charcha me| 

होम -> टेक्नोलॉजी

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 27 अप्रिल, 2019 02:33 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

हाल ही में मारुति सुजुकी की तरफ से आई एक खबर ने ऑटोमोबाइल मार्केट में सनसनी मचा दी. खबर थी कि मारुति की तरफ से ऐसी सूचना आई है कि कंपनी अप्रैल 2020 तक डीजल इंजन कार बेचना बंद कर देगी! इक खबर के आते ही लगभग सभी ऑटोमोबाइल वेबसाइट्स पर हाहाकार मच गया और तो और कुछ वेबसाइट्स पर ये खबरें भी चल गईं कि 'मारुति की ये कारें अब नहीं मिलेंगीं'! पर क्या वाकई में ऐसी बात है?

दरअसल, ये सिर्फ एक छोटी सी गलती के कारण हुआ है. मारुति का डीजल इंजन को लेकर फैसला जरूर आया है पर वो सभी डीजल इंजन के लिए नहीं है बल्कि 1.3 लीटर के डीजल इंजन के लिए है जो फिएट कंपनी द्वारा लिया जाता है. ये इंजन 1 अप्रैल 2020 को मिलना बंद हो जाएगा क्योंकि उस दिन से BS-VI उत्सर्जन मानदंड (एमिशन नॉर्म) लागू हो जाएंगे. कंपनी के चेयरमैन आर सी भारगव का कहना है कि डीजल इंजन उसके बाद भी मिलेंगे पर कंपनी की BS VI रणनीति इसी बात पर निर्भर करेगी कि उस समय मार्केट में कैसी डिमांड है. अगर लोगों को डीजल गाड़ियां चाहिए होंगी तो उन्हें मिलेंगी.

कारण ये है कि ये इंजन भारत स्टेज VI मानदंडों को पूरा नहीं कर पाएगा और प्रदूषण को लेकर लागू किए जा रहे ये नियम साफ कहते हैं कि तय लिमिट से ज्यादा अगर प्रदूषण फैल रहा है तो ये गैरकानूनी है. मारुति इस इंजन को BS-VI नियमों के हिसाब से बना सकती है, लेकिन अगर वो ऐसा करती है तो कंपनी को इसके लिए बहुत ज्यादा कीमत चुकानी होगी.

मारुति, डीजल इंजन, कारमारुति की डीजल गाड़ियों का भविष्य कस्टमर डिमांड पर भी काफी हद तक निर्भर करता है.

कौन-कौन सी मारुति गाड़ियों पर पड़ेगा असर-

फिलहाल, मारुति सुजुकी की डीजल गाड़ियों में स्विफ्ट, डिजायर, वितारा ब्रीजा, एर्टिगा, बलेनो, सियाज और एस-क्रॉस शामिल हैं. मारुति के पास दो डीजल इंजन हैं एक 1.3 लीटर का फिएट और दूसरा 1.5 लीटर का DDiS 225 डीजल इंजन जो कंपनी का खुद का है. अभी तो दोनों ही इंजन BS-VI नियमों के हिसाब से नहीं हैं.

सबसे ज्यादा बिकने वाली मारुति गाड़ियों पर असर!

मारुति सुजुकी वितारा ब्रीजा जो भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाली कॉम्पैक्ट SUV कार है उसमें सिर्फ एक ही डीजल इंजन वेरिएंट है जिसमें 1.3 लीटर का 4 सिलेंडर वाला DDiS 200 इंजन लगा हुआ है. इसमें 90 हॉर्स पावर और 200 Nm टॉर्क है. पर इस गाड़ी में भी सिर्फ BS-IV (BS4) स्टैंडर्ड ही है. इसी के साथ, मारुति सुजुकी एस-क्रॉस के साथ भी यही दिक्कत है कि वो सिर्फ DDiS 200 स्मार्ट हाइब्रिड 1.3 लीटर के डीजल इंजन के साथ आती है. दोनों ही गाड़ियों में पेट्रोल विकल्प मौजूद नहीं है.

इन दोनों ही गाड़ियों के अलावा मारुति सुजुकी की बाकी सभी गाड़ियों में पेट्रोल इंजन का विकल्प मौजूद है. जहां तक मारुति के बाकी इंजन का सवाल है तो हाल ही में मारुति सुजुकी ने प्रीमियम हैचबैक बलैनो गाड़ी लॉन्च की है जिसमें 1.2 लीटर का डुअलजेट, डुअल VVT, BS VI स्टैंडर्ड वाला पेट्रोल इंजन है जिसमें स्मार्ट हाइब्रिड तकनीक है. साथ ही पुराना 1.2 लीटर का VVT पेट्रोल इंजन भी BS-VI के हिसाब से किया जा सकता है.

इसके अलावा, मारुति सुजुकी अल्टो 800 फेसलिफ्ट भी BS-VI स्टैंडर्ड वाले 796cc पेट्रोल इंजन के साथ लॉन्च हो चुकी है जो 48 bhp के साथ 69 Nm का टॉर्क देती है.

मारुति सुजुकी को अभी कई बातों के लिए फैसला लेना है जैसे ह्युंडई वेन्यू के आने से जो उनकी कॉम्पैक्ट SUV की बिक्री पर असर पड़ेगा उसका क्या होगा. Hyundai Venue की लॉन्चिंग भारतीय मार्केट में 21 मई को होगी और उसमें दो पेट्रोल इंजन के साथ एक डीजल इंजन का भी विकल्प है.

फिलहाल, इस बात का कोई फैसला नहीं हुआ है कि आखिर मारुति के 1.3 लीटर के डीजल इंजन के विकल्प में कंपनी क्या करेगी, लेकिन जो भी हो कम से कम कार प्रेमियों को इस बात की शांति मिल सकती है कि सिर्फ एक ही इंजन बंद होने जा रहा है.

(ये स्टोरी सबसे पहले IndiaToday Auto में पब्लिश हुई थी.)

ये भी पढ़ें-

MG Hector: इंग्‍लैंड होकर भारत के कार बाजार में घुसने जा रहा है चीन

इलेक्ट्रिक कार से एक भारतीय ने 5 साल में बचा लिए हैं 5 लाख!

 

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय