charcha me| 

होम -> समाज

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 13 जनवरी, 2022 10:30 PM
देवेश त्रिपाठी
देवेश त्रिपाठी
  @devesh.r.tripathi
  • Total Shares

बैंडमिंटन स्टार साइना नेहवाल ने पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा चूक पर चिंता जाहिर करते हुए एक ट्वीट किया था. जिस पर साउथ के फिल्म एक्टर सिद्धार्थ ने भद्दी और अश्लील टिप्पणी की थी. इस पर विवाद होने के बाद राष्ट्रीय महिला आयोग ने इस ट्वीट को महिला विरोधी और अपमाजनक बताते हुए ट्विटर इंडिया से एक्टर सिद्धार्थ का अकाउंट बंद करने की मांग की थी. हालांकि, बवाल बढ़ने के बाद एक्टर सिद्धार्थ ने अब माफी मांग ली है. एक्टर सिद्धार्थ ने बाकायदा एक लंबा सा माफीनामा अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है. और, साइना नेहवाल ने भी इस मामले में बड़ा दिल दिखाते हुए सिद्धार्थ को माफ कर दिया है. हालांकि, साइना नेहवाल ने ताकीद की है कि 'हमें महिलाओं को इस तरह से निशाना नहीं बनाना चाहिए.' लेकिन, सबसे बड़ा सवाल यही है कि कुछ समय पहले तक अपनी जिस टिप्पणी को एक्टर सिद्धार्थ 'कॉक एंड बुल' जैसी कहावत के सहारे डिफेंड कर रहे थे. और, लोगों पर ट्वीट को गलत तरीके से पढ़ने का आरोप लगा रहे थे. तो, अचानक ऐसा क्या हो गया कि एक्टर सिद्धार्थ अब साइना नेहवाल से माफी मांग रहे हैं?

Siddharth Saina Nehwal Controversyएक्टर सिद्धार्थ ने अपनी आपत्तिजनक टिप्पणी को आखिरी समय तक डिफेंड करने की कोशिश की थी.

कार्रवाई का डर होता है सबसे बड़ा

आज की हर महिला को सबसे पहले तो ये बात गांठ बांध लेनी चाहिए कि इस तरह की असभ्य टिप्पणियों पर केवल शिकायत दर्ज करवाने भर से पुलिस ऐसा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करती है. और, इस मामले में भी यही हुआ है. राष्ट्रीय महिला आयोग ने इस विवाद का संज्ञान लेते हुए पुलिस कार्रवाई के भी निर्देश दिए थे. तो, अब इस मामले पर हैदराबाद पुलिस ने एक्टर सिद्धार्थ के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, प्रेरणा नाम की महिला ने एक्टर सिद्धार्थ के खिलाफ ये शिकायत दर्ज कराई है. और, इस शिकायत के आधार पर आईपीसी की धारा 509 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. वैसे, सिद्धार्थ के माफीनामे में इस कार्रवाई का डर साफ नजर भी आ रहा था. क्योंकि, अपने ओपन लेटर में लिखा है कि 'मुझे अपने वर्ड प्ले और ह्यूमर पर जोर देना चाहिए.' खैर, इस मामले का आगे चलकर क्या होगा, ये वक्त ही बताएगा. लेकिन, एक बात तय है कि महिलाओं के खिलाफ ऐसी अभद्र टिप्पणी कर कोई भी आसानी से नहीं बच सकता है. फिर चाहे मामला बुल्ली बाई या सुल्ली डील्स एप से जुड़ा हो या साइना नेहवाल से. 

एक्टर सिद्धार्थ की इस मूर्खता भरी हरकत से लोगों को कई सीख भी मिलती है. आइए उनमें से कुछ को जान लेते हैं...

अपना गुस्सा या निराशा खुद तक ही सीमित रखें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम सुनते ही गुस्से से भर जाने वाले स्वघोषित लिबरल वर्ग को समझना होगा कि भले ही आपको पीएम मोदी से कितनी ही चिढ़ हो. लेकिन, इसकी वजह से आप किसी महिला को निशाना नहीं बना सकते हैं. तो, अपना गुस्सा या निराशा खुद तक ही सीमित रखें.

मजाक के लिए शख्स का आपसे फ्रेंडली होना जरूरी है

इस लेटर में सिद्धार्थ ने बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल से अपने असभ्य मजाक के लिए माफी मांगते हुए लिखा है कि 'अगर एक मजाक को समझाने की जरूरत पड़े, तो वह मजाक भी नहीं होता है. इसलिए मैं अपने मजाक के लिए माफी मांगता हूं.' मजाक को लेकर हमेशा से ही कहा जाता है कि किसी भी तरह के मजाक के लिए शख्स का आपसे फ्रेंडली होना जरूरी है. क्योंकि, करीबी दोस्त आपकी भाषा और लहजे को पहचानते हैं. लेकिन, यूं ही किसी से भी मजाक में अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर देना मुसीबत को न्योता देता है.

लहजे और शब्दों का चुनाव सोच-समझकर करें

हाथ की पांचों उंगलियां एक जैसी नहीं होती हैं. हो सकता है कि एक्टर सिद्धार्थ जो कह रहे हों, वास्तव में उनका नजरिया उसी तरह के मजाक को दर्शाता हो. लेकिन, सोशल मीडिया जैसे ओपन प्लेटफॉर्म पर इस तरह के शब्दों का चयन हर किसी के लिए अलग मायने रखता है. तो, ऐसी किसी भी टिप्पणी से पहले अपने लहजे और शब्दों का चुनाव सोच-समझकर करें.

माफी मांगने से अपराध कम नहीं हो जाता

वैसे, एक्टर सिद्धार्थ ने इस मामले में साइना नेहवाल से माफी मांग ली है. और, साइना ने भी उन्हें माफ करते हुए कहा है कि 'मैंने उनसे किसी भी तरह की बात नहीं की है. मुझे खुशी है कि उन्होंने इसके लिए माफी मांगी है. क्योंकि, यह एक महिला के बारे में है. हमें सच में इस तरह से एक महिला को निशाना नहीं बनाना चाहिए. लेकिन, यह ठीक है. मैं इन चीजों के बारे में इतना परेशान नहीं हूं.' लेकिन, यहां बात कानून की आएगी, तो सिद्धार्थ के लिए केवल माफी ही मांगना काफी नजर नहीं आता है. क्योंकि, माफी मांग लेने से अपराध कम नहीं हो जाता है. खासकर तब, जब वह किसी महिला के सम्मान से जुड़ा हो.

लेखक

देवेश त्रिपाठी देवेश त्रिपाठी @devesh.r.tripathi

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं. राजनीतिक और समसामयिक मुद्दों पर लिखने का शौक है.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय