होम -> समाज

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 27 मई, 2020 04:22 PM
बिलाल एम जाफ़री
बिलाल एम जाफ़री
  @bilal.jafri.7
  • Total Shares

तमाम लोग हैं जिनको महसूस हो रहा है कि जैसे जैसे दिन बीतेंगे कोरोना (Coronavirus ) को लेकर मची गफलत खत्म हो जाएगी और हालात नियंत्रण में आ जाएंगे. ऐसे लोगों के लिए एक बुरी खबर है. कोरोना के मद्देनजर जो बातें डब्ल्यूएचओ (WHO) ने कहीं हैं वह दिल दहला देने वाली हैं. डब्ल्यूएचओ ने अपनी बातों में इस बात के साफ संकेत दिए हैं कि कोरोना का दूसरा चरण, इस पहले चरण के मुकाबले कहीं ज्यादा खतरनाक है. यानी तब आज के मुक़ाबले कहीं ज्यादा संक्रमण और मौतें होंगी. कहीं अधिक लॉक डाउन (Lockdown ) होगा और विश्व की अर्थव्यवस्था (Economy) आज के जैसे ही तबाह और बर्बाद होगी. हो सकता है आज बताई जा रही इन बातों को लोग खारिज कर दें या सिरे से नकार दें मगर ये ऐसा सच है जो कई मायनों में विचलित करने वाला है. विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी (WHO) ने कोविड-19 के मद्देनजर चेतावनी जारी की है. WHO के प्रमुख डॉक्टर माइक रेयान ने कहा है कि इस समय दुनियाभर में सभी देश कोरोना वायरस संक्रमण के पहले चरण से जूझ रहे हैं. लेकिन, निकट भविष्य में हम इसका दूसरा चरण देखेंगे, जो और ज्यादा घातक होगा. इसके लिए सभी मुल्कों को अभी से सावधान रहने की ज़रूरत है.

Coronavirus, Lockdown, Second Phase, Challangesकोरोना को लेकर जो बातें WHO ने कही हैं वो दिल दहला देने वाली हैं

कोरोना के भविष्य के मद्देनजर डॉ रेयान का ये भी मानना है कि जिन देशों में कोरोना वायरस के मामले घट रहे हैं, वहां ये अचानक बढ़ भी सकते हैं, इसलिए सभी को अभी से सतर्क रहना होगा. सभी देशों की सरकारों को अभी से इस महामारी की दूसरी लहर से लड़ने के लिए पूरी तैयार कर लेना चाहिए.

हो सकता है कि डॉक्टर रेयान की शुरूआती बातों को हम हल्के में लें. लेकिन बीमारी कितनी खतरनाक है इसे हम उनके उस दावे से भी समझ सकते हैं जिसमें उन्होंने कहा है कि जब कोई भी महामारी जब आती है तो वह वेब्स (लहर) के रूप में आती हैं. यानी जिन क्षेत्रों से महामारी चली जाती है वहां उसके दोबारा आने की पूरी संभावना होती है.

डॉ रेयान के मुताबिक अगर संक्रमण की पहली लहर को रोक भी लिया गया तो इसकी दूसरी लहर बहुत तेजी से फैलेगी. इस बात का सीधा मतलब ये हुआ कि आज के मुकाबले आने वाले वक़्त में संक्रमण कहीं ज्यादा तेजी से फैलेगा. डॉक्टर रेयान ने बहुत सीधे लहजे में ये बात भी कही है कि फिलहाल हम ऐसा बिलकुल भी नहीं सोच सकते कि हमारे ऊपर से खतरे के काले बदल छंट गए हैं. बीमारी का दूसरा चरण जल्द आएगा और ये कहीं ज्यादा जानलेवा होगा.

गौरतलब है कि ये विश्व स्वास्थ्य संगठन की चेतावनियों के बाद ही था कि दुनिया के अलग अलग मुल्कों ने कोरोनावायरस महामारी को देखते हुए लॉक डाउन को लागू किया. आज क्या चीन और अमेरिका, क्या इजराइल, भारत, यूके और ईरान दुनिया के लगभग सभी बड़े छोटे मुल्क इस बीमारी को पार लगाने के लिए अपनी तरफ से हरसंभव प्रयास कर रहे हैं.

बात इस खौफनाक बीमारी के उपचार की हो तो अभी दवा बाजारों में नहीं आई है और इसपर काम चल रहा है. इन जटिल परिस्थितियों के बीच WHO का बीमारी के दूसरी चरण की बात कहना वाक़ई डरावना है. बीमारी के मद्देनजर दुनिया भर का भविष्य क्या होता है इसका जवाब हमें वक़्त देगा लेकिन वर्तमान इसलिए भी खौफनाक है कि अभी हम पहले ही चरण से नहीं लड़ पाए हैं और दूसरे चरण की चुनौतियां बाहें फैलाए हमारे सामने खड़ी है. 

उपरोक्त चीजें जानने के बाद ये कहना हमारे लिए अतिश्योक्ति नहीं है कि कोरोना से देश दुनिया की ये जंग अभी लम्बी चलेगी. विजेता कौन होगा? ये अपने में एक पेंचीदा सवाल है जिसका जवाब पाने के लिए हम सभी को आने वाले वक़्त की तरफ नजरे गड़ाए हुए देखना होगा. फ़िलहाल बीमारी से बचने का एकमात्र उपाय सावधानी है. इसलिए बेहतर यही है कि ज्यादा से ज्यादा सावधानी रखी जाए और कोरोना को मुंह तोड़ जवाब दिया जाए.

ये भी पढ़ें -

कोरोना का करण जौहर के दरवाजे पर दस्तक देना पूरे बॉलीवुड के लिए डरावना है!

गरीबों मजदूरों की मदद के नाम पर खिलवाड़ ने आम आदमी और नेता का फर्क दिखला दिया

Coronavirus: लाशों पर से गहने चुराने वाले गिद्ध ही हैं    

Coronavirus, Lockdown, WHO

लेखक

बिलाल एम जाफ़री बिलाल एम जाफ़री @bilal.jafri.7

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय