होम -> सिनेमा

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 17 मई, 2019 03:26 PM
श्रुति दीक्षित
श्रुति दीक्षित
  @shruti.dixit.31
  • Total Shares

अजय देवगन, तबू और रकुल प्रीत अभिनित प्रोड्यूसर लव रंजन और डायरेक्टर अकीव अली की फिल्म De De Pyaar De अब रिलीज हो गई है. फिल्म की कहानी का अंदाजा तो ट्रेलर से ही लगाया जा सकता है. Ajay Devgan (आशीष) लंदन के एक बिजनेसमैन हैं और उनकी मुलाकात होती है Rakul Preet (आयशा) से जो उनकी बेटी की उम्र की हैं, लेकिन दोनों को एक दूसरे के प्यार में पड़ जाते हैं. बात शादी तक पहुंच जाती है और इसी बीच अशीष जो अपने परिवार और पत्नी से कई सालों पहले अलग हो चुके हैं वो आयशा को अपने परिवार से मिलवाने ले जाते हैं. भारत आकर उन्हें पता चलता है कि उनका परिवार उनके बारे में क्या सोचता है और जब अजय की बेटी की शादी की बात चल रही होती है तो उन्हें लगता है कि वो अपनी जिम्मेदारियों को कैसे छोड़ चुके हैं. पर ये सब कुछ कॉमेडी के साथ दिखाया जाता है. जैसे आशीष (अजय) का बेटा अपनी होने वाली नई मम्मी यानी आयशा पर लाइन भी मारता हुआ दिखता है. जनरेशन गैप को काफी अच्छे से दिखाया गया है इस फिल्म में.

हालांकि, ये कॉमेडी फिल्म है, लेकिन फिल्म में कई ट्विस्ट भी आते हैं और कुछ इमोशनल सीन भी होते हैं. आशीष की पत्नी यानी Tabu अपने बच्चों और आशीष के परिवार को संभालती हैं. फिल्म में जिम्मी शेरगिल और जावेद जाफरी को स्क्रीन स्पेस कम मिली है, लेकिन वो भी बहुत अच्छे किरदार में हैं. इसके अलावा, आलोक नाथ के कॉमिक टाइमिंग की तो बात ही अलग है. अजय देवगन की मां के किरदार में मधुमाल्ती कपूर भी अच्छी कॉमिक टाइमिंग दिखा रही हैं.

दे दे प्यार दे मॉर्डन कॉमेडी फिल्म है जिसे देखने के बाद पैसे बर्बाद नहीं लगेंगे.दे दे प्यार दे मॉर्डन कॉमेडी फिल्म है जिसे देखने के बाद पैसे बर्बाद नहीं लगेंगे.

फिल्म लव रंजन की है तो आप इसमें भी महिलाओं का ऑब्जेक्टिफिकेशन देख सकते हैं, फर्क सिर्फ यही है कि इसमें कोई पुरुष नहीं बल्कि दो महिलाएं खुद एक दूसरे की बेइज्जती कर रही हैं और उनकी शक्ल, उम्र और रिश्तों को लेकर तंज कस रही हैं. बस यही एक बड़ी कमी है जो इस फिल्म में साफ तौर पर दिखती है. लव रंजन की इसके पहले की सभी फिल्में भी महिलाओं को सुखी संसार का विलेन बनाती हुई दिखती हैं, तो इससे और ज्यादा उम्मीद नहीं की जानी चाहिए.

ये फिल्म एक अच्छी कमाई वाली फिल्म बन सकती है, लेकिन इसकी रिलीज बहुत गलत समय पर हुई है. सबसे पहले लोकसभा चुनाव 2019 का आखिरी फेज और एग्जिट पोल इसी वीकएंड पर हैं. दूसरी रमजान के कारण भी इसे कम ऑडियंस मिल सकती है. लेकिन फिर भी De De Pyaar De Box Office Collection फिल्म विशेषज्ञों को खुश करने लायक तो आ सकता है.

हालांकि, कॉमेडी डोज और तीनों लीड कलाकारों की केमेस्ट्री बहुत अच्छी है और फिल्म के कई पंच सीट से उछल कर हंसने को मजबूर कर देंगे. 'दे दे प्यार दे' को लेकर सोशल मीडिया पर भी बहुत अच्छे रिव्यू मिल रहे हैं.

फिल्म में लिव-इन रिश्ते, तलाक और उम्र दराज रिश्ते के बारे में बात की गई है इसीलिए इसे मॉर्डन कॉमेडी कहना गलत नहीं होगा. हालांकि, इसके पहले भी ऐसे रिश्तों पर फिल्में बनी हैं, लेकिन ये कुछ नया टेक है.

दे दे प्यार दे के गाने भी काफी लोकप्रीय हो रहे हैं. गाना हौली-हौली पहले ही लोगों की जुबान पर चढ़ चुका है. इस फिल्म को लेकर एक और अच्छी बात है और वो ये कि फिल्म में तबू का किरदार बहुत ग्रेसफुल है. न सिर्फ वो कॉमेडी करती हैं, न सिर्फ वो एक सशक्त महिला हैं बल्कि वो खुद अपनी भावनाओं को व्यक्त करती भी दिखती हैं. वो अच्छी बहू हैं और अपनी हक की लड़ाई भी लड़ सकती हैं.

फिल्म में रकुल प्रीत की भी बहुत तारीफ की जा रही है. उनकी कॉमिक टाइमिंग भी फिल्म में देखने लायक है.

अजय देवगन एक बार फिर इस फिल्म से रोमांटिक किरदार में फिट बैठने की कोशिश कर रहे हैं और वो काफी हद तक सफल भी होते हैं. अजय की कॉमिक टाइमिंग को लेकर तो कोई सवाल उठा ही नहीं सकता. गोलमाल और धमाल जैसी सीरीज में अजय देवगन की एक्टिंग की तारीफ पहले भी हो ही चुकी है.

कुल मिलाकर De De Pyaar De फिल्म एक ऐसी एनटरटेनर है जिसे देखने जाना गलत फैसला नहीं साबित होगा. तो अगर इस फिल्म को देखने का प्लान बना रहे हैं तो टिकट बुक करवा लें. पैसा वसूल होगा.

ये भी पढ़ें-

सलमान खान पति से पहले पिता बन रहे हैं! ऐसा क्‍यों?

SOTY2: फिल्म देखने का मन बनाने से पहले उसके बारे में कुछ जान लें..

लेखक

श्रुति दीक्षित श्रुति दीक्षित @shruti.dixit.31

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय