होम -> सोशल मीडिया

 |  2-मिनट में पढ़ें  |  
Updated: 02 दिसम्बर, 2020 03:18 PM
अनु रॉय
अनु रॉय
  @anu.roy.31
  • Total Shares

मर्द 50 का हो और बीवी 20 की हो तो किसी की नज़रें उल्टी नहीं होतीं. कोई उस मर्द को बाप नहीं कहता. कोई ये भी नहीं कहता कि बेटी से ब्याह कर रहा है फलां. लेकिन जैसे ही अपने से उम्र में छोटे लड़के से किसी भी स्त्री को प्यार हो जाता है और दुनिया की नज़रों में जैसे ही उनकी कहानी आती है, ज़माना उन दोनों के रिश्ते को नाम देने लग जाता है. दूर जाने की भी ज़रूरत नहीं है अर्जुन कपूर और मलाइका अरोड़ा (Arjun Kapoor Malaika Arora Viral Photo) की इस तस्वीर को देखिए. मुझे इसमें मुहब्बत के सबसे प्यारे रंग दिख रहें हैं लेकिन ट्रोल्स को इसमें एक बूढ़ी औरत एक बच्चे को बहला-फुसला कर अपने जाल में फंसाती नज़र आ रही है.

Arjun Kapoor Malaika Arora, Arjun Malaika Relationship, Malaika Arora, Arjun Kapoorहिमाचल के धर्मशाला में छुट्टी मनाते मलाइका अरोड़ा और अर्जुन कपूर

वही कुछ को मां-बेटे दिख रहे हैं. तो कुछ को एक चालक औरत दिख रही है जिसको शर्म नहीं आती कि मलाइका, अरबाज़ ख़ान को छोड़ कर अर्जुन कपूर के साथ हो गयी जबकि एक बेटा भी नौजवान हो रहा है उसका. ये सोच, ये पेट्रीआर्कि की देन है. जो अरबाज़ ख़ान को अपने से आधी उम्र की लड़की को डेट करने के लिए ये नहीं कहता कि बूढ़ा अरबाज़ अपनी बेटी की उम्र की लड़की को घुमा रहा है. बूढ़े को शर्म नहीं आती क्या?

लेकिन वही भीड़ मलाइका अरोड़ा पर उंगली उठाने से पीछे नहीं रहती. तलाक़शुदा मलाइका को जैसे अपनी खुशियां चुनने का हक़ ही नहीं हो या फिर ख़ुशी चुने लेकिन किसी अधेड़ उम्र या अपने से अधिक उम्र के पुरुष के साथ चुने. अब अर्जुन कपूर के साथ ये समाज मलाइका की ख़ुशी को डाईजेस्ट नहीं कर पा रहा क्योंकि इस समाज को तो आदत है न बूढ़े के साथ बच्ची को देखने की. लेकिन अपनी ख़ुशी से एक स्त्री को अपने से कम उम्र के महबूब के साथ नहीं देखने की.

ख़ैर, उनको ट्रोल करके ख़ुशी मिलती है और मुझे तो प्रेम के रंग से रंगी दुनिया पसंद आती है. आज के दिन की सबसे प्यारी तस्वीर मेरे लिए तो यही है! लॉट्स ऑफ़ लव मल्ला! ये प्रेम रहे सदा!

ये भी पढ़ें -

Naxalbari review: नक्सलियों और सरकार के संघर्षों को दर्शाने वाली रियलिस्टिक वेब सीरीज!

Baba Ka Dhaba के बाद 'अम्मा की रसोई' इंटरनेट का नया सेंसेशन है!

स्वरा भास्कर के सवाल रूपी नहले पर जोमैटो ने अपना दहला जड़ दिया है!

लेखक

अनु रॉय अनु रॉय @anu.roy.31

लेखक स्वतंत्र टिप्‍पणीकार हैं, और महिला-बाल अधिकारों के लिए काम करती हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय