होम -> टेक्नोलॉजी

 |  3-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 09 सितम्बर, 2017 02:00 PM
श्रुति दीक्षित
श्रुति दीक्षित
  @shruti.dixit.31
  • Total Shares

आईफोन लॉन्च होने में अब कुछ ही दिन रह गए हैं और इंटरनेट पर इससे जुड़ी अफवाहों का बाजार भी गर्म हो गया है. आईफोन 8 या आईफोन X (जो भी इसका नाम होगा) से जुड़ी कई खबरें हम पहले भी आपको आईचौक बता चुके हैं. इस फोन की अफवाहें, इसकी संभावित खूबियां और संभावित खामियां भी बताई जा चुकी हैं, लेकिन अभी भी कई बातें हैं जो बतानी बाकी है. आईफोन एक ट्रेंड सेटर है इसके बारे में तो सभी को पता है. तो इस बार ऐसी कौन सी चीजें आईफोन के साथ होने वाली हैं जो एक ट्रेंड बन सकती हैं...

आईफोन, आईफोन 8, एपल, तकनीक

1. बिन होम बटन वाले फोन...

होम बटन और उसपर फिंगरप्रिंट सेंसर का ट्रेंड सेट करने की बात कही जाए तो वो तो आईफोन ने ही किया था इसमें कोई शक नहीं है. स्टीव जॉब्स ने जब पहला आईफोन लॉन्च किया था तब उसे छोटे से मोबाइल डिवाइस में स्क्रीन के नीचे दिया गया होम बटन एक फैशन बन गया था. इतने सालों तक आईफोन के होम बटन ट्रेडमार्क बना रहा. अब जब खबर ये है कि एपल ही इसे अपने फोन में नहीं रखेगा तो ये अपने आप में एक नया ट्रेंड ही होगा.

2. वायरलेस चार्जिंग...

खबरों की माने तो आईफोन 8 में अब वायरलेस चार्जिंग आएगी. भले ही ये सैमसंग ने पहले ही लॉन्च कर दिया हो, लेकिन इसे आम लोगों तक पहुंचना अभी बाकी है. इसकी उम्मीद की जा सकती है कि आईफोन 8 में लॉन्च होने के बाद इसे चीनी स्मार्टफोन्स में देखा जाने लगे. क्या पता किसी चीनी कंपनी के अगले फ्लैगशिप स्मार्टफोन में वायरलेस चार्जिंग आ जाए और उसके बाद बजट फोन्स में भी ये फीचर आने लगे.

3. इन्फिनिटी स्क्रीन...

जी हां, इसे सैमसंग, एलजी, शाओमी जैसी कंपनियां पहले ही लॉन्च कर चुकी हैं, लेकिन क्या ये अभी तक ट्रेंड है? फिलहाल तो नहीं. ये तो जी लेटेस्ट तकनीक है. और इतिहास गवाह है कि आईफोन की लॉन्चिंग के बाद इसकी भी उम्मीद की जा सकती है कि आने वाले समय में लगातार बेजल लेस यानि एज टू एज स्क्रीन आधिकतर स्मार्टफोन्स में आएगी.

आईफोन, आईफोन 8, एपल, तकनीक

4. कीमती फ्लैगशिप...

फ्लैगशिप स्मार्टफोन्स 2017 में लगातार महंगे हो रहे हैं. चाहें हम किसी भी कंपनी को लें सभी स्मार्टफोन्स जैसे वनप्लस 5, हुआवी पी9 या लेटेस्ट सैमसंग गैलेक्सी नोट 8 पहले की तुलना में कुछ महंगे रहे हैं. गैलेक्सी नोट 8 तो लगभग 60000 की रेंज में है तो एपल को इससे तो थोड़ा आगे रहना पड़ेगा. टेक एक्सपर्ट्स की मानें तो एपल आईफोन 8 कुछ 1000 डॉलर (लगभग 63785 रुपए) के आस पास का होगा. अगर बेस मॉडल इतना महंगा होता है तो फिर आने वाले समय में अलग-अलग स्मार्टफोन कंपनियों से यही उम्मीद कर सकते हैं कि फ्लैगशिप स्मार्टफोन की कीमतें बढ़ेंगी.

5. ऑगमेंटेड रिएलिटी...

टिम कुक का इस तकनीक पर बहुत ही ज्यादा भरोसा है. कुक पहले ही कह चुके हैं कि ऑगमेंटेड रिएलिटी वर्चुअल रिएलिटी से ज्यादा बड़ी होगी और इसका असर आईओएस 11 में देखा भी जा सकता है. इस सिस्टम को किसी अलग हार्डवेयर की जरूरत नहीं होगी और जैसे ही आईओएस 11 सर्कुलेट होगा वैसे ही लाखें यूजर्स इस तकनीक का इस्तेमाल करेंगे. नया फेस आईडी सिस्टम दरअसल, इंफ्रारेड ट्रांसमिटर और रिसीवर के साथ आएगा और कैमरा के साथ नए ऑगमेंटेड रिएलिटी फीचर्स भी आएंगे क्योंकि आईओएस 11 ये सभी फीचर्स सपोर्ट करेगा. मतलब कैमरा में आपको बहुत कुछ नया मिल सकता है.

जब स्मार्टफोन्स की कीमतें बढ़ेंगी तो उम्मीद है कि ये भी पूछा जाएगा कि आखिर तकनीक क्या दी जा रही है. जब एपल ट्रेंड सेटर है ही और फीचर्स के मामले में ऑगमेंटेड रिएलिटी आईफोन 8 के सबसे हाईलाइटेड फीचर्स में से एक है. तो फिर यही कहा जा सकता है कि आने वाले फ्लैगशिप स्मार्टफोन्स में भी इसी तरह के फीचर्स हों.

ये भी पढ़ें-

आईफोन का दसवां बर्थडे क्‍या इतना फीका होगा !

पढ़िए आईफोन के जन्म की सीक्रेट कहानी, वो 10 साल का हो गया है

Apple, WWDC 2017, Iphone

लेखक

श्रुति दीक्षित श्रुति दीक्षित @shruti.dixit.31

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय