होम -> समाज

 |  5-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 01 मई, 2018 03:47 PM
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujkumarmaurya87
  • Total Shares

देश का कोई भी शहर हो, ट्रैफिक की हालत हर जगह खराब है. इतना ही नहीं, सभी शहरों में चालान भी खूब कटते हैं. यातायात नियमों का जो भी उल्लंघन करता है, ट्रैफिक पुलिस उसका चालान काट देती है और फिर उसे कुछ जुर्माना अदा करना होता है. लेकिन बेंगलुरु से एक ऐसी घटना सामने आ रही है जो ट्रैफिक पुलिस का एक अलग ही रूप दिखाती है. अगर आप बिना हेलमेट के बाइक चलाते हैं तो देश के हर शहर में आप पर जुर्माना लगता है, लेकिन बेंगलुरु की ट्रैफिक पुलिस ऑन द स्पॉट सजा देती है. सुनने में तो ये बात अजीब लगेगी, लेकिन इसका वीडियो देखकर आप भी समझ जाएंगे कि यही सच भी है.

वायरल वीडियो, बेंगलुरु, ट्रैफिक पुलिस, यातायातजूता लगने से बाइक वाले का बैलेंस भी बिगड़ गया था, लेकिन वह गिरने से बाल-बाल बच गए.

क्या किया बेंगलुरु ट्रैफिक पुलिस ने?

बेंगलुरु की ट्रैफिक पुलिस ने बिना हेलमेंट के बाइक चला रहे शख्स को जूता फेंककर मारा, जिससे उसकी गाड़ी का बैलेंस बिगड़ते-बिगड़ते बचा. दरअसल, ये शख्स बिना हेलमेट के गाड़ी चला रहा था और रास्ते में दो ट्रैफिक पुलिस वाले खड़े थे. जैसे ही बाइक वाला ट्रैफिक पुलिस के पास पहुंचा तभी उनमें से एक ट्रैफिक पुलिस वाले ने अपना जूता निकाला और बाइक वाले को जूता फेंक कर मार दिया. ये सारी घटना बेंगलुरु के ही एक यूट्यूब ब्लॉगर के कैमरे में कैद हो गई, जिसने वीडियो को यूट्यूब पर अपलोड कर दिया.

देखते ही देखते वीडियो हुआ वायरल

जैसे ही इस वीडियो को यूट्यूब पर शेयर किया गया वैसे ही वीडियो वायरल हो गया. जिसने भी वीडियो देखा वह ट्रैफिक पुलिस को कोस रहा है. ये वीडियो वायरल होने के बाद बेंगलुरु पुलिस के इस ट्रैफिक कॉन्स्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है. लोगों का ये कहना है कि अगर वो नहीं रुके तो नंबर प्लेट से नंबर नोट कर के उसके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती थी, लेकिन ट्रैफिक पुलिस वाले ने अपना आपा खो दिया और जूता फेंक कर मार दिया. वीडियो देखने के बाद हो सकता है कि आप भी कुछ ऐसा ही सोचते हों, लेकिन क्या आप जानते हैं कि पुलिस सिर्फ आपकी गाड़ी का नंबर नोट कर के आपका चालान काट सकती है या नहीं? आइए जानते हैं चालान काटने के कुछ नियम:

क्या हैं चालान काटने के नियम?

अगर आप ट्रैफिक पुलिस के सामने से बिना रुके गाड़ी भगाते हुए निकल जाएं तो पुलिस आपका चालान काट कर उसे कूरियर से आपके घर भेज सकती है. बशर्ते, पुलिस को यह साबित करना होगा कि उनके रोकने के बावजूद आप नहीं रुके. इसके लिए सीसीटीवी सबसे पुख्ता सबूत होते हैं.

- अगर आप ट्रैफिक पुलिस के सामने से बिना रुके गाड़ी भगाते हुए निकल जाएं तो पुलिस आपका चालान काट कर उसे कूरियर से आपके घर भेज सकती है. बशर्ते, पुलिस को यह साबित करना होगा कि उनके रोकने के बावजूद आप नहीं रुके. इसके लिए सीसीटीवी सबसे पुख्ता सबूत होते हैं.

- सिर्फ सीसीटीवी में भी अगर आप अधिक स्पीड से गाड़ी चलाते पकड़े जाते हैं या फिर रेड लाइट तोड़कर भागते हुए दिखते हैं या फिर यातायात को कोई भी नियम तोड़ते दिखाई देते हैं तो चालान सीधे आपके घर भेज दिया जा सकता है या फिर ई चालान जारी किया जा सकता है. तो यातायात नियम तब भी न तोड़ें, जब आपको कोई देख न रहा हो.

- नियम के मुताबिक ट्रैफिक पुलिस का कोई भी कॉन्स्टेबल या अधिकारी आपकी गाड़ी की चाबी नहीं निकाल सकता है. यह नियमों के खिलाफ है.

- कोई कॉन्स्टेबल सिर्फ आपकी गाड़ी को रोक कर आपके कागज देख सकता है, आपका चालान नहीं काट सकता है. चालान काटने का अधिकार हेड कॉन्टेबल या फिर उससे ऊपर के अधिकारी को ही है.

- अगर किसी सिख व्यक्ति ने हेलमेट नहीं पहना है तो ट्रैफिक पुलिस उसका चालान नहीं काट सकती है. बशर्ते, उस सिख व्यक्ति ने पगड़ी पहनी हो. अगर उसने बाल कटवाए हुए हैं तो उसे भी हेलमेट पहनना जरूरी है.

- सामान्य तौर पर पुलिस आपका ड्राइविंग लाइसेंस जब्त कर लेती है और उसे आपको कोर्ट जाकर छुड़ाना होता है. कुछ मामलों में चालान की रकम तुरंत अदा कर के ड्राइविंग लाइसेंस तुरंत वापस लिया जा सकता है. लेकिन अगर आपके पास गाड़ी के कोई कागज नहीं हैं और आपका चालान कटता है तो पुलिस को आपकी गाड़ी भी जब्त करने का अधिकार है.

- सिर्फ ट्रैफिक पुलिस ही नहीं, खाकी वर्दी वाली लोकल पुलिस भी आपका चालान काट सकती है. उन्हें भी चालान बुक इशू की जाती है. हालांकि, बिना चालान बुक या ई-चालान डिवाइस के कोई भी पुलिस आपका चालान नहीं काट सकती है ना ही आप पर कोई फाइन लगा सकती है.

अगर कभी कोई पुलिस वाला या ट्रैफिक पुलिस तमाम कागज होने के बावजूद गलत नियमों का हवाला देते हुए आपको डराए तो आप उसके खिलाफ शिकायत भी कर सकते हैं. इसके लिए आप ट्रैफिक पुलिस की हेल्पलाइन 25844444 पर या 100 नंबर पर कॉल कर सकते हैं. इसके अलावा आप ट्रैफिक पुलिस के फेसबुक पेज और ट्विटर पेज पर भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

ये भी पढ़ें-

UP Board Result 2018: रिजल्ट से खुश योगी जान लें कि इस बार 60% बच्चे फेल हो गए हैं!

मोदीराज का एहसान मानिये जो चुनाव प्रचार भी मल्टीनेशनल हो गया है

फ्लाइट टिकट कैंसिलेशन चार्ज का ये गणित हर यात्री को समझ लेना चाहिए

Viral Video, Gengaluru, Traffic Police

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय