charcha me| 

होम -> समाज

 |  6-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 20 मई, 2018 02:39 PM
अनुज मौर्या
अनुज मौर्या
  @anujkumarmaurya87
  • Total Shares

सर आज तबियत बहुत खराब है, मैं ऑफिस नहीं आ पाऊंगा... यूं तो ऑफिस न जाने के लिए ये बहाना बहुत से लोग बनाते होंगे, लेकिन जैसा बहाना गुजरात के इस इंजीनियर ने बनाया है, उसे सुन लेंगे तो पूछेंगे जरूर... कि आपके पैर कहां है. ये इंजीनियर पिछले 8 महीनों में सिर्फ 15 दिन ही ऑफिस गया है और जब उससे गैरहाजिर रहने का कारण पूछा गया तो जवाब हैरान कर देने वाला मिला. उस शख्स ने जवाब में कहा कि वह भगवान विष्णु का दसवां अवतार यानी कल्की अवतार है, इसलिए वह ऑफिस नहीं आ सकता. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार तो उसने पीएम मोदी को दुर्योधन का अवतार और आडवाणी को अर्जुन का अवतार तक बता दिया. उसने तो यहां तक कह दिया कि अभी देश में राक्षसों का राज चल रहा है और जल्द ही सुशासन आएगा. अब आप ही बताइए, साक्षात भगवान विष्णु के अवतार हमारे बीच हैं और हम उन्हें ऑफिस में आकर काम करने के लिए कह रहे हैं... इनके तो पैर छूने ही चाहिए. चलिए भगवान विष्णु के अवातर होने का दावा करने वाले इस शख्स के मुंह से ही सुन लेते हैं उसकी तारीफ.

कौन है ये शख्स?

चलिए अब जानते हैं कि खुद को भगवान विष्णु का अवतार बताने वाला ये शख्स है कौन. इस शख्स का नाम है रमेशचंद्र फेफरे, जो गुजरात के राजकोट का रहने वाला है. गुजरात के वडोदरा में स्थित सरदार सरोवर निगम में रमेश एक इंजीनियर हैं, लेकिन काफी दिनों तक छुट्टी पर रहने की वजह से उन्हें निगम की ओर से नोटिस भेजा गया. उन्होंने दलील दी कि वह भगवान विष्णु के अवतार हैं और ऑफिस की वजह से उन्हें साधना करने में दिक्कत होती है, इसलिए वह छुट्टी पर हैं.

गुजरात, भगवान, विष्णु, अवताररमेशचंद्र ने दावा किया है कि उनकी साधना की बदौलत ही पिछले कुछ सालों से अच्छी बारिश हो रही है.

हद तो तब हुए जब...

आप बेशक ये सोच रहे होंगे कि ये क्या बेवकूफी वाली बात है, लेकिन हद तो तब हो गई जब उन्होंने अपनी मां को अहिल्याबाई, पिता को गौतम ऋषि और पत्नी को लक्ष्मी का अवतार बता डाला. हालांकि, यहां यह बात दिलचस्प है कि उनकी पत्नी गीता ने महिला पुलिस को अपने पति के खिलाफ प्रताड़ित करने की शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद 12 सितंबर 2017 को पुलिस ने फेफर को गिरफ्तार भी किया था.

इतना ही नहीं, उनका तो ये भी कहना है कि वही राम और कृष्ण भी थे. वह बोले जब वह महाभारत के समय कृष्णावतार में पांडवों के लिए 5 गांव मांगने हस्तिनापुर गए थे, तब लोग उन पर ठीक उसी तरह हंस रहे थे, जैसे आज देश के लोग उन पर हंस रहे हैं.

रमेश ने कहा कि पिछले कुछ सालों से अच्छी बारिश हो रही है, इसका कारण उनकी साधना ही है. वह कहते हैं कि उनके विष्णु अवतार होने की वजह से ही यह सब मुमकिन हो सका है. साथ ही उन्होंने दावा किया कि 16 सितंबर 2012 से एक बार फिर से सतयुग की शुरुआत हो चुकी है.

सोशल मीडिया पर यूं ली जा रही चुटकी

इस शख्स के बारे में जो सुन रहा है, वह इस पर हंस रहा है. वहीं सोशल मीडिया पर भी खूब चुटकी ली जा रही है. देखिए लोग क्या-क्या कह रहे हैं.

सूखे नशे करने का नतीजा... पिछले साल मैंने भी किया था.. भगवान की कसम, हनुमान जी बन गया था.

ये पागलपन के सकारात्मक चरण में है.

वाह सर ! आप बिल्कुल सही देश में सही समय पर हो. कल्की अवतार में अपनी छुट्टियों का मजा लो. कुछ भक्तगण जल्द ही आपके दर्शन के लिए पहुंच जाएंगे.

ये सबसे शानदार बहाना है.

जब मैंने Krishna Key लिखी थी तो कभी कल्पना भी नहीं की थी खुद को कल्की अवतार मानकर कोई वाकई में सामने आ जाएगा.

आजकल तो भगवान को साबित करना पड़ रहा है कि वह भगवान है.

यह भगवान #कल्कि का दसवां अवतार है तो इसे नौकरी से बर्खास्त कर सारी सुविधाएं समाप्त कर देनी चाहिए होश ठिकाने आ जाएगा.

स्वामी ओम पार्ट-2, अगले बिग बॉस में पक्का एंट्री मिलेगी.

इसने तो 'राधा के अवतार' की याद दिला दी

ऐसा नहीं है कि रमेश पहले शख्स हैं, जो खुद को भगवान का अवतार बता रहे हैं. इससे पहले आईपीएस अधिकारी डीके पांडा खुद को राधा का अवतार बनाकर चर्चा में आए थे. उन्होंने तो बाकायदा साड़ी पहनकर महिला वेश भी धारण कर लिया था. आपको बता दें कि डीके पांडा 1971 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं, जिन्होंने यूपी पुलिस में आईजी के पद पर रहते हुए इस्तीफा दिया था.

ये भी पढ़ें-

महिला सुरक्षा: रेलवे का ये कदम कुछ राहत तो दे सकता है, मगर..

फेसबुक के 30 लाख यूजर्स का डेटा खतरे में, तो क्या अब संभलने की जरूरत है?

The whole thing is that कि भइया... सबसे बड़ा रुपैया

#गुजरात, #भगवान, #विष्णु, Rameshchandra Fefre, Lord Vishnu, Kalki Lord

लेखक

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय