charcha me| 

होम -> समाज

 |  2-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 15 अगस्त, 2022 08:38 PM
अणु शक्ति सिंह
अणु शक्ति सिंह
  @anushakti19.singh
  • Total Shares

कॉलेज में थी, किसी ने प्लास्टिक का झंडा तिरछा लगा दिया था. भागकर ठीक करने पहुंच गयी थी. तिरंगा जैसा कुछ भी कभी ज़मीन पर गिरा दिखा तो ईश्वर की तस्वीर की तरह उसे हाथों से उठाकर किनारे कर दिया कि किसी के पैरों के नीचे न आ जाए. राजीव चौक पर जब भी वह विशाल ध्वज दिखा तो सांसों में हर्ष की गति आ गयी. यह तीन रंग हमेशा ओज भरता रहा है… तीन-चार बरस की उम्र से सीखी हुई कविता ‘केसरिया है बल भरने वाला’ कानों में बजने लगती है.

सुबह बालकनी से झांक रही थी तो दिखा सोसायटी के गेट से लेकर हर घर में तिरंगा है. कहीं आड़ा, कहीं तिरछा… एक रस्म है, लोगों ने लगा दिया है.

Independence Day, Har Ghar tiranga, Tricolor, Freedom, Nationalism, Patriotism.Delhi, Home, Narendra Modiआजादी के अमृत महोत्सव पर लोगों के घरों में लगा हुआ तिरंगा

दो दिन पहले दिल्ली स्थित मयूर विहार फ़ेज़ 1 के चौक पर भी विशाल तिरंगा लगा है. आज ठीक वहीं फ़्लाई ओवर के नीचे सैकड़ों लोग न जाने कहां से अपना डेरा-डंडा लेकर आ पहुंचे हैं. बारिश के दिनों में जब कपड़े भी बाहर नहीं छोड़े जाते, उनके बिछौने सड़कों पर बिछ गये हैं. आंखों क ख़ुशी से कोई दुश्मनी है शायद.

मत्त होती नज़रों को ही तिरंगे के ठीक नीचे का करुण दृश्य भी दिख जाता है. तिरंगा सदा ऊंचा रहे हमारा… हमारी आन-बान-शान का यह प्रतीक दुनिया के हर कोने में, एवरेस्ट सरीखी ऊंचाइयों पर लहराता रहे…

पर काश हुक्मरान इस तिरंगे की शान में कुछ और जोड़ पाते. यह लहराता तिरंगा हर घर की शान बनता हुआ तब ज़रूर इतराता जब हर शख़्स के पास अपना मकान होता… अपनी छत होती.

हर घर तिरंगा सुनने में अच्छा लगता है, हर पेट दाना, हर सर मकान, देश के लिए अच्छा होता. यह ज़रूरी बात कि देशभक्ति थोपी नहीं जाती है. यह आड़े-तिरछे लगे तिरंगे से साबित भी नहीं हो सकती है… न जाने हम कब तक ओज के नाम पर भूखे पेट भजन करते रहेंगे.

ये भी पढ़ें -

ब्रो! हमारे जवान सियाचिन में खड़े हैं, क्या अब भी आप इस मजाक पर हंस पाएंगे?

पीएम मोदी के भाषण की दो बड़ी बातें, जो देश में खड़ी करेंगी बड़ी बहस

पाकिस्तान-भारत युद्ध पर बनी पिप्पा का टीजर जबरदस्त है, हॉलीवुड की Fury जैसी फिल्म हो सकती है!

लेखक

अणु शक्ति सिंह अणु शक्ति सिंह @anushakti19.singh

लेखिका समसामयिक मुद्दों पर लिखती हैं और शर्मिष्ठा की ऑथर हैं

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय