होम -> समाज

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 08 मई, 2017 02:28 PM
मोहित चतुर्वेदी
मोहित चतुर्वेदी
  @mohitchaturvedi123
  • Total Shares

भारत और पाकिस्तान को आजाद हुए 70 साल हो चुके हैं और आजादी के बाद से अब तक दोनों मुल्क 4 जंग लड़ चुके हैं. हर समय पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी. समय-समय पर पाकिस्तान पीठ के पीछे वार करने से नहीं चूकता. भारत भी इसका मुंहतोड़ जवाब देता है. हालही में पाकिस्तान ने भारतीय सैनिकों को मारकर उनके सिर काट दिए. अब खबर आई है कि भारतीय सेना ने एलओसी पर पाकिस्‍तान के बंकर उड़ा दिए हैं. ये संघर्ष तो सीमा पर बदस्‍तूर जारी ही रहता है, लेकिन क्‍या किसी ने कभी बड़े युद्ध की कल्‍पना की है. और अगर ऐसी कल्‍पना की गई है तो उसके परिणाम का आंकलन किस देश के पक्ष में हुआ है.

भारत और पाकिस्‍तान दोनों ही देश सेना को मजबूत बनाने के लिए अपनी क्षमता से ज्‍यादा खर्च करते हैं. करीब 45 बिलियन डॉलर के साथ भारत का सैन्‍य खर्च दुनिया में आठवें क्रम पर आता है, तो करीब 8 बिलियन डॉलर के साथ पाकिस्‍तान का यही खर्च 33वें क्रम पर. दोनों के सैन्य बल में भी ज्यादा फर्क नहीं है लेकिन फिर भी पाक सेना भारतीय सेना के मुकाबले कमजोर नजर आती है. बता दें कि भारत की सैन्य शक्ति पाकिस्तान से कई गुना ज्यादा है. आइए जानते हैं भारत और पाकिस्तान की ताकत...

ind-vs-pak_050417042004.jpg

भारतीय वायुसेना के आगे छोटी नजर आती है पाक वायुसेना

हवाई जंग होती है तो भारत की वायुसेना पाक वायुसेना के मुकाबले भारी नजर आती है. भारतीय वायुसेना के पास 2 हजार लड़ाकू विमान है. इसमें रूस से आयातित सुखोई सु-30एमकेई सबसे अव्‍वल है, जबकि फ्रांस से 36 राफेल विमान खरीदने का सौदा हाल ही में हुआ है. वहीं पाकिस्तान के पास सिर्फ 900 लड़ाकू विमान हैं. एफ-16 विमान पर वह दम भरता है. एफ-16 के मुकाबले सुखाई 30 फीसदी ज्‍यादा क्षमतावान है.

india-vs-pak-force_050417042020.jpg

भारत के जवानों की संख्या भी ज्यादा

भारतीय सैन्य निकाय की संख्या 9 है तो पाकिस्तान के 8 सैन्य निकाय भारत की तरफ निशाना साधे हुए हैं. भारत के जवान पाकिस्तान के जवानों के मुकाबले कई गुना ज्यादा है. भारत में जवानों की संख्या 13 लाख 25 हजार है. रिजर्व और पैरामिलिट्री फोर्स के साथ हमारे जवान 47, 68,407 हैं. वहीं पाकिस्तान की बात करें तो पाक में जवानों की संख्या 6 लाख 17 हजार है. रिजर्व और पैरामिलिट्री फोर्स के साथ पाक के 14,46,000 जवान हैं.

ind-vs-pak-tank_050417042042.jpg

युद्ध टैंक में भी भारत आगे

युद्ध टैंक की बात करें तो भारत यहां भी पाकिस्तान से कोसों दूर आगे है. भारत के पास 2414 टी-72 युद्धक टैंक, 807 टी-90 टैंक, 248 अर्जुन एमके-11 टैंक और 550 टी-55 टैंक हैं. वहीं पाकिस्तान के पास 500 अल खालिद युद्धक टैंक, 320 टी-80 टैंक, 1300 अल जरार 85-II और 69-II टैंक, 50 जमीन और पानी में चलने वाले टैंक हैं.

ind-vs-pak-air-force_050417042120.jpg

भारत के पास सबसे ज्यादा एयरबेस

भारत की वायु क्षमता पाकिस्तान के मुकाबले कहीं बेहतर दिखती है. भारत के पास 60 एयरबेस हैं. वहीं पाकिस्तान से सटे 12 एयर बेस हैं जहां मिग, जगुआर, सुखोई और मिराज जैसे लड़ाकू विमान तैनात हैं. इसके मुकाबले पाकिस्तानी वायुसेना के पास 9 एयरबेस हैं जहां मिराज, जेएफ और एफ 16 जैसे लड़ाकू विमानों की तैनाती है. भारतीय वायु सेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायु सेना है. 127,000 सैन्य अधिकारी और कर्मचारी हैं. 1,785 सक्रिय एयरक्राफ्ट हैं. वहीं पाकिस्तान के पास 65,000 सैन्य अधिकारी और कर्मचारी हैं. 847 एयरक्राफ्ट हैं.

ind-vs-pak-aurcraft_050417042135.jpg

आधुनिक एयरक्राफ्ट में पीछे भारत

आधुनिक अवॉक्स एयरक्राफ्ट के मामले में पाकिस्तान ने भारत को पीछे छोड़ दिया है. आधुनिक युद्ध में इन विमानों का इस्तेमाल बेहद अहम होता है. ये विमान रडार युक्त होते हैं जो दुश्मन देश के प्लेन, पानी के जहाज और मिसाइल की जानकारी दे सकते हैं. भारत के पास फिलहाल सिर्फ 3 अवॉक्स एयरक्राफ्ट हैं जबकि पाकिस्तान ने 9 विमानों का जखीरा तैयार कर लिया है. इसके साथ पाक के पास 120 चेंगदू एफ-7पी, 60 एफ-7 पीजी फाइटर, 150 मिराट फाइटर, 30 जीएफ-17 थंडर फाइटर, 54 एफ-16 अमेरिकी लड़ाकू फाल्कन. भारत के पास 200 सुखोई, 36 मिराज, 90 जगुआर, 29 मिग-48 और 56 मिग-27 हैं.

ind-vs-pak-submarine_050417042144.jpg

भारत के पास ज्यादा पनडुब्बी

पनडुब्बियों की बात की जाए तो भारत के पास 14 पनडुब्बियां हैं वहीं पाक के पास 5 हैं. यहां भी पाक हमसे काफी पीछे है. सैन्य शक्तियों में भारत पाकिस्तान से काफी पॉवरफुल है उसके बाद भी पाकिस्तान पीठ पीछे वार कर रहा है. पाकिस्तान शायद यह भूल चुका है कि भारत के पास विश्व की सबसे बड़ी तीसरी फौज है, जो चार बार पाकिस्तान को धूल चटा चुकी है.

पाकिस्तान में सैनिक नेतृत्‍व हमेशा ही वहां के लोकतंत्र पर हावी रहा है. 1971 में भारतीय सेना ने उसके 90 हजार सैनिकों से हथियार डलवाए थे, लेकिन उस शर्मनाक हार के बावजूद पाकिस्‍तान भारत को आंखें दिखाता रहता है. सामरिक विशेषज्ञ मानते हैं कि यदि परमाणु युद्ध न हो तो पाकिस्‍तान अपने परंपरागत हथियारों के बल पर एक सप्‍ताह भी युद्ध नहीं लड़ सकता है. ऐसे में उसके लिए महफूज रणनीति यही होती है कि भारत में कभी आतंकी भेजकर तो कभी माओवादियों को हथियार बेचकर हिंसा कराता रहे.

ये भी पढ़ें-

क्‍या पाकिस्तान को युद्ध में नहीं हरा सकता भारत !

19 रेजिमेंट के 19 नारे जिनसे दुश्मन थर-थर कांपते हैं

सेना को लेकर राजनीति क्यों?

India Pakistan War, Indian Army, Pakistan Army

लेखक

मोहित चतुर्वेदी मोहित चतुर्वेदी @mohitchaturvedi123

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय