होम -> स्पोर्ट्स

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 31 मई, 2019 05:17 PM
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujkumarmaurya87
  • Total Shares

World Cup 2019: लोकसभा चुनाव से पहले यूपीए को एक चैलेंजर के तौर पर देखा जा रहा था. विपक्ष ने भी ठान ली थी कि इस बार उनका सिर्फ एक ही मकसद है कि मोदी को हराना है. यूपीए ने चुनाव तो पूरे जोश से लड़ा, लेकिन नतीजे देखकर आंसू निकल गए. कुछ वैसा ही पाकिस्तान (Pakistan cricket team) के साथ हुआ है. लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Election 2019) में यूपीए सिर्फ 91 सीटें जीत सकी. वैसे ही वर्ल्ड कप के अपने पहले ही मैच में पाकिस्तान की हालत टाइट दिख रही है. वेस्ट इंडीज के सामने पाकिस्तान की पूरी टीम महज 105 रन बनाकर ढेर हो गई. यानी ये कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि वर्ल्ड कप में पाकिस्तान की हालत बिल्कुल वैसी हो गई है, जैसी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हो गई थी.

पाकिस्तान ने 1992 में वर्ल्ड कप चैंपियनशिप जीती थी. उस समय इमरान खान पाकिस्तान टीम के कप्तान थे, जो आज पाकिस्तान में प्रधानमंत्री हैं. इस बार जब पाकिस्तान वर्ल्ड कप खेलने के लिए मैदान में उतरी तो इमरान खान ने पाकिस्तान को खूब बधाई दी. मैच से पहले पाकिस्तान ने जिस तरह का माहौल बनाया था, यूं लग रहा था कि इस बार पाकिस्तानी टीम टक्कर देगी. लेकिन वेस्ट इंडीज के सामने वह भीगी बिल्ली बन गए हैं.

world cup pakistan teamपाकिस्तान की टीम 21.4 ओवर में सिर्फ 105 रन बनाकर ऑल आउट हो गई.

मलाला ने बताया था भारत से बेस्ट

वर्ल्ड कप ओपनिंग सेरेमनी में सभी 10 देशों से कुछ पूर्व क्रिकेटर और सेलेब्रिटी पहुंचे थे. भारत की ओर से पूर्व क्रिकेटर अनिल कुंबले और गायक-अभिनेता फरहान अख्तर मैदान में उतरे, जबकि पाकिस्तान की ओर से पूर्व क्रिकेटर अजहर अली और मलाला युसुफजई खेलने आए. वहां 60 सेकेंड चैलेंज का एक गेम खेला गया, जिसमें भारत ने मह 19 रन बनाए और आखिरी रहा. वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान ने भारत से दोगुने 38 रन बनाए. जब मैच के बाद मलाला से उनकी टीम के प्रदर्शन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा- 'पाकिस्तान, हम लोग सही हैं, हमारा खेल ज्यादा बुरा नहीं है. हम सातवें नंबर पर आए. लेकिन कम से कम हम भारत की तरह आखिरी तो नहीं आए.'

मजाक में ही सही, लेकिन मलाला ने तो पाकिस्तान की तारीफ करते हुए भारत को नीचा दिखा दिया था. अब वेस्ट इंडीज के सामने पाकिस्तानी सूरमा देखते ही देखते गीदड़ से बन गए हैं. हालत इतनी बुरी है कि अपने हिस्से के आधे ओवर भी नहीं खेल सके. सिर्फ 21.4 ओवर में वह महज 105 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. कुछ ऐसा ही यूपीए के साथ हुआ था. मैदान में तो वह पूरे जोश से उतरे थे, लेकिन एनडीए से राजनीतिक के खेल में बुरी तरह से हारे. जहां एनडीए को 353 सीटें मिली थीं, वहीं यूपीए सिर्फ 91 पर सिमट गई थी.

पाकिस्‍तान-वेस्‍ट इंडीज मैच को लेकर वैसे तो भारत में कोई दिलचस्‍पी नहीं थी, लेकिन वर्ल्‍ड कप 2019 के इस दूसरे मुकाबले में पाकिस्‍तानी बल्‍लेबाजी की जो दुर्गति हुई, उसका सोशल मीडिया पर लोगों ने खूब मजा लिया.

ट्रेंट ब्रिज (नॉटिंघम) की उछाल वाली पिच पर पाकिस्‍तानी बल्‍लेबाज वेस्‍ट इंडीज बॉलरों के सामने उछलते ही रहे. जैसे तैसे अपने शरीर को बचाने के फेर में बॉल अनियंत्रित होकर हवा में जाती और फील्‍डरों के हाथ में समा जाती.

हालांकि, कई पाकिस्‍तानियों ने उम्‍मीद नहीं छोड़ी. इतिहास की याद दिलाते हुए बताया कि 1992 विश्‍वकप के पहले मैच में भी पाकिस्‍तान वेस्‍ट इंडीज से हार गया था. लेकिन आखिर में वह विश्‍वकप जीत गया. लेकिन, इस विचार की कई लोगों ने ये कहते हुए खिल्‍ली उड़ाई कि फर्क ये है कि तब कप्‍तान इमरान खान थे, अब नहीं.

पूरी पाकिस्‍तानी टीम का 22वें ओवर में ही ऑल आउट हो जाना इस वर्ल्‍ड कप की चुनौतियों को उजागर कर रहा है. इंग्‍लैंड की तेज उछाल वाली पिच पर जिस तरह से पाकिस्‍तानी टीम से आत्‍म समर्पण किया है, उससे भारत सहित दक्षिण एशिया की टीमों को सबक लेने की जरूरत है. 5 जून को भारत अपना पहला मुकाबला दक्षिण अफ्रीका से खेलेगा.

ये भी पढ़ें-

'लव यू मोदी जी, लव यू टू माइनॉरिटी!'

अमित शाह मंत्री बने तो BJP अध्यक्ष कौन बनेगा? दो विकल्‍प लेकिन कई चुनौती

नरेंद्र मोदी सरकार के सामने हैं 6 बड़ी चुनौतियां

World Cup 2019, Pakistan Cricket Team, Pakistan Vs West Indies

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय