होम -> समाज

 |  4-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 01 अप्रिल, 2019 03:32 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

अप्रैलफूल्स डे यानी 1 अप्रैलमस्ती-मजाक को दिन होता है. इस दिन मसखरे लोग शरारतों और प्रैंक्स के जरिए एकदूसरे को बेवकूफ बनाने की कोशिश करते हैं. लेकिन ऐसी  शरारतों की उम्मीद हम सिर्फ कुछ लोगों से ही करते हैं, हर किसी से नहीं. और किसी संस्था से तो बिल्कुल नहीं. क्योंकि एक आम धारणा है कि अप्रैल फूल के दिन मजाक सिर्फ मजाकिया लोग ही करते हैं.

आज बताते हैं कुछ सीरियस कंपनियों के बारे में जिन्होंने अप्रैल फूल के दिन लोगों को इतनी गंभीरता से बेवकूफ बनाया जिसकी कल्पना भी किसी ने नहीं की थी.

1. मंगल पर जाने के लिए फ्लाइट-

2009 में अमेरिका की ट्रेवल कंपनी expedia कुछ लोगों को यकीन दिलाने में सफल हो गई थी कि वो लोग मंगल ग्रह पर जाने के लिए फ्लाइट उपलब्ध करवा रहे हैं. इसके लिए शानदार तरह से विज्ञापन भी किया गया था और टिकट की कीमत 99 डॉलर रखी गई थी.

flight to marsमार्स की यात्रा को भी seriously ले लिया लोगों ने

2. पालतू जानवरों के लिए आमेजन का गैजेट

अमेजन के ऐलेक्सा के बारे में हर कोई जानता है, लेकिन 2017 में जब अमेजन ने कुत्ते बिल्ली और अन्य पालतू जानवरों के लिए 'पेटलेक्सा' स्पीकर लाने की घोषणा की तो लोगों को लगा शायद ये सच हो. बताया गया कि पेटलेक्सा के जरिए जानवर भी एलेक्सा से बात कर सकते हैं जैसा कि इंसान करते हैं. ये जानवर अमेजन पर ऑर्डर भी कर सकते हैं. अमेजन ने अप्रैल फूल डे कि लिए खास तौर पर इसका स्पूफ वीडियो भी बनाया.

अमेजन से क्या कोई ये उम्मीद कर सकता था?

3. जानवरों के लिए गूगल ने भी ऐसा ही कुछ सोचा था

2017 में ही गूगल ने 'Google Play for Pets' लॉन्च किया था. यानी जानवरों के लिए गूगल प्ले, जिसमें जानवरों के हिसाब से गेम्स, एप्प और ट्रेनिंग टूल रखे गए थे जिससे वो भी गूगल पर बिज़ी रह सकें.

गूगल के प्रोडक्ट्स को तो हर कोई सीरियसली लेता है, इसे भी ले लिया और बन गए अप्रैल फूल.

4. कैनेडा में जॉम्बी !

हॉरर फिल्में देखने वालों को तो कैनेडा के नेशनल रिसर्च काउंसिल की ये तस्वीर सच ही लगी होगी. 2018 के अप्रैल फूल डे पर जॉम्बी की तस्वीर लगाकर NRC ने ट्वीट किया था कि 'ये दृश्य हमारी खिड़की से लिया गया है.. ऐसा लगता है कि जिस ज़ॉम्बी वैक्सीन पर हम काम कर रहे हैं वो उतनी प्रभावी नहीं है जितना कि शुरुआती परीक्षण के दौरान थी. आज आप लोग सावधान रहें'.

अब कहिए कैनेडा का National Research Council क्या इतना मजाकिया हो सकता है?

5. Lays चिप्स की नई तकनीक

दो साल पहले lays india एक नई तकनीक लेकर आया था, जिससे आप अपने चिप्स किसी और के साथ शेयर न कर सकें. लेज़ ने नो शेयर पैक लॉन्च किया था जिसमें दावा किया गया था कि इसमें फिंगर प्रिंट सेंसर लगे हैं, जिससे केवल आप ही चिप्स निकाल सकते हैं कोई दूसरा नहीं.

no share pack laysइस पैकेट को देखकर लोग अपनी हंसी नहीं रोक सके

अब इन बड़ी कंपनियों के कारनामों को देखकर तो आप समझ ही गए होंगे कि अप्रैल फूल को सामान्य या हल्के में लेने की बात करना इस ग्लोबल त्योहार को कम आंकना है. मस्ती मजाक का ये दिन हर किसी के लिए है, चाहे वो सामान्य हो या फिर खास. तो चलिए बैठे क्या हैं, दिमाग के घोड़े दौड़ाइए और निकल पड़िए अपने किसी खास को बेवकूफ बनाने.

Enjoy the April Fool's Day!!

ये भी पढ़ें-

ऐसे हुई थी अप्रैल फूल की शुरुआत, जानें दुनिया के 5 बेस्ट प्रैंक्स के बारे में

स्ट्रॉबेरी जैसे फलों के अंदर आखिर कौन रख रहा है सिलाई वाली सुई?

...क्योंकि हर बात मजाक नहीं होती

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय