होम -> स्पोर्ट्स

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 12 फरवरी, 2019 06:05 PM
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujmaurya87
  • Total Shares

इन दिनों पाकिस्तान के 24 साल के क्रिकेटर बाबर आजम काफी चर्चा में हैं. वजह है उनका खेल, जिसके चलते पाकिस्तानी टीम के कोच मिकी ऑर्थर ने उनकी तुलना विराट कोहली तक से कर दी थी. सोशल मीडिया पर भी लोगों ने ट्विटर से तुलना करने वाले रिकॉर्ड से लेकर मीम तक शेयर करने शुरू कर दिए थे. मिकी ऑर्थर के इस बयान ने देखते ही देखते एक बहस को जन्म दे दिया. बहस ये कि बाबर आजम भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली की टक्कर के खिलाड़ी हैं या नहीं. सोशल मीडिया पर तो दोनों के रिकॉर्ड्स तक की तुलना होने लगी है.

करीब दो साल पहले जिस बहस को पाकिस्तान के कोच मिकी ऑर्थर ने शुरू किया था, वो पूरी दुनिया में तो फैली, लेकिन आखिरकार पाकिस्तान में ही खत्म भी हो गई. इस बहस को खत्म करने वाले भी मिकी ऑर्थर ही हैं, जिन्होंने अब कहा है कि उन्होंने जल्दबाजी में बाबर आजम को विराट की टक्कर का खिलाड़ी कह दिया था. वहीं दूसरी ओर, खुद बाबर ने भी कहा है कि उनकी विराट कोहली से कोई तुलना नहीं की जा सकती है, क्योंकि अभी तो उन्होंने शुरुआत की है.

विराट कोहली, बाबर आजम, पाकिस्तान, क्रिकेटसोशल मीडिया पर इन दिनों बाबर आजम और विराट कोहली के रिकॉर्ड्स की खूब तुलना हो रही है.

क्या बोले कोच मिकी ऑर्थर?

पाकिस्तान के कोच मिकी ऑर्थर ने पाकिस्तानी अखबार एक्प्रेस ट्रिब्यून ने कहा- 'मुझे लगता है कि बाबर बहुत जल्द क्रिकेट के सभी तीनों फॉर्मेट में दुनिया के सबसे अच्छे 5 बल्लेबाजों में शामिल हो जाएंगे. हर गुजरते दिन के साथ बाबर का प्रदर्शन बेहतर होता जा रहा है. अब मुझे लगता है कि 2 साल पहले बाबर आजम को कोहली की टक्कर का बल्लेबाज कह कर मैंने जल्दबाजी कर दी थी.' मिकी ऑर्थर ने 2 साल पहले जब विराट से बाबर की तुलना की थी, तभी से पूरी दुनिया उन दोनों की तुलना करने में लगी है. मिकी ने ये भी कहा है कि बाबर लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और सबसे अधिक उत्साहित करने की बात तो ये है कि अभी तक हमने बाबर का बेस्ट परफॉर्मेंस देखा ही नहीं है. यानी ये कहना गलत नहीं होगा कि मिकी मानते हैं आने वाले समय में बाबर और अच्छा खेलेंगे और दुनिया को अपना दीवाना बना देंगे.

लेकिन विराट कोहली से तुलना क्यों?

अगर आईसीसी रैंकिंग की बात करें तो टी20 खेलने के मामले में बाबर आजम नंबर-1 खिलाड़ी हैं, लेकिन टेस्ट और वन डे मैच में उनकी रैकिंग काफी नीचे है. बाबर आजम टी-20 में 29 मैचों में 53.73 के औसत से 1,182 रन बना चुके हैं. वन डे में बाबर आजम ने 59 मैचों में 51.29 के औसत से 2,462 रन बनाए हैं. अगर बाबर के इस रिकॉर्ड की तुलना विराट कोहली के 59 वन डे मैचों के करेंगे तो मिलेगा कि वह विराट कोहली की टक्कर के हैं. यही वजह है कि सोशल मीडिया पर दोनों के रिकॉर्ड की तुलना तक शुरू हो गई है. लेकिन टेस्ट मैच में आजम ने 21 मैचों में 35.28 के औसत से सिर्फ 1,235 रन बनाए हैं.

भले ही इन शुरुआती मैचों के रिकॉर्ड की तुलना से ऐसा लगे कि बाबर आजम भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली की टक्कर के हैं, लेकिन ये नहीं भूलना चाहिए कि बाबर सिर्फ एक बल्लेबाज की हैसियत से खेलते हैं, जबकि कोहली पर टीम के लिए खेलने के साथ-साथ टीम को जिताने और रणनीति बनाने की जिम्मेदारी भी होती है. अगर टीम खराब प्रदर्शन करने लगे या विरोधी टीम बहुत अच्छा प्रदर्शन करने तो कप्तान पर एक दबाव भी बन जाता है, जिसका सामना करते हैं विराट कोहली, लेकिन बाबर आजम को इसका सामना नहीं करना पड़ता. भले ही इस बात को सोशल मीडिया यूजर्स समझें या ना समझें, लेकिन खुद बाबर इस फैक्ट को अच्छे से समझते हैं. तभी तो उन्होंने खुद ही इस बात को नकार दिया है कि वह विराट कोहली की टक्कर के हैं.

बाबर भी खुद को विराट कोहली की टक्कर का नहीं मानते

क्रिकेट की दुनिया में जैसे ही कोई खिलाड़ी अच्छा खेलना शुरू करता है, उसकी तुलना क्रिकेट के नंबर-1 बल्लेबाज विराट कोहली से होने लगती है. पाकिस्तान में भी ऐसा ही हुआ, जिस पर खुद बाबर आजम ने भी अपनी बात कही है. बाबर ने कहा है कि उन्हें ऐसा नहीं लगता कि वह विराट कोहली की टक्कर के बल्लेबाज हैं. वह बोले कि उन्होंने अभी सिर्फ शुरुआत की है, जबकि कोहली बहुत कुछ हासिल कर चुके हैं, जो उन्हें हासिल करना अभी बाकी है. हां, उन्होंने ये जरूर कहा कि अगर उनका प्रदर्शन भी विराट कोहली जैसा रहा तो बेशक उनकी तुलना विराट कोहली से की जा सकती है, लेकिन अभी ऐसी तुलना करने का कोई मतलब नहीं है.

बाबर आजम टी20 में आईसीसी की पहली रैंकिंग पर हैं, जबकि विराट कोहली 19वें नंबर पर हैं. वहीं दूसरी ओर, विराट कोहली टेस्ट और वन डे मैच में आईसीसी की पहली रैंकिंग पर हैं, जबकि बाबर आजम उनसे काफी दूर हैं. ये तो सिर्फ रैंकिंग की बात है, जो बाबर आजम और विराट कोहली के अंतर को साफ करती है. कोहली उन खिलाड़ियों में से हैं, जो टीम को जिताने के लिए लक्ष्य का पीछा करते हुए बहुत सारी सेंचुरी मार चुके हैं, जो काफी दबाव की स्थिति होती है. अभी बाबर आजम को इन सब से जूझना बाकी है. जब वह इन सारी परीक्षाओं को पार कर लेंगे, तब जाकर वह विराट कोहली की टक्कर में खड़े हो पाएंगे. अभी तो पाकिस्तानी कोच ने भी मान लिया है कि बाबर की विराट कोहली से तुलना उन्होंने जल्दबाजी में की, लेकिन ये देखना दिलचस्प होगा कि जिस बहस को मिकी ऑर्थर ने शुरू किया और फिर खुद ही खत्म कर दिया, सोशल मीडिया पर वह खत्म होगी या नहीं.

ये भी पढ़ें-

फ़ुटबॉल मैच में हारे जापान ने जो ड्रेसिंग रूम में किया वो मिसाल बन गया!

IND vs NZ: हैमिल्टन मैच क्‍या भारत की 5 सबसे शर्मनाक ODI हार में शामिल है?

भारतीय क्रिकेट टीम से समझिए जीत की साइकोलॉजी क्या होती है...

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय