charcha me| 

होम -> स्पोर्ट्स

 |  7-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 16 जून, 2019 03:20 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

भारत और पाकिस्तान की भिड़ंत अगर क्रिकेट के मैदान में हो रही है तो इसका मतलब सीधा सा है. पूरी दुनिया के क्रिकेट प्रेमी इस मैच का इंतजार कर रहे हैं! India Vs Pakistan ICC World CUP Match कितना जरूरी है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले 1 हफ्ते से लगातार इस मैच से जुड़े ट्रेंड ट्विटर पर देखे जा सकते हैं. इंग्लैंग के Old Trafford Cricket Ground में खेला जाने वाला India Vs Pakistan Live मैच किसी महामुकाबले से कम नहीं है. अगर वर्ल्ड कप फाइनल के अलावा, किसी मैच के लिए बेहद उत्सुकता रहती है तो वो भारत-पाकिस्तान का मैच ही है. सुबह से ही लोग Manchester Weather Updates देखने में व्यस्त हैं और इंद्र देव से प्रार्थना की जा रही है कि इस मैच में बारिश न हो. ट्विटर पर #OldTrafford और #IndiaVsPakistan हैशटैग के साथ लोगों का उत्साह देखते ही बनता है.

जहां एक ओर भारत और पाकिस्तान अपनी भिड़ंत को तैयार हैं और India Playing 11 देखने के लिए सभी सांसें थाम कर बैठे हैं वहीं इतिहास के पन्नों में भारत-पाकिस्तान वर्ल्ड कप मुकाबले में 6 बार भिड़े हैं और इन सभी में भारत को जीत हासिल हुई है. ये दोनों ही टीमें कभी फाइनल मुकाबले में नहीं भिड़ीं. वर्ल्ड कप में हमेशा ही टीम इंडिया पाकिस्तान पर भारी पड़ी है और हर बार मुकाबले का जोश कुछ अलग ही होता है.

पाकिस्तान वर्ल्ड कप में कभी हमसे नहीं जीत पाया, लेकिन अगर सभी मैचों की बात की जाए तो पाकिस्तान अभी तक खेले गए सभी मैचों में भारत को 73 बार हरा चुका है, यहीं भारत ने पाकिस्तान पर सिर्फ 54 बार ही विजय हासिल की है. ये India Vs Pakistan मैच का पूरा रिकॉर्ड ये कहता है कि वर्ल्ड कप में भारत का पलड़ा हमेशा भारी रहा है.

इस बार वर्ल्ड कप में भारत पुराने इतिहास को दोहराने की कोशिश करेगा और पाकिस्तान को हरा देगा.इस बार वर्ल्ड कप में भारत पुराने इतिहास को दोहराने की कोशिश करेगा और पाकिस्तान को हरा देगा.

1. 1992 का वर्ल्डकप: सिडनी में भारत 43 रनों से जीता था

भारत और पाकिस्तान का मुकाबला पहली बार 1992 के वर्ल्ड कप में हुआ था. वर्ल्ड कप टूर्नामेंट 9 साल पहले शुरू हुआ था और भारत-पाकिस्तान को एक मैदान में आने में इतने साल लग गए थे. इस मैच में अजय जडेजा और सचिन तेंदुलकर की पारी काफी अच्छी रही. जडेजा ने 46 और तेंदुलकर ने 54 (नॉटआउट) रन बनाए और भारतीय टीम 216/7 रनों का लक्ष्य खड़ा करने में कामियाब रही थी. पाकिस्तान इस मुकाबले में टीम को जावेद मियांदाद के 110 बॉल पर सिर्फ 40 रन बनाने के चक्कर में नुकसान हुआ था. इस मैच की एक हाईलाइट थी जावेद मियांदाद का ऊपर नीचे उछलना जिसमें वो स्किपर किरन मोरे की नकल उतार रहे थे.

2. 1996 का वर्ल्ड कप: बेंगलुरु में भारत 39 रनों से जीता था

भारत के सबसे चर्चित ओपनर में से एक नवजोत सिंह सिद्धू ने इस खेल में 93 रन बनाए थे और वैंकटेश प्रसाद ने 45 रनों में 3 विकेट लिए थे और भारत ने इस खेल में 287/8 रन बनाए थे. इसी के साथ, पाकिस्तान ने 248/9 रनों पर ही हार को गले लगा लिया था. अजय जडेजा ने आखिरी कुछ ओवर में 45 रन बनाए थे और वकार यूनिस की गेंदबाजी का जमकर मुकाबला किया था. स्लॉग ओवर्स में वकार इन-स्विंग यॉर्कर डालेंगे जडेजा को अहसास था और उन्होंने उस गेंद का इंतजार किया और उस पर छक्के जड़े. 25 गेंदों पर जडेजा के 45 रनों की बदौलत भारत ने 287 रनों का लक्ष्य रखा. जब पाकिस्तान बल्लेबाज़ी के लिए उतरा तो आमिर सोहेल ने ज़बरदस्त बैटिंग की और एक वक्त पाकिस्तान का स्कोर एक विकेट पर 113 रन था. वेंकटेश प्रसाद की गेंदों पर छक्के जड़ने के बाद आमिर के साथ मैदान पर ही उनकी नोंकझोंक हुई. लेकिन इसके बाद वेंकटेश ने आमिर को क्लीन बोल्ड कर दिया. इसके बाद पाकिस्तान के मिडिल ऑर्डर में जावेद मियांदाद और सलीम मलिक ने बाज़ी संभालने की कोशिश की, लेकिन अनिल कुंबले और वेंकटपति राजू की गेंदबाज़ी के आगे वो नहीं टिक पाए.

3. 1999 का वर्ल्ड कप: मैंचेस्टर में ही भारत 47 रनों से जीता था

कार्गिल युद्ध के समय ये खेल काफी रोचक हो गया था. दोनों देशों और दोनों टीमों के बीच बेहद संवेदनशील हालात चल रहे थे. इस मैच में भी भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए छह विकेट पर 227 रनों का स्कोर खड़ा किया, जिसमें सचिन (45) और राहुल द्रविड़ (61) के योगदान अहम रहे. कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने भी 59 रन बनाए. भारतीय टीम ने गेंदबाज़ी में भी बहुत अच्छा प्रदर्शन किया. पाकिस्तान इस मैच में 45.3 ओवरों में 180 रन बनाकर धराशायी हो गया था. भारत के लिए वेंकटेश प्रसाद ने पांच और जवागल श्रीनाथ ने तीन विकेट लिए थे. इस मैच में गेंदबाज़ों का प्रदर्शन देखने लायक था.

4. 2003 का वर्ल्ड कप: भारत 6 विकेट से जीता था

सचिन तेंदुलकर ने साबित कर दिया था इस मैच में कि वो मास्टर ब्लास्टर क्यों कहे जाते हैं. India Vs Pakistan के मैच में 75 गेंदों पर 98 रन बनाकर सचिन ने धुआंधार पारी खेली थी. पाकिस्तान ने इस गेम में पहले बल्लेबाज़ी का फैसला किया था और 273/7 का स्कोर खड़ा कर शायद ये सोचा हो कि भारत को वो हरा देगा. पाकिस्तानी खिलाड़ी सईद अनवर ने इस खेल में अपनी 20वीं सेंचुरी भी बनाई थी. पर सचिन तेंदुलकर ने शोएब अख्तर को जिस तरह से निराश किया वो देखने लायक था. इस मैच में रावलपिंडी एक्सप्रेस की गेंदबाज़ी काम नहीं कर पाई थी और भारत को 6 विकेट से जीत हासिल हुई थी.

5. 2011 का वर्ल्ड कप: भारत 29 रनों से जीता था

इस मैच में भी सचिन तेंदुलकर ने अपना बल्ला घुमाया था और 85 रन बनाए थे. सचिन के रनों की मदद से 260/9 का स्कोर टीम इंडिया खड़ा कर पाई थी. टीम इंडिया इस वर्ल्ड कप में जीतने वाली थी इसलिए पाकिस्तान का हारना जरूरी था. पाकिस्तान के वाहब रियाज़ ने टीम इंडिया के 5 विकेट लिए, लेकिन फिर भी रनों को रोक नहीं पाए. साथ ही, बड़ा स्कोर खड़ा करने के बाद पाकिस्तान रन रेट नहीं बना पाया. मिस्बाह उल हक ने फिर भी 56 रन बनाकर पाकिस्तान को सहारा देने की कोशिश की. जीतने के बाद भारत फाइनल में पहुंच गया और 28 साल का इंतजार आखिर खत्म हुआ और भारत श्रीलंका को हराकर वर्ल्ड कप जीत गया.

6. 2015 का वर्ल्ड कप: भारत ने एडलेड में पाकिस्तान को 76 रनों से हराया

भारतीय क्रिकेट टीम में सचिन तेंदुलकर के बाद अब विराट कोहली के कंधों पर जिम्मेदारी आ गई थी. विराट कोहली ने इस मैच में पाकिस्तान के खिलाफ 107 रनों की पारी खेली थी और किसी वर्ल्ड कप मैच में भारत की ओर से पाकिस्तान के खिलाफ सेंचुरी बनाने वाले पहले खिलाड़ी बन गए थे. भारत ने इस खेल में 300/7 का स्कोर खड़ा किया था. हालांकि, सोहेल खान ने 5 विकेट लिए थे. इसके एवज में भारत के मोहम्मद शमी ने भी पाकिस्तान के 4 विकेट लिए थे और मिस्बाह, शाहिद अफ्रीदी, युनिस खान जैसे दिग्गजों को भी पवेलियन भेज दिया था.

अब वर्ल्ड कप मैच में भारत 7-0 का मुकाबला देखना चाहेगा.

ये भी पढ़ें-

'मौका-मौका' विज्ञापनों का सिलसिला चैलेंज से चिढ़ाने तक पहुंचा

भारत vs पाकिस्तान vs बारिश: मेनचेस्टर में Live है वर्ल्डकप का 'त्रिकोणीय' मुकाबला

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय