICI प्रुडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस कंपनी का आईपीओ शेयर बाजार में आया था. इसका आईपीओ 6,057 करोड़ रुपए का था. इसके शेयर्स की कीमत 300-334 रुपए थी. हालांकि, इसे बाजार में 1.5 फीसदी डिस्काउंट के साथ लिस्ट होना पड़ा.

ये भी पढ़ें-

PMC जैसे घोटालों का असल गुनहगार कौन, बैंक या RBI ?

Reliace Jio के 6 पैसे प्रति मिनट कॉल टैरिफ का गेम प्लान दूर की कौड़ी है !

SBI Fixed deposit rates का घटना सीनियर सिटिजन्स और घरेलू बचत पर संकट की घड़ी है

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय