होम -> सिनेमा

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 26 अक्टूबर, 2020 02:33 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

सोशल मीडिया के इस दौर में प्रेम में डूबी स्त्री या पुरुष का चेहरा कैसा दिखता है इसे न तो हमें जानना है न ही कोई इंटरेस्ट है. मगर इसमें कोई शक नहीं है कि OTT प्लेटफॉर्म पर एक साधारण से आदमी का किरदार निभाते पात्र का चेहरा जरूर एक्टर आर माधवन (R Madhavan) से मिलता है. ये आर माधवन की एक्टिंग या ये कहें कि चेहरा ही है जिसे हम जब जब देखते हैं तो महसूस होता है कि अरे ये तो बिल्कुल हम जैसा या हमारे आस पास का कोई है. हिट-फ्लॉप, हिट-फ्लॉप का खेल खेलकर आज एक मुकाम पर पहुंचे माधवन भी इस बात को समझते हैं. उन्हें पता है कि आज के इस समय में दर्शक चाहता क्या है? सवाल होगा ये बातें क्यों तो वजह है माधवन का अमेज़न प्राइम (Amazon Prime) की वेब सीरीज 'Breathe' के बाद दोबारा एक ऐसी सीरीज पर हाथ मारना जिसे देखकर दर्शक फिर चकित रह जाएंगे. बताते चलें कि बतौर डायरेक्टर अपनी पहली फ़िल्म 'रॉकेटरी' की रिलीज के बीच एक्टर आर माधवन ने एक बड़ा हाथ मारा है और एक ऐसी सीरीज 'डी-कपल्ड' (De- Coupled web series) अपने नाम की है जो न केवल आम आदमी की चुनैतियों को बयां करती है बल्कि वैवाहिक रिश्तों की परत खोलती नजर आती है.

R Madhavan, Web Series, Amazon Prime, Netflix, Producerएक्टर माधवन की खासियत ये है कि अपनी एक्टिंग से वो आम से आम लोगों को प्रभावित करते हैं

माधवन की इस नई सीरीज की कहानी का आधार गुड़गांव का एक ऐसा कपल है जो वक़्त की कमी और काम के बोझ के चलते एक दूसरे को वो टाइम नहीं दे पाता जो पति पत्नी के बीच की बॉन्डिंग को दूर तक ले जाते हैं. बता दें कि इस नए प्रोजेक्ट से फौरन पहले माधवन दुबई थे जहां उनकी वेब सीरीज 'सेवंथ सेंस' की शूटिंग चल रही थी. माना जा रहा है कि माधवन और हार्दिक मेहता की ये सीरीज 'डी-कपल्ड' मेट्रो सिटीज के उस सच को उजागर करेगी जिसको हम देखते तो रोज़ हैं लेकिन उससे मुंह फेर लेते हैं.

माधवन ने 2018 में आई क्राइम थ्रिलर वेब सीरीज 'ब्रीद' से OTT में आने की शुरुआत की थी. ब्रीद में जैसी एक्टिंग माधवन ने की लोगों ने उसे खूब सराहा. ये माधवन के अभिनय की खूबसूरती है कि जब भी वो अपना पात्र निभाते हैं महसूस ही नहीं होता कि कोई बहुत बड़ा सितारा है. लगता है कि कोई हमारे बीच का है जो रोल अदा कर रहा है.बात माधवन की इस नई सीरीज की हुई है तो बात दें कि माधवन फिलहाल अपनी वेब सीरीज सेवंथ सेंस की शूटिंग कर रहे हैं और जैसे ही ये शूटिंग खत्म होती है वो इस नई सीरीज 'डी-कपल्ड' की शूटिंग की शुरुआत करेंगे

गौरतलब है कि अभी कुछ समय पहले ही सिने जगत में ये खबर सुर्ख़ियों में थी कि विक्रमादित्य मोटवानी, भावेश मंडलिया और सेजल शाह के निर्माण में हार्दिक मेहता एक वेब सीरीज 'डी-कपल्ड' बना रहे हैं जिसमें अक्षय खन्ना लीड कैरेक्टर होंगे. अब जबकि हार्दिक मेहता की इस चर्चित सीरीज को लेकर नई जानकारियां सामने आई हैं. प्रोड्यूसर्स से विवाद के चलते अक्षय खन्ना ने यह वेब सीरीज छोड़ दी है और अब इसे आर माधवन ने लपक लिया जिन्हें जब इस सीरीज की कहानी सुनाई गयी तो उसने उन्हें खूब प्रभावित किया.

सीरीज के मद्देनजर क्रिटिक्स के बीच चर्चा जोरों पर है कि यदि या सीरीज कामयाब हुई तो इससे माधवन के फिल्मीं सफर को नयी गति मिलेगी.

सोशल मीडिया पर बज बन चुकी ये सीरीज एक ऐसे शादीशुदा जोड़े की कहानी है जो गुरुग्राम में रहता है. पति पत्नी में खूब लड़ाई होती है और नौबत एक दूसरे का साथ छोड़ने की आ जाती है. लेकिन दोनों की शादी सिर्फ इसलिए नहीं टूट रही क्योंकि उनकी एक आठ साल की बेटी है, जिसे माता और पिता दोनों ही बहुत प्यार करते हैं और अपने से दूर नहीं देख सकते हैं. इस नयी सीरीज में माधवन एक ऐसे लेखक का किरदार निभा रहे हैं जो संघर्ष कर रहा है और पहचान का मोहताज है. वहीं माधवन की पत्नी के रूप में हमें पर्दे पर अक्सर ही अपने हॉट लुक के कारण सुर्ख़ियों में रहने वाली सुरवीन चावला दिखेंगी.

चूंकि इस सीरीज की यूएसपी इसमें माधवन का होना है. तो हमारे लिए भी ये बताना बहुत जरूरी है कि OTT के इस दौर में आर माधवन उन चुनिंदा लोगों में शामिल हैं जिन्हें इन दिनों हाथों हाथ लिया जा रहा है. फ़िलहाल माधवन 'सेवंथ सेंस' की शूटिंग में व्यस्त हैं. इसके अलावा वह हिंदी और अंग्रेजी भाषा की फिल्म 'रॉकेट्री- द नांबी इफेक्ट' की रिलीज के दौरान भी अपने फैंस को हैरत में डालेंगे. इसके अलावा एक बायोग्राफिकल ड्रामा भी शूट कर रहे हैं जिसमें न सिर्फ वो लीड एक्टर है बल्कि फिल्म के को-प्रड्यूसर और डायरेक्टर भी हैं.

बहरहाल माधवम की आने वाली ये सीरीज 'डी-कपल्ड' हिट होती है या फिर दर्शक इसे फ्लॉप करार देते हैं इसका फैसला वक़्त करेगा. लेकिन जैसा वर्तमान है वो माधवन के लिए इस लिहाज से भी दिलचस्प है. क्योंकि एक आम दर्शक उन्हें अपने से जोड़कर स्क्रीन पर देखता है. दर्शक को लगता है कि ये कहानी मेरी है. ऐसा बहुत कुछ मेरे आस पास होता है और ये मुझसे जुड़ा है. कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि एक आम आदमी के लिए आम आदमी बनकर माधवन ने आम आदमी की दुखती रग पकड़ ली है और जब स्थिति ऐसी हो तो उन्हें सफल होने से कोई नहीं रोक सकता.

ये भी पढ़ें -

Mirzapur 2 review: सीरीज़ देखिए मगर दिमाग के जाले साफ करके (पोस्टमार्टम)

Mirzapur 2 review: महफ़िल लूटने के फेर में खुद लुट बैठा मिर्जापुर का सीजन 2

Laxmmi Bomb: अक्षय कुमार भी फंसे हिंदू धर्मावलंबियों की भावना आहत करने के नाम पर  

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय