होम -> सोशल मीडिया

 |  3-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 01 नवम्बर, 2019 05:53 PM
आईचौक
आईचौक
  @iChowk
  • Total Shares

ब्रेस्ट महिलाओं के शरीर का सिर्फ एक अंग है लेकिन जरूरत से ज्यादा ओवर रेटेड है. जबकि हकीकत तो ये है कि खुद महिलाएं इसकी कद्र नहीं करतीं. लेकिन एक वीडियो के जरिए एक महिला ने बाकी महिलाओं को इस बारे में सोचने के लिए मजबूर कर दिया है. पिछले कुछ समय से एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. न्यूयॉर्क की रहने वाली 29 साल की एक महिला Whitney Zelig ने अपने लो कट टॉप पर hidden camera लगाया, ये देखने के लिए कि कितने लोग उसके ब्रेस्ट की तरफ देखते हैं. हालांकि ये तो जाहिर सी बात है कि लोग वहां देखते ही हैं, लेकिन कैमरे की मदद से साफ देखा जा सकता है कि कितने लोगों ने ब्रेस्ट की तरफ ध्यान दिया.

breast cancer awarenessब्रेस्ट कैंसर के प्रति आगाह करने के लिए किया एक्सपेरिमेंट

कैमरे को बड़ी सफाई से इस तरह लगाया गया कि ये किसी को दिखाई न दे, लेकिन हर किसी की निगाहें इसमें साफ नजर आएं. 1.5 मिनट के इस वीडियों में कई लोगों को महिला के ब्रेस्ट की तरङ देखते हुए देखा गया, जिसमें महिलाएं, पुरुष, बूढ़े, यहां तक कि कुत्ता भी शामिल है.

इस वीडियो को बनाने का मकसद ये नहीं था कि ब्रेस्ट की तरफ ध्यान देने वाले आखिर कितने लोग थे. वो तो जाहिर है कि महिला ने कपड़े ही इस तरह के पहने हुए थे कि किसी की भी निगाह वहां पहुंचेगी ही. लेकिन इस वीडियो को बनाने का मकसद महिलाओं को ये याद दिलाना था कि. लोग तो आपके ब्रेस्ट को देखेंगे ही, लेकिन आपको भी अपने ब्रेस्ट को देखना और चेक करना कभी नहीं भूलना चाहिए. क्योंकि breast cancer जितनी जल्दी पकड़ में आता है उतनी ही उसके ठीक होने की संभावना ज्यादा होती है. ब्रेस्ट कैंसर के 40 प्रतिशत मामलों में गांठ महसूस होने पर पकड़ में आ जाते हैं. ब्रेस्ट कैंसर अगर पहले स्टेज में पकड़ में आ जाए तो मरीज के ठीक होने की उम्मीद 80% से ज़्यादा होती है.

अक्टूबर breast cancer awareness month होता है और इसीलिए महिलाएं अलग-अलग तरीकों से दूसरी महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर के प्रति आगाह कराती हैं. Whitney Zelig की मां खुद एक ब्रेस्ट कैंसर सरवाइवर हैं और इसीलिए उन्होंने इस एक्सपेरिमेंट को अंजाम दिया. इस एक्सपेरिमेंट ने वास्तव में महिलाओं को ये सोचने के लिए मजबूर कर दिया कि वो खुद अपने ब्रेस्ट को लेकर कितनी फिक्रमंद हैं.

ये वास्तविकता है कि महिलाएं अपने रंग-रूप को लेकर तो बहुत ज्यादा सचेत रहती हैं कि वो कैसी लग रही हैं, मोटी तो नहीं दिख रहीं उनके कपड़े कैसे लग रहे हैं वगैरह वगैरह, और इसपर वो खर्च भी करती हैं. लेकिन बात जब उनके स्वास्थ्य की आती है तो यहां वो बिल्कुल भी गंभीर नहीं दिखतीं. ब्रेस्ट कैंसर अवेयरनेस का मतलब ही यही है कि महिलाएं अपने शरीर के बारे में जागरुक हों और समय रहते ही बदलावों को समझ लें.  

ये भी पढ़ें-

No Bra Day का मतलब समझाने के लिए एक ही तस्वीर काफी है

8 कारण, जब breast cancer का खतरा बढ़ जाता है

नींबू की ये तस्वीरें बताएंगी ब्रेस्ट कैंसर के बारे में...

लेखक

आईचौक आईचौक @ichowk

इंडिया टुडे ग्रुप का ऑनलाइन ओपिनियन प्लेटफॉर्म.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय