होम -> सिनेमा

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 19 जून, 2018 04:05 PM
श्रुति दीक्षित
श्रुति दीक्षित
  @shruti.dixit.31
  • Total Shares

सलमान खान एक बहुत ही बेहतरीन कलाकार हैं. ये कहा जाए कि जादूगर हैं. वो बस फिल्म में आ जाएं और अपना डांस करें तो फिल्म वैसे ही 100 करोड़ क्लब में शामिल हो जाएगी. यही 'भारी' महत्वकांक्षी फिल्म रेस-3 के साथ भी हुआ. पहली दो (रेस) फिल्मों में सैफ को खिलाड़ी बनाने वाले प्रोड्यूसर्स ने इस बार सलमान पर भरोसा जताया. ईद के दिन रिलीज हुई फिल्म अब देखिए 106 करोड़ पार कर गई.

रेस-3 एक ऐसी फिल्म है जिसमें किसी भी वक्त कुछ भी होता रहता है. मतलब इस फिल्म में पैसों का व्यापार तो होना चाहिए था, लेकिन पैसे दर्शकों को मिलने चाहिए थे. मैं बिलकुल मानती हूं कि मैंने पायरेटेड फिल्म फोन पर देखी, लेकिन इसके लिए पैसे खर्चने का मन भी नहीं हुआ. फिल्म के एक डायलॉग में तो जैकलीन भी कह देती हैं. 'Oh god! इतने ट्विस्ट, When its gonna end' (हे भगवान, इतने ट्विस्ट... ये खत्म कब होगा.) अब खुद ही सोच लीजिए कि कैसे-कैसे ट्विस्ट आए होंगे. लॉजिक की मत पूछिए बस फिल्म देख डालिए. यहां सिर्फ सलमान खान के फैन्स ने ही अपने फेवरेट खान को पसंद किया होगा. फिल्म में जब सभी एक्टर देसी भाषा बोलने की कोशिश करते हैं तो उनकी मेहनत साफ दिखती है. न ही बेहतर तरीके से वो भाषा बोल पाते हैं और न ही कोई सीन लॉजिक के साथ होता है.

रेस 3, सलमान खान, बॉलीवुड, फिल्म

रेस सीरीज अपने सस्पेंस के लिए फेमस रही है, लेकिन सलमान खान वाली रेस में तो सस्पेंस का पता लगाना बहुत आसान हो गया था.

खैर, अब जिस तरीके से रेस-3 तरक्की कर रही है एक बात तो पक्की लग रही है कि रेस-4 में भी सलमान खान हो सकते हैं. रेस-3 में कहानी तो थी नहीं, लेकिन रेस-4 से क्या उम्मीदें की जाएं?

कैसी हो सकती है रेस 4 -

- स्टार कास्ट : सलमान खान, अनिल कपूर और बाकी जिसपर भी सलमान मेहरबान हों वो सभी.

- प्लॉट : सलमान शर्ट उतारेंगे और अंत में किसी स्वैग वाले डायलॉग के साथ फिल्म खत्म होगी.

- कहानी : अब कहानी का क्या बताएं. सलमान खान अपने स्वैग में एंट्री लेंगे. एक ऐसा रोमांटिक गाना होगा जिसे उन्होंने खुद लिखा होगा और गाया भी होगा. उनकी हिरोइन जैकलीन हों इसके काफी चांस हैं. दूसरी तरफ अनिल कपूर अपना अलग स्टाइल दिखा रहे होंगे. हां, रेस-3 में बॉबी देओल थे, उनका रेस-4 में होना न होना थोड़ा संशय का विषय है.

रेस-4 में भी गाड़ियां होंगी ही क्योंकि ये तो रेस-3 की यूएसपी बन गई थी. और रेस-4 में भी सलमान उसी तरह शर्ट उतार कर फिल्म में एक फाइट सीन देंगे और फिल्म खत्म होगी.

- स्टार : स्टार कितने मिले फिल्म तो वैसे भी 100 करोड़ क्लब में जाएगी.

रेस-4 में भी वो चार्म हो जो रेस-1 में था इसकी कल्पना करना थोड़ा मुश्किल है. रेस-3 देखते हुए तो लगता है कि सलमान अब सिर्फ अपनी सुपरस्टार इमेज को भुनाने की कोशिश कर रहे हैं और कुछ नहीं. उन्हें सिर्फ यही चाहिए कि वो फिल्म में शर्ट उतार कर कोई भी एक्शन करें, या कैसा भी डांस करें और बस काम हो जाए. पिछली ईद को रिलीज हुई 'ट्यूबलाइट' हो या इस ईद को रिलीज हुई रेस-3, अब वो बात नहीं रही कि हम सलमान की इस छवि को देखकर खुश हों. यकीनन रेस जैसी मल्टीस्टारर फिल्में चलेंगी बहुत, लेकिन ऐसा नहीं होगा कि इन फिल्मों से दर्शक खुश रहें.

4200 स्क्रीन पर एक साथ फिल्म उतार कर रेस-3 और ईद को सलमान ने भुना तो लिया, लेकिन वो एक बात में कच्चे रह गए कि उन्होंने कहानी पर ध्यान नहीं दिया. चाहें फिल्म 'रेडी' हो, 'किक' हो, 'ट्यूबलाइट' हो, 'प्रेम रतन धन पाया हो', 'जय हो' फिल्म हो या कोई और, ये लिस्ट लंबी चौड़ी है और इन फिल्मों में एक बात कॉमन रही है कि सलमान ने अपने सुपर स्टारडम को ही भुनाने की कोशिश की है.

अगर तीनों खानों को देखें तो सिर्फ और सिर्फ आमिर ही हैं जो अपनी उम्र के हिसाब से अब रोल कर रहे हैं, लेकिन बाकी चाहें शाहरुख हों या सलमान, फिल्में और उनका चुनाव सिर्फ और सिर्फ सुपर स्टारडम की बदौलत हो रहा है. बहरहाल, अगर मुद्दे से न भटकते हुए फिर रेस पर आएं तो ये साफ साबित हो गया कि सैफ अली खान ही इसके लिए बेस्ट च्वाइस थे.

ये भी पढ़ें-

Race-3: सलमान खान की फिल्मों में कहानी की जरूरत नहीं, उनका बस 'नाम ही काफी है'

Lust stories : फ़िल्म जिसमें महिलाओं के कैरेक्टर नहीं, कामुकता की बात है

लेखक

श्रुति दीक्षित श्रुति दीक्षित @shruti.dixit.31

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय