होम -> इकोनॉमी

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 17 जनवरी, 2019 04:27 PM
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujkumarmaurya87
  • Total Shares

TRAI की तरफ से डीटीएच और केबल ऑपरेटरों के लिए नए नियम बना दिए गए हैं. पहले जहां ग्राहकों को चैनलों के वही पैक लेने होते थे, जो केबल ऑपरेटर ऑफर करते थे, अब ग्राहक अपनी पसंद का पैक चुन सकते हैं. ग्राहक 100 चैनल चुन सकते हैं, जिसमें स्टैंडर्ड डेफिनिशन और फ्री टू एयर चैनल होंगे. 100 चैनलों तक तो आपको 130 रुपए (जीएसटी समेत 153 रुपए) देने होंगे, लेकिन अगर आप उससे ऊपर कोई चैनल चुनते हैं, तो उसके लिए चैनल की कीमत के अनुसार अतिरिक्त पैसे देने होंगे. अब ग्राहकों में सबसे बड़ा कंफ्यूजन इसी बात को लेकर है कि आखिर ऐसे में चैनलों का चुनाव कैसे करें कि टीवी का बिल कम आए.

ब्रॉडकास्ट ऑडिएंस रिसर्च काउंसिल (बीएआरसी) के मुताबिक 80 फीसदी सब्सक्राइबर्स 40 से अधिक चैनल नहीं देखते हैं. उनके अनुसार सिर्फ 10-15 फीसदी लोग ही ऐसे होंगे जो 100 चैनलों के पैक से अधिक चैनल देखेंगे. अभी तक ब्रॉडकास्टिंग कंपनियां अपनी मर्जी के मुताबिक चैनलों के पैक बनाती थीं और ग्राहकों को किसी एक चैनल देखने के लिए ही पूरे पैक के पैसे देने होते थे, लेकिन अब ये मनमर्जी नहीं चलेगी. अब आप चाहें तो पैक खरीदें या अगर किसी पैक में से सिर्फ एक ही चैनल देखना है तो सिर्फ एक के ही पैसे दें. अब सवाल ये है कि आखिर चैनलों का चुनाव किया कैसे जाए कि टीवी का बिल कम आए. चैनलों का चुनाव करते समय कुछ बातें ध्यान रखनी जरूरी हैं.

ट्राई, टीवी, चैनल, बिलचैनलों का चुनाव करते समय कुछ बातें ध्यान रखनी जरूरी हैं.

130 रुपए से भी कम में मिल सकता है बेस पैक

सबसे पहले तो ये ध्यान रखें कि सभी मुख्य ब्रॉडकास्टर्स ने चैनलों और उनके बुके की जो कीमत तय की है, वह अधिकतम कीमत है. ऐसे में अगर आप अपने ब्रॉडकास्टर से बात करें तो वो आपको कम पैसों में भी पैक दे सकता है. यहां तक कि बेस पैक भी आपको 130 रुपए से भी कम में मिल सकता है. आपसी कॉम्पटीशन में एक दूसरे से आगे निकलने के लिए कंपनियों की तरफ से आपको कम पैसों में अच्छी डील भी मिल सकती है. एयरटेल और टाटा स्काई ने तो एसडी चैनलों का बेस पैक महज 99 रुपए में देने की पेशकश भी कर दी है. इनकी देखा-देखी अन्य ब्रॉडकास्टिंग कंपनियां भी सस्ते पैकेज ला सकती हैं.

हर कैटेगरी में कुछ पसंदीदा चैनल ही चुनें

अब आप एक चैनल के लिए पूरा पैक खरीदने के बजाय आप अपना पसंदीदा चैनल चुन सकते हैं, लेकिन उसके लिए आपको थोड़ा समय देना होगा. कुछ देर बैठकर ये तय करें कि आप किन चैनलों को देखते हैं. न्यूज, स्पोर्ट्स, म्यूजिक, सिनेमा हर कैटेगरी में अपने कुछ चुनिंदा चैनल चुन लें. हो सके तो चैनलों की लिस्ट बनाते समय बीवी-बच्चों से भी पूछ लें, ताकि किसी का पसंदीदा चैनल ना छूटे. इसमें थोड़ा समय जरूर लगेगा, लेकिन इसकी लिस्ट बनाने के बाद आपको इस बात का फैसला करने में काफी आसानी हो जाएगी कि आपको कुछ चैनलों का पैक लेना चाहिए या फिर एक-एक चैनल.

कब बुके लें और कब सिंगल चैनल?

एक-एक चैनल लेना महंगा पड़ेगा, जबकि पैक लेना सस्ता. जैसे 9 चैनलों के एक बुके में अगर आप सारे चैनल एक-एक कर के खरीदें तो आपको 63 रुपए खर्च करने होंगे, जबकि अगर आप पूरा बुके खरीद लें तो कीमत आधे से भी कम होकर महज 31 रुपए रह जाएगी. चैनल चुनते समय ये भी ध्यान दें कि एक-एक कर खरीदे चैनलों की कीमत, उसके बुके की कीमत से अधिक ना हो. जैसे 9 चैनलों वाले किसी बुके में हो सकता है आपको 4 चैनल पसंद हैं और उनकी कीमत 40 रुपए है, जबकि 9 चैनलों के पूरे बुके की कीमत 31 रुपए है, तो पूरा बुके खरीदने पर आपके 9 रुपए हर महीने बचेंगे. हां अगर पूरे पैक में आपको कोई एक या दो ही चैनल पसंद हैं तो सिंगल चैनल लेना ही बेहतर होगा.

अधिक दिनों का पैकेज लें

अगर आप सही तरीके से अपने पसंदीदा चैनल चुन लेते हैं और आपका बिल बेस प्राइस में ही एडजस्ट हो जाता है तो आप इसे और कम करने के लिए लंबी अवधि का पैकेज ले सकते हैं. ब्रॉडकास्टर से सीधे 3,6,9 महीने या पूरे साल के लिए पैकेज लेने की पेशकश कर के बारगेनिंग कर सकते हैं. यूं तो अधिकतर कंपनियां खुद ही ऐसे पैकेज देती हैं, लेकिन अगर आपको कंपनी की तरफ से ऐसी पेशकश ना हो तो आप खुद उनसे बात कर सकते हैं. आप अधिक दिनों के लिए पैकेज लेंगे तो आपका बिल और अधिक कम हो जाएगा. अब जरा सोचिए, अगर आपको 1000 या 1200 रुपए में पूरे साल के लिए 100 चैनलों का पैक मिल जाता है, तो आपका तो फायदा ही है. इस तरह प्रति महीने आपके 85-100 रुपए ही खर्च होंगे.

इसके अलावा जब आपके चैनलों की लिस्ट तैयार हो जाएगी तो आप अलग-अलग ब्रॉडकास्टर कंपनी से भी मोलभाव कर सकते हैं. यकीन मानिए, कॉम्पटीशन के इस दौर में कोई भी अपने ग्राहक नहीं खोना चाहता है और हो सकता है कि आपकी कुछ देर की मेहनत के बदले आपके काफी सारे पैसे बच जाएं, जिनका इस्तेमाल आप कुछ एचडी चैनल लेने में भी कर सकते हैं या फिर कहीं और भी खर्च कर सकते हैं. मोलभाव करते समय भी आप अपना कोई खास पसंदीदा एचडी चैनल मुफ्त देने की मांग कर सकते हैं.

एचडी चैनल और प्रीमियम चैनल करेंगे जेब ढीली

यूं तो ट्राई की इस नई व्यवस्था में सभी टीवी उपभोक्ताओं का बिल तुलनात्मक रूप से कम हो जाएगा, लेकिन अगर आप एचडी चैनल और प्रीमियम चैनल देखने के शौकीन हैं, तो आपको अधिक पैसे खर्च करने पड़ेंगे. 100 चैनलों के पैक में ये चैनल शामिल नहीं होंगे.

ये तो थी टीवी के बिल की बात. लेकिन अगर आपके पास टीवी कनेक्शन नहीं है और आप नया टीवी कनेक्शन लेने की सोच रहे हैं तो आप आपको ये भी आजादी है कि आप केबल ऑपरेटर से सेट-टॉप बॉक्स लेने के बजाए अपना खुद का सेट-टॉप बॉक्स भी खरीद सकते हैं. कई बार ये देखा गया है कि केबल ऑपरेटर महंगा सेट टॉप बॉक्स देते हैं. इस तरह सेट-टॉप बॉक्स में भी आपके पैसे बच सकते हैं. हां, ये ध्यान रखें कि सेट टॉप बॉक्स को इंस्टॉल भी कराना होगा. ऐसे में इसकी तुलना जरूर कर लें कि कहां से सेट टॉप बॉक्स लेकर उसका इंस्टॉलेशन सस्ता पड़ रहा है. ट्राई की तरफ से चैनलों का चुनाव करने के लिए 31 जनवरी तक का समय दिया गया है, आप भी इस समय में अपना मन बना लें कि आपको कौन से चैनल चाहिए और किस कंपनी से चाहिए.

ये भी पढ़ें-

4 जजों की प्रेस कान्‍फ्रेंस ने क्‍या सालभर में सुप्रीम कोर्ट की अवमानना का डर हटा दिया है?

सौंदर्य प्रतियोगिता में कामयाब लड़कियों को क्रूरता से आईना दिखाया है बॉलीवुड ने

ओवर की सातवीं बॉल को अंपायर की लापरवाही कहें या बल्लेबाज का लालच?

Tv Bill, Cable Operator, Less Tv Bill

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय