होम -> समाज

 |  एक अलग नज़रिया  |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 18 फरवरी, 2021 01:35 PM
ज्योति गुप्ता
ज्योति गुप्ता
  @jyoti.gupta.01
  • Total Shares

पिंकी मीणा (Pinky Meena Marriage) इन दिन खूब सुर्खियां बटोर रही हैं. कभी घूस के आरोप में जेल जाकर तो कभी शादी के लिए जेल से बेल लेकर. तो कभी अपनी शादी में जागरूकता का संदेश देकर. चर्चा इसलिए भी क्योंकि शादी (Pinky Meena ki shadi) का मामला किसी और से नहीं बल्कि जज नरेंद्र कुमार से जुड़ा है. जो राजस्थान ज्यूडिशियल सर्विस (RJS) अधिकारी हैं. अपनी शादी के लिए पिंकी मीणा 10 दिन की अंतरिम जमानत पर हैं. अब जिस खबर ने सबको हैरान किया वह यह है कि मैरिज हॉल में बारात पहुंची ही नहीं, चलिए बताते हैं कि पूरा माजरा क्या है.

प्यार और कानून दोनों अंधा होता है, शायद लोग सही ही कहते हैं, लेकिन चार दिन की चांदनी और फिर अंधेरी रात वाली कहावत भी यहां सटीक बैठती है. दरअसल, पिंकी मीणा (SDM Pinky Meena Marriage) पर चर्चित दौसा कांड में रिश्वत लेने का आरोप है. पिंकी मीणा को एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) ने हाईवे निर्माण करने वाली कंपनी से 10 लाख घूस लेने के आरोप में 13 जनवरी को गिरफ्तार किया था. अपनी शादी के लिए पिंकी ने अर्जी दी थी, जिसके बाद राजस्थान हाईकोर्ट (Rajasthan High Court) ने उन्हें अंतरिम जमानत दी थी. हालांकि 21 फरवरी को पिंकी को फिर से सरेंडर करना होगा.

 Pinky Meena Marriage, SDM Pinky Meena, SDM Pinky Meena News, SDM Pinky Meena Husband, SDM Pinky Meena Suspend, Pinky Meena Husband, Judge Narendra Kumar, Marriage, Anti Corruption Buro, Bribe, Pinky Meen Bribe Case, Pinky Meena Jail, Pinky Meena Bail, Pinky Meena Husband Narendra Kumar, Pinky Meena Marriage News, Pinky Meena Marriage Photo, Pinky Meena Marriage with Narendra, Marriage Hall, Resort, Pinky Meena Village, Rajasthan News   पिंकी मीणा क्या फिर जाएंगी जेल

जमानत मिलने के बाद पिंकी की शादी की तैयारियां धूम-धाम से होने लगी. घर में मंगल गीत गाए जाने लगे. रिहाई के बाद से 11 फरवरी को पीले चावल तो 12 को बान सांकड़ी की रस्म अदा की गई. वहीं 14 तारीख यानी वैलेंटाइन डे के दिन लगन का टीका भी लग गया. कुल मिलाकर बड़े जोरो-शोरों से तैयारियां होने लगीं.

शादी के लिए जयपुर का एक रिसॉर्ट बुक किया गया. जहां मेहमानों और बारातियों के लिए शाही इंतजाम किया गया, लेकिन ट्वीस्ट तब आया जब बारात वहां पहुंची ही नहीं. मंडप सजाकर देर रात तक दूल्हे का इंतजार होता रहा लेकिन, मामला तो कुछ और ही था. इस राज से पर्दा बुद्धवार की सुबह उठा. दरअसल, पिंकी मीणा की शादी गुपचुप तरीके से एक गांव में संपन्न हुई. जहां ना तो चमचमाती रोशनी थी और ना ही आतिशबाजी. लोगों का कहना था कि ऐसा मीडिया से बचने के लिए किया गया.

सीकर रोड स्तिथ शादी वाले रिसॉर्ट में निलंबित एसडीएम की शादी के लिए राजावास का अनंतम सफारी बुक किया गया था. मेहमान आने शुरू हो गए और खाना पीना भी होने लगा. शानदार स्लो म्यूजिक ने समां बाधा. अब बस दूल्हे के आने का इंतजार हो रहा था. जो इंतजार ही बनकर रह गया. लोग 10 बजे के बाद जाने लगे और मैरिज गार्डेन भी बंद कर दिया गया. 

वहां कुछ लोगों में खुसफुसाहट होने लगी कि शादी, पिंकी मीणा के गांव चिथवाड़ी के घर में होगी. दूल्हा भी दौसा के बसवा से वहीं पहुंच गए. जिसके बाद साधारण तरीके से पिंकी मीणा और नरेंद्र की शादी हुई. जहां ना तो जगमगाती रोशनी थी और ना कोई सजावट. बस दोनों परिजन और कुछ खास दोस्त. यहीं पर दोनों ने फेरे लिए और फिर विदाई की रस्म हुई. 

लेकिन पिंकी मीणा की मुसीबत अभी भी कम नहीं हुई है, क्योंकि कोर्ट के आदेशानुसार उन्हें 21 फरवरी को जेल में सरेंडर करना होगा. ऐसे में लोगों के मन में यह सवाल है कि, क्या पिंकी मीणा को फिर से जेल जाना होगा. वैसे 22 फरवरी को उनकी जमानत पर दोबारा सुनवाई होनी है.

अब देखते हैं कि उन्हें कोर्ट से राहत मिलती है या फिर सलाखों की सजा? जो भी हो लेकिन लोगों का कहना है कि अब तक सुना था कि प्यार अंधा होता है, कानून अंधा होता है, अब देख भी लिया. एक तरफ पिंकी मीणा अपनी शादी के कार्ड पर जागरूकता का संदेश देती हैं तो दूसरी तरफ उनपर घूस का आरोप लगा है!

लेखक

ज्योति गुप्ता ज्योति गुप्ता @jyoti.gupta.01

लेखक इंडिया टुडे डि़जिटल में पत्रकार हैं. जिन्हें महिला और सामाजिक मुद्दों पर लिखने का शौक है.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय