होम -> सोशल मीडिया

 |  7-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 23 अगस्त, 2018 12:42 PM
ऑनलाइन एडिक्ट
ऑनलाइन एडिक्ट
 
  • Total Shares

Kerala flood का पानी तो उतरने लगा है, लेकिन राज्य अब नई समस्याओं से घिर गया है. केरल में तंगी, बीमारियां और Fake News फैल रही हैं और लोग केरल की इस परेशानी का फायदा भी उठा रहे हैं. जहां भारत पहले ही फेक न्यूज को लेकर परेशान था वहां केरल की समस्या ने मामले को और भी ज्यादा बढ़ा दिया है. केरल को लेकर कई झूठी खबरें फैलाई जा रही हैं पर उनमें से 9 को हम यहां बता रहे हैं. ध्यान रखिए ये सभी खबरें फेक हैं.

1. फौजी कह रहा है कि CM विजयन काम नहीं करने दे रहे

Fact : एक वीडियो जो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसमें फौजी के कपड़ों में एक वयक्ति केरल के सीएम पिनाराई विजयन काम में अडंगा डाल रहे हैं और सेना को अपना काम ठीक से नहीं करने दे रहे. वो वीडियो फेक था और इसे खुद भारतीय आर्मी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर बताया गया है. दरअसल, जिस व्यक्ति ने इस वीडियो में ये सब बोला है वो फिलहाल आर्मी से किसी तरह से जुड़ा हुआ नहीं है.

2. केरल में खाने के सामान और सेनेट्री पैड भरपूर मात्रा में हैं..

Fact : वॉट्सएप पर इन दिनों एक ऑडियो क्लिप वायरल हो रही है जिसमें एक व्यक्ति अपना नाम सुरेश बता रहा है और कह रहा है कि केरल में खाने के बिस्कुट और सेनेट्री पैड भरपूर मात्रा में हैं और पूरे देश से ऐसे ही उन्हें भेजा जा रहा है. उसका ये कहना भी है कि केरल की बाढ़ से सिर्फ अमीर और मिडिल क्लास लोगों को परेशानी हुई है. ये वही लोग हैं जो खाना और सेनेट्री पैड जैसी चीज़ें खरीद सकते हैं.

एक बात मैं आपको बता दूं कि ये पूरी तरह से फेक है. बाढ़ ये नहीं देखती कि गरीब का घर कौन सा है और अमीर का कौन सा. इस पूरे फेक मैसेज को साफ तौर पर बताने के लिए केरल के ही एक नागरिक ने फेसबुक पर पोस्ट लिखी है.

अगर आपके पास भी ऐसी कोई ऑडियो क्लिप आई है तो उसपर ध्यान न दें. भले ही बाढ़ का पानी कम हो रहा हो, लेकिन वहां रहने वाले लोगों को जरूरी सामान की जरूरत है.

3. मुल्लापेरियार डैम में दरार पड़ गई है..

Fact : सोशल मीडिया खासतौर पर वॉट्सएप पर एक और खबर वायरल हो रही है जो केरल निवासियों के लिए सिरदर्द बनी हुई है. खबर ये फैलाई जा रही है कि मुल्लापेरियार डैम जो केरल का सबसे बड़ा डैम है उसमें क्रैक आ गए हैं और बांध कभी भी टूट सकता है. ये खबर बिलकुल ही गलत है और ऐसा कुछ भी नहीं हो रहा है. IAS ऑफिसर टिंकु बिस्वाल जो केरल सरकार में जल संसधान सेक्रेटरी के तौर पर काम करती हैं उन्होंने एक लेटर लिखकर इन सभी खबरों का खंडन किया है. ये खतकेरल के डीसीपी और राज्य पुलिस अधीक्षक को लिखा गया था.

4. कर्नाटक सरकार ने केरल को 200 करोड़ दिए

Fact : ये सच है कि कर्नाटक सरकार ने केरल के लिए दान दिया है. लेकिन अभी तक ये सिर्फ एक महीने की तनख्वाह तक ही सीमित है. एचडी कुमारस्वासी जो कर्नाटक के मुख्यमंत्री हैं उन्होंने 200 करोड़ का फंड खुद कर्नाटक के लिए ही दिया था.

5. नरेंद्र मोदी केरल से नफरत करते हैं

पूर्व आईपीएस ऑफिसर ने 2016 की एक फोटो शेयर कर लिखा है कि भारी बारिश में भी बिजली सेवा बहाल करने के लिए इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड का वर्कर लगा हुआ है. और अब आपको समझ आ गया होगा कि मोदी और अन्य संघी लोग क्यों केरल से नफरत करते हैं. लिखा गया कि ये तस्वीर 5 दिन पहले ली गई है और शायद इसकी वजह से केरल की समृद्धि दिखाने की कोशिश की गई है.

केरल, फेक न्यूज, बाढ़, सोशल मीडियापूर्व अधिकारी ने ही ये फोटो ट्वीट की

अव्वल तो ये फोटो 2016 की है और ये बाढ़ की फोटो ही नहीं है. ये एक मल्याली न्यूजपेपर मातृभूमि ने पब्लिश की थी और स्टोरी केलर के इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड प्रोजेक्ट ऊर्जादूत के लिए था.

6. नेवी को सीधे कॉल किया जा सकता है

Fact : लोग अपने नंबर ये बोलकर सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं कि अगर किसी को मदद की जरूरत है तो ये नेवी का नंबर है और इसे कॉल कर अपनी समस्या बताई जा सकती है. एक बात समझ लीजिए कि आर्मी या नेवी खुद कभी कॉल नहीं उठाती वो वाकई लोगों को बचाने में व्यस्त है और लोगों के कॉल दरअसल जिला रेस्क्यू हेलपलाइन पर जा रहे हैं.

ये नंबर बिजी हो सकते हैं, क्योंकि बहुत से लोग कॉल कर रहे हों, लेकिन ये कहीं भी सीधे आर्मी और नेवी तक नहीं पहुंच रहे. जिला हेल्पलाइन ही बचाव टीमों को संबंधित स्थानों पर भेजती है.

7. भगवा लाइफ जैकेट लेने से मना कर रहे हैं लोग..

Fact : केरल में अभी लोग मर रहे हैं, अपना घर बार खो चुके हैं, लेकिन कई लोग यहां भी सामप्रदाइक नफरत फैलाने में लगे हुए हैं. एक और न्यूज वायरल हो रही थी और उसमें लिखा गया था कि केरल में एक व्यक्ति ने भगवा लाइफ जैकेट लेने से मना किया और वो मारा गया.

केरल, फेक न्यूज, बाढ़, सोशल मीडियाये फेक फोटो और आर्टिकल ट्विटर पर कई बार शेयर हुआ

न्यूज साइट का नाम भी Faultnews.com था. ऐसा कुछ भी नहीं है और ये पूरी तरह से फेक न्यूज ही है.

8. रोनाल्डो ने 11 मिलियन डॉलर दिए..

Fact : सोशल मीडिया पर केरल को लेकर एक अनोखी फेक न्यूज आ रही है और वो ये कि क्रिस्टिएनो रोनाल्डो जो दुनिया के मश्हूर फुटबॉलर हैं, उन्होंने केरल को 11 मिलियन डॉलर दान दिए हैं. केरल को कोई भी ऐसा फंड नहीं दिया गया है.

रोनाल्डो ने 11 मिलियन या 77 करोड़ बिलकुल नहीं दिए. ये फेक न्यूज है जो सोशल मीडिया पर आ रही है. इसपर यकीन न करें.

9. आरएसएस की फेक फोटो पर यकीन न करें..

Fact : एक्ट्रेस कोइना मित्रा ने भी आरएसएस की तीन साल पुरानी फोटो शेयर की. altnews की पड़ताल के मुताबिक ये फोटो पश्चिम बंगाल बाढ़ के समय की है. जिसमें आरएसएस के कार्यकर्ता बाढ़ पीडि़तों की मदद करते दिखाई दे रहे हैं. इसे 2017 गुजरात बाढ़ के समय भी शेयर किया गया था. और केरल की बाढ़ के दौरान भी.

ये तो वो फेक न्यूज थी जो केरल को लेकर फैलाई जा रही है पर एक बात और ध्यान में रखें कि केरल को लेकर साइबर क्राइम भी बहुत तेज़ी से फैल रहा है. लोग डोनेशन कर तो रहे हैं पर सही जगह पर करना भी जरूरी है. कई फर्जी लोग आधार, पैन आदि जानकारी ले रहे हैं और पैसे तो ले ही रहे हैं. ऐसे लोगों के झांसे में न आएं और सही जगह जाकर, पूरी तरह से पता लगाकर ही डोनेशन दें.

ये भी पढ़ें-

केरल की बाढ़ का कारण बताने वालों को तो डूबकर मरना चाहिए

केरल में पानी उतरने के साथ नई समस्या के उफान पर आने का संकेत

लेखक

ऑनलाइन एडिक्ट ऑनलाइन एडिक्ट

इंटरनेट पर होने वाली हर गतिविधि पर पैनी नजर.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय