होम -> टेक्नोलॉजी

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 21 जुलाई, 2017 10:04 PM
ऑनलाइन एडिक्ट
ऑनलाइन एडिक्ट
 
  • Total Shares

कहते हैं कि जब तक कोई चीज बैन नहीं होती तब तक वो लीगल रहती है. अब इसे आप कई चीजों से जोड़ सकते हैं. उनमें से ही एक है पोर्न. भारत में पोर्न बैन नहीं है (कुछ एक साइट्स को छोड़ दें) और ये लीगल भी नहीं है. अगर सिर्फ भारत की बात की जाए तो लोग किस हद तक पोर्न देखते हैं इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पिछले साल भारत दुनिया की तीसरी सबसे ज्यादा पोर्न देखने वाला देश बन गया था. उसके पिछले साल ये चौथे नंबर पर था.

अब अगर देखा जाए तो भारत में पोर्न और सेक्स को लेकर सिर्फ एक ही अहम नियम है और वो ये कि ये किसी के सामने नहीं दिखना चाहिए. हिंदुस्तान में चाहें नेता हो या कोई धर्म गुरू या कोई शिक्षक गाहे-बगाहे सेक्स पोर्न की निंदा कर ही देते हैं, लेकिन पब्लिक कहां मानने वाली है. चाहें ऊपर से जितनी भी निंदा हो पोर्न के बिना शायद नींद नहीं आती. तभी तो पोर्न देखने से लेकर पॉपुलेशन बढ़ाने तक हर बात में हम आगे हैं. खैर, ये एक व्यंग नहीं जरूरी जानकारी वाली स्टोरी है तो उसी पर रहते हैं.

porn, android, computer

क्या आप जानते हैं कि भारत में पोर्नोग्राफी के नियम क्या हैं? क्या लीगल है और क्या गैरकानूनी... तो चलिए आपको बताते हैं भारत में पोर्नोग्राफी के कितने अनूठे नियम हैं....

1. भारतीय साइट नहीं लेकिन विदेशी सही है...

भारत में पोर्नोग्राफी अलाउड नहीं है यहां कोई इंडियन पोर्न स्टार लीगल नहीं है. लेकिन अगर पोर्न भारत के लीगल मैटर में ही ना हो तो? साइबर ब्लॉग इंडिया में नितीश चंदन जो एक साइबर लॉ एक्सपर्ट हैं कहते हैं कि अगर किसी देश में पोर्नोग्राफी लीगल है और वहां की कोई साइट लोग देख रहे हैं तो इसपर भारतीय कानून का कोई दांव-पेंच नहीं चलेगा.

2. तो क्या विदेशी साइट पर कुछ भी देखा जा सकता है?

इसका जवाब है नहीं. भारत में चाइल्ड पोर्नोग्राफी हर मामले में बैन है. हालांकि, कई साइट्स इसे होस्ट करती हैं फिर भी बैन नहीं की गई हैं.

3. सेक्स स्टोरी का क्या होगा?

देखिए इमानदारी से मस्तराम की कहानियां पढ़ने वाले लोगों को मैं बता दूं कि इस तरह की बातें बिलकुल हमारी संस्कृति में वो क्या कहते हैं इंग्लिश में 'अलाउड' नहीं हैं. तो अगर आप लिख रहे हैं या किसी भी तरह से इसे फॉर्वर्ड कर रहे हैं तो कानूनी कार्यवाही के लिए तैयार रहें (अगर कभी पकड़े गए तो) ... बशर्ते यहां भी एक पेंच है. अगर अमेरिका में ये स्टोरी लीगल है और आप वहां की किसी साइट से ये पढ़ रहे हैं तो आप कोई कानून नहीं तोड़ रहे.

भगवान जाने ये क्या नियम है.......

4. किसी को आपत्ति‍जनक फोटो भेजना...

राम-राम... तौबा-तौबा... नाश हो जाए उसका जो ये भेज रहा है. अगर आपको किसी ने कोई आपत्तीजनक फोटो भेजी है (अपनी या किसी और की .. अगर आप समझ रहे हों मेरा मतलब तो..) तो आप सीधा साइबर सेल में रिपोर्ट दर्ज करवा सकते हैं. वीडियो से तो खास तौर पर बचें नहीं तो जुर्माना और जेल दोनों हो सकती हैं. इसी में एक बात और है कि आप किसी से ऐसी कोई भी वस्तु मांग नहीं सकते हैं. अब भले घर के हैं आप इस तरह की हरकतें शोभा नहीं देती.

5. घर में सब लीगल है...

थ्री ईडियट्स का वो डायलॉग याद है आपको ' स्... होता सबके पास है लेकिन सब छुपाकर रखते हैं' अब थोड़ा सेंसर तो मुझे भी करना ही पड़ेगा ना इसलिए डायलॉग पूरा नहीं लिखा. तो कुछ-कुछ ऐसा ही हमारी सरकार के साथ. मतलब पोर्न अगर आपके लैपटॉप में है और आप घर में देख रहे हैं तो चलेगा. कोई कुछ नहीं करेगा. अगर आप उसे बेच रहे हैं या किसी से शेयर कर रहे हैं तो ये गैरकानूनी है.

6. सेक्स और पोर्न प्रेरणा देने या सिखाने के लिए भेजा जा सकता है...

ये कुछ नया है. ये एक ऐसा नियम है जिसके चलते कई लोग बच सकते हैं. लूपहोल भी कहा जा सकता है इसे. इस नियम के चलते अगर आपने किसी ऐसे विडियो फोटो को शेयर किया है जिससे किसी तरह की सेक्स एजुकेशन मिल रही हो और आपका उसे भेजने का मकसद गलत नहीं है तो ये गैरकानूनी नहीं है.

तो नियमों और कायदे का ध्यान रखें...

ये भी पढ़ें-

...तो इसलिए पोर्न को ना माने सेक्स एजुकेशन का हिस्सा

ज्यादा पॉर्न देखने के कारण रेप कम होते हैं या बढ़ते हैं !

लेखक

ऑनलाइन एडिक्ट ऑनलाइन एडिक्ट

इंटरनेट पर होने वाली हर गतिविधि पर पैनी नजर.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय